ताज़ा खबर
 

दलित से रेप, पंचायत ने 2 हजार में समझौता करने को कहा, दादी बोली-मेरी लड़की बिकाऊ नहीं

मामले के बाद लड़की का चाचा उसे अपने साथ हापुड़ ले गया ताकि आरोपी उस पर केस वापस लेने का दबाव न बना सके।
Author मेरठ | February 5, 2016 09:32 am
यौन शोषण की प्रतिकात्मक तस्वीर

उत्‍तर प्रदेश के मेरठ के लिसाड़ी गांव में पंचायत ने रेप पीडि़ता नाबालिग दलित लड़की को 2 हजार रुपये देकर मामले को दबाने का प्रयास किया। लेकिन पीडि़ता की दादी ने पंचायत के प्रस्‍ताव को ठुकरा दिया और बुधवार को थाने में रिपोर्ट लिखाई। लड़की के माता पिता की कुछ साल पहले मौत हो गई थी। वह अपनी दादी के साथ गांव में रह रही थी। मामले के बाद लड़की का चाचा उसे अपने साथ हापुड़ ले गया ताकि आरोपी उस पर केस वापस लेने का दबाव न बना सके।

पंचायत के प्रस्‍ताव पर लड़की की दादी ने साफ शब्‍दों में कहा कि, ‘मेरी लड़की बिकाऊ नहीं है।’ रेप का आरोपी भी दलित है। दादी ने इंडियन एक्‍सप्रेस को बताया कि, मुख्‍य आरोपी राजू की भाभी ने लड़की को आठ जनवरी को अपने घर बुलाया था। इसके बाद उसने कमरे को बाहर से बंद कर दिया। वहां उससे रेप किया गया। किसी को बताने पर गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी गई। लड़की ने इस बारे में उसे बताया लेकिन बाद में आरोपयिों के डर के चलते चुप हो गई। लड़की का चाचा उसे स्‍थानीय भाजपा नेता चरण सिंह के पास ले गया। उसने भी समझौता करने की नसीहत दी। बुधवार को उन्‍होंने शिकायत दर्ज कराई।

एफआईआर में राजू, उसके भाई की पत्‍नी कोमल और तीन अन्‍य लोगों के नाम हैं। लिसाड़ी गेट थाने के इंचार्ज रविंद्र यादव ने बताया कि, लड़की को मेडिकल जांच के लिए भेजा गया है। मामले की जांच जारी है। अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.