ताज़ा खबर
 

साक्षात्कार: कोरोना मरीजों को प्लाज्मा उपलब्ध कराने के लिए बनाई वेबसाइट

इस वेबसाइट पर कोरोना के संक्रमण से मुक्त हो चुके वे लोग अपने मोबाइल के जरिए पंजीकरण कराते हैं जो अपना प्लाज्मा किसी को दान देना चाहते हैं। इसके बाद जिस मरीज को प्लाज्मा की जरूरत होगी वह वेबसाइट के माध्यम से प्लाज्मा ले सकेगा।

Author प्लाज्मा उपलब्ध कराने के लिए बनाई वेबसाइट | Published on: July 16, 2020 2:53 AM
Corona plasma, needplasma.org, covid-19मयंक कुमार मित्तल ने अपने दोस्त सचिन भारद्वाज के साथ मिलकर कोरोना विषाणु संक्रमण के मरीजों को प्लाज्मा उपलब्ध कराने के लिए नीडप्लाज्मा डॉट ओआरजी नाम से एक वेबसाइट बनाई है।

दिल्ली प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय से सूचना प्रौद्योगिकी में एमटेक करने वाले मयंक कुमार मित्तल ने अपने दोस्त सचिन भारद्वाज के साथ मिलकर कोरोना विषाणु संक्रमण के मरीजों को प्लाज्मा उपलब्ध कराने के लिए नीडप्लाज्मा डॉट ओआरजी नाम से एक वेबसाइट बनाई है।

इस वेबसाइट पर कोरोना के संक्रमण से मुक्त हो चुके वे लोग अपने मोबाइल के जरिए पंजीकरण कराते हैं जो अपना प्लाज्मा किसी को दान देना चाहते हैं। इसके बाद जिस मरीज को प्लाज्मा की जरूरत होगी वह वेबसाइट के माध्यम से प्लाज्मा ले सकेगा। पेश हैं मयंक से बातचीत के कुछ अंश…

सवाल : इस वेबसाइट को बनाने का विचार आपको कैसे आया?

मयंक : ये तो सभी जानते हैं कि अभी तक कोरोना विषाणु संक्रमण का कोई इलाज नहीं है। आइसीएमआर ने कुछ राज्यों को परीक्षण के तौर पर कोरोना मरीजों पर प्लाज्मा थैरेपी उपयोग करने की इजाजत दी है। मैंने कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया वेबसाइटों पर प्लाज्मा देने का अनुरोध करते हुए कई संदेश देखे। इसके बाद मैंने और मेरे दोस्त सचिन भारद्वाज ने इस समस्या के बारे में सोच और इस वेबसाइट को बनाने का विचार सामने आया। हम दोनों ने मिलकर इस वेबसाइट को दो दिन में तैयार कर दिया था।

सवाल : आपकी वेबसाइट कैसे काम करती है?
मयंक : हमारी वेबसाइट पर प्लाज्मा दानदाता को अपने मोबाइल नंबर के माध्यम से पंजीकरण करना होगा। इसके बाद मरीजों को अपने मोबाइल नंबर के अलावा खून के समूह, अपने राज्य आदि के बारे में भी जानकारी देनी होगी। जब किसी राज्य में किसी मरीज को प्लाज्मा की जरूरत होगी तो यह वेबसाइट मरीज के सबसे नजदीकी प्लाज्मा दानदाता को इस बारे में एक एसएमएस भेजेगी। इसके बाद मरीज के परिजन और प्लाज्मा दानदाता से संपर्क करके प्लाज्मा ले लेंगे।

सवाल : आपको इस दौरान क्या समस्या आ रही है?
मयंक : हमारी सबसे बड़ी समस्या यह है कि हमारी वेबसाइट के बारे में अभी ज्यादा लोगों को पता नहीं है। इस संबंध में हमने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिलने के लिए समय मांगा है।

प्रस्तुति : सुशील राघव

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 युवा शक्ति: स्वतंत्र रूप से काम कर सपने पूरे करिए
2 16 जुलाई का इतिहास: 1856 में आज ही के दिन ऊंची जाति की हिंदू विधवाओं के पुनर्विवाह को कानूनी मान्यता मिली
3 चीन के साथ तनातनी के बीच भारतीय सेना को मिली स्पेशल पावर, 300 करोड़ रुपये तक के हथियार व गोलाबारूद खरीद सकेंगे
ये पढ़ा क्या?
X