ताज़ा खबर
 

नोएडा: बिसहड़ा के नजदीकी गांव में मिला मांस का टुकड़ा, इलाक़े में फैला तनाव

बिसहड़ा के पास के एक गांव में आज मांस के टुकड़े पाए जाने के बाद आसपास के इलाकों में तनाव फैल गया। इस बीच जिलाधिकारी ने समस्याग्रस्त..

Author ग्रेटर नोएडा | October 5, 2015 4:46 PM

बिसहड़ा के पास के एक गांव में आज मांस के टुकड़े पाए जाने के बाद आसपास के इलाकों में तनाव फैल गया। इस बीच जिलाधिकारी ने समस्याग्रस्त क्षेत्र में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक को आगे बढ़ाने और भाजपा के विवादास्पद नेता संगीत सोम की इलाके के दौरे के समय दिए गए बयानों की जांच करने का फैसला किया।

बिसहड़ा से करीब पांच किलोमीटर की दूरी पर स्थित चितहेरा गांव में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है क्योंकि कल शाम वहां मांस के टुकड़े मिलने के बाद से तनाव की स्थिति बनी हुई है। दादरी के डीएसपी अनुराग सिंह ने कहा कि कुछ लोगों ने सांप्रदायिक गड़बड़ी फैलाने के लिए गांव में मांस के टुकड़े रख दिए। पुलिस मामले की जांच कर रही है और गांव में सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

बिसहड़ा में तनाव को देखते हुए गोमांस खाने की अफवाह पर हत्या का शिकार हुए व्यक्ति के बड़े भाई जमील अहमद ने अपील की है कि उनके भाई की मौत के लिए किसी निर्दोष व्यक्ति को दंडित नहीं किया जाना चाहिए।

अहमद ने कहा कि घटना के दिन वह गाजियाबाद के लोनी में थे तभी उनके भाई की बेटी ने फोन कर बताया कि भीड़ उनके पिता को बाहर खींचकर पीट रही है। अहमद ने कहा, ‘‘मैं न्याय चाहता हूं लेकिन निर्दोष लोगों को मामले में नहीं फंसाया जाना चाहिए। वास्तविक दोषी को दंडित किया जाना चाहिए।’’

मृतक के एक अन्य भाई सरताज ने कहा कि परिवार को लोगों को अकेला छोड़ दिया जाए क्योंकि वे अब किसी बाहरी व्यक्ति से नहीं मिलना चाहते।

गांव में कई नेताओं के आगमन को देखते हुए जिलाधिकारी एन पी सिंह ने नेताओं और ऐसे अन्य लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है जो गड़बड़ी पैदा कर सकते हैं।

कल एक जनसभा को संबोधित करने वाले भाजपा नेता संगीत सोम की यात्रा के बारे में पूछे जाने पर जिला मजिस्ट्रेट ने कहा कि सोम के काफिले को गांव से एक किलोमीटर पहले रोका गया था और केवल भाजपा नेता एवं उनके सुरक्षाकर्मियों को गांव आने की अनुमति दी गई थी। सोम ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से कहा था कि वह ‘‘घड़ियाली आंसू’’ न बहाएं।

जिला मजिस्ट्रेट ने कहा, ‘‘उन्होंने जो कुछ भी कहा, उसकी वीडियो बनाई गई है।.. मैंने अपने कानूनी विशेषज्ञों से उनके बयान की जांच करने को कहा है… वह बयान जो उन्होंने गांव में दिया और जो उन्होंने मीडियाकर्मियों के सामने कहा। यदि कानून के अनुसार कोई कार्रवाई किए जाने की आवश्यकता होगी, तो वह की जाएगी।’’

उन्होंने जोर देकर कहा कि किसी को भी नियमों का मजाक उड़ाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। जिला मजिस्ट्रेट ने निर्देश जारी किए हैं कि जिले में प्रभावी तरीके से निषेधाज्ञा लागू की जाए। उन्होंने अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट और सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट से जवाब देने को कहा है कि धारा 144 लागू होने के बावजूद लोगों को एकत्र होने और सभा करने की अनुमति कैसे दे दी गई।

इस बीच जारचा पुलिस थाना प्रभारी सुबोध कुमार ने कहा कि आरोपी विशाल और शिवम को पुलिस हिरासत में भेजे जाने की मांग की जाएगी। दोनों आरोपी इस समय 14 दिन की न्यायिक हिरासत में हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App