ताज़ा खबर
 

#MeToo Movement: एमजे अकबर ने कोर्ट में कहा- प्रिया रमानी के आरोपों से 40 वर्षों में अर्जित प्रतिष्‍ठा को हुआ नुकसान

Me Too Campaign Movement in India Hindi: ये बात दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में गुरुवार को पूर्व विदेश राज्य मंत्री की वकील ने कही।

Author October 18, 2018 3:18 PM
एमजे अकबर (Photo: PTI)

#MeToo Movement: “पत्रकार प्रिया रमानी के लगाए आरोपों से अकबर की छवि खराब हुई है। उन्होंने 40 वर्षों में जो भी प्रतिष्ठा हासिल की, उसको नुकसान पहुंचा है।” ये बातें गुरुवार (18 अक्टूबर) को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता एमजे अकबर की वकील गीता लूथरा ने कहीं। दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में रमानी के खिलाफ अकबर द्वारा दी गई मानहानि की शिकायत के मामले पर सुनवाई के दौरान उन्होंने कहा, “रमानी ने शिकायतकर्ता के खिलाफ अपमानजनक ट्वीट्स किए। उनका दूसरा ट्वीट साफ तौर पर अपमानजनक था, जिसे 1200 लोगों ने लाइक किया था।”

लूथरा ने कोर्ट में आगे बताया, “अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय मीडिया में भी उन ट्वीट्स (रमानी के) का हवाला दिया गया। रमानी जब तक कुछ साबित नहीं कर सकतीं, तब कर वे ट्वीट्स पूरी तरह से अपमानजनक माने जाएंगे। अकबर की प्रतिष्ठा को इससे अपूरणीय क्षति हुई है, जिसे हासिल करने में उन्हें लगभग 40 वर्षों का समय लगा।” अब कोर्ट इस मामले में 31 अक्टूबर को अकबर और बाकी लोगों के बयानों की जांच करेगा।

आपको बता दें कि यौन शोषण के आरोपों से घिरे अकबर ने बुधवार (17 अक्टूबर) को विदेश राज्य मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के हस्तक्षेप के बाद उन्होंने यह कदम उठाया था। इस्तीफे के कुछ देर बाद उनके त्याग-पत्र की प्रति भी सामने आई थी, जिसके जरिए उन्होंने अपनी बात रखी थी।

इस्तीफे के बाद उनके बयान में कहा गया था, “यौन शोषण के आरोपों का सामना करने के लिए मैंने कानूनी मदद का सहारा लेने का फैसला किया। ऐसे में मैं पद छोड़कर इन बेबुनियाद और मनगढ़ंत आरोपों का सामना करूंगा। मैं पीएम नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का आभारी हूं, जिन्होंने मुझे देश की सेवा करने का मौका दिया।”

पूर्व विदेश राज्य मंत्री पर 20 महिला पत्रकारों ने यौन शोषण के आरोप लगाए हैं। इनमें से ज्यादातर घटनाएं तब की बताई जा रही हैं, जब अकबर अंग्रेजी अखबार एशियन एज में संपादक हुआ करते थे। पीड़िताओं में उनके खिलाफ खुलकर आवाज बुलंद करने वाली प्रिया ही थीं, जिनके खिलाफ अकबर ने मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App