ताज़ा खबर
 

पोलियो की दवा पिलाने गई थी टीम, लोगों ने NRC वाले समझ बंधक बनाया और धुन डाला

पुलिस ने कहा कि दोनों लोग बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने गए थे। अली बाग कॉलोनी में उन्हें कुछ लोगों ने रोक लिया और उनसे उनके ठिकाने के बारे में जानकारी मांगी। आरोप लगाया कि वे लोग एनआरसी के लिए डेटा एकत्र रहे हैं।

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

यूपी के मेरठ में शनिवार को बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाने गई दो लोगों की टीम के साथ स्थानीय लोगों ने कथित तौर पर मारपीट और दुर्व्यवहार किया। पुलिस के मुताबिक पांच लोगों ने एक महिला समेत दो सदस्यीय पल्स पोलियो टीम के साथ कथित तौर पर मारपीट और दुर्व्यवहार किया और उन्हें लगभग एक घंटे तक बंदी बनाकर रखा। मारपीट करने वालों का आरोप था कि दोनों कर्मचारी एनआरसी के लिए डेटा एकत्र कर रहे थे।

पुलिस ने पांच लोगों के खिलाफ दर्ज किया केस: पुलिस ने कहा कि दोनों लोग बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने गए थे। जब वे अली बाग कॉलोनी पहुंचे तो उन्हें कुछ लोगों ने रोक लिया। उन्होंने सबसे पहले उनके ठिकाने के बारे में पूछा और आरोप लगाया कि वे लोग एनआरसी के लिए डेटा एकत्र रहे हैं। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि आईपीसी की धारा 354, 342 और 390 के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है। कहा, “हमने पांच व्यक्तियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की। इनमें दो नामजद हैं। पांचों आरोपियों को पकड़ने के लिए दबिश दी जा रही है।”

Hindi News Live Hindi Samachar 26 January 2020: देश-दुनिया की तमाम अहम खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कई वर्षों से चल रहा है पोलियो की खुराक पिलाने का कार्यक्रम: पोलियो की खुराक पिलाने का कार्यक्रम पूरे देश में कई वर्षों से चल रहा है। इसके तहत स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी पांच वर्ष तक के बच्चों को घर-घर जाकर खुराक पिलाते हैं। देश से पोलियो को जड़ से मिटाने के लिए इस तरह का कार्यक्रम चलाया जा रहा है। हर साल करोड़ों बच्चों को दवा पिलाई जाती है।

सीएए और एनआरसी के लिए हो रहा है विरोध: गौरतलब है कि सरकार ने जब से नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) शुरू करने की बात कही है, तब से देश के काफी लोग इसके विरोध में आ गए हैं। वे सरकार के इस कदम को भेदभावपूर्ण और गलत मानते  हैं। मेरठ के अली बाग कॉलोनी में बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाने गए दो कर्मचारियों को स्थानीय नागरिकों ने एनआरसी के डेटा एकत्रित करने वाला समझकर उनसे मारपीट करने लगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 गणतंत्र दिवस पर पीएम मोदी ने तोड़ी 48 साल पुरानी परंपरा, पुरुष टुकड़ी की अगुवाई करने वाली पहली महिला कैप्टन बनीं तानिया शेरगिल
2 अफेयर के चलते हेडक्वार्टर में पोस्टिंग चाहता था BSF का IED एक्सपर्ट, नहीं मिली तो सीनियर को भेज दिया पार्सल बम
3 हिजबुल कमांडर रहे बुरहान वानी को ढेर करने वाले बहादुर IPS अधिकारी को मिलेगा वीरता पुरस्कार
ये पढ़ा क्या?
X