ताज़ा खबर
 

मल्टीप्लेक्स ट्वीट विवाद: शोभा डे को मिला ‘आप’ का साथ

महाराष्ट्र सरकार के मल्टीप्लेक्सों में प्राइम टाइम स्लॉट मराठी फिल्मों के प्रदर्शन के लिए रिजर्व रखने के फैसले और उस पर लेखिका शोभा डे के ट्वीट लेकर उठे विवाद के बीच आम आदमी पार्टी ने स्तंभकार का पक्ष लिया। राज्य सरकार के फैसले की आलोचना करने के बाद शोभा डे शिवसेना की नाराजगी मोल ले […]

Author April 10, 2015 6:43 PM
शोभा डे ने अपने ट्वीट में मल्टीप्लेक्स में मराठी फिल्मों को प्राइम टाइम में दिखाने के महाराष्ट्र सरकार के फैसले को दादागिरी बताया था।

महाराष्ट्र सरकार के मल्टीप्लेक्सों में प्राइम टाइम स्लॉट मराठी फिल्मों के प्रदर्शन के लिए रिजर्व रखने के फैसले और उस पर लेखिका शोभा डे के ट्वीट लेकर उठे विवाद के बीच आम आदमी पार्टी ने स्तंभकार का पक्ष लिया। राज्य सरकार के फैसले की आलोचना करने के बाद शोभा डे शिवसेना की नाराजगी मोल ले चुकी हैं।

आप की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रीति शर्मा मेनन ने कहा ‘‘मराठी संस्कृति को प्रोत्साहन दिए जाने की जरूरत है। हमारे पास बेहतरीन मराठी कलाकार, फिल्म निर्माता, थिएटर हैं जिनका वाणिज्यिक उपयोग नहीं किया गया। सरकार को कर संबंधी लाभ दे कर, प्रसारण के लिए बेहतरीन सुविधाएं दे कर तथा अन्य तरीके से मराठी फिल्म उद्योग को बढ़ावा देना चाहिए।’’

उन्होंने कहा कि सरकार निजी उद्यमियों को यह नहीं कह सकती कि वह कैसे अपना काम करें। डे ने महाराष्ट्र सरकार के मल्टीप्लेक्सों में प्राइम टाइम में मराठी फिल्मों का प्रदर्शन अनिवार्य करने की विवादास्पद पहल पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते पूर्व में ट्वीट में कहा था, ‘‘मैं मराठी फिल्में पसंद करती हूं। मुझे तय करने दें कि कब और कहां इन्हें देखूंगी, देवेन्द्र फड़णवीस। यह कुछ और नहीं बल्कि दादागीरी है।’’

महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना सरकार ने हाल ही में राज्य के मल्टीप्लेक्सों में 6 से 9 बजे तक मराठी फिल्मों के प्रदर्शन करना अनिवार्य बनाया था।

इस बारे में आलोचना के बाद सरकार ने गुरुवार को इस नियम में छूट देते हुए मराठी फिल्मों का प्रदर्शन 12 बजे दोपहर और नौ बजे रात से करने की बात कही।

उल्लेखनीय है कि डे ने अपने ट्वीट में कहा था कि सिनेमाघरों में पॉपकॉर्न की जगह अब मराठी पकवान बड़ा पाव और दही मिसल उपलब्ध होंगे। इस टिप्पणी के खिलाफ उनके आवास के बाहर प्रदर्शन किया गया और प्रदर्शन करने वाले शिवसेना कार्यकर्ता अपने साथ ‘वड़ा पाव’ और ‘दही मिसल’ लेकर आए थे।

राज्य सरकार पर कटाक्ष करते हुए मेनन ने कहा ‘‘आज आप मल्टीप्लेक्स मालिकों को खास समय पर खास फिल्म दिखाने के लिए कह रहे हैं। कल आप होटल मालिकों को कहेंगे कि केवल मराठी व्यंजन ही परोसे जाएं और आप कपड़ा व्यापारियों को केवल मराठी साड़ियां बेचने का फरमान जारी करेंगे।’’

शिवसेना ने विधानसभा में शोभा डे के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाने की बात कही है। इसे मेनन ने हास्यास्पद बताया।

For Updates Check Hindi News; follow us on Facebook and Twitter

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App