ताज़ा खबर
 

रक्षा मंत्री पर्रिकर ने इशारों में साधा निशाना- आमिर खान की तरह बात करने वालों को सबक सिखाना जरूरी

पर्रिकर ने कहा कि देश के खिलाफ बोलने वालों को उसी तरह सबक सिखाया जाना चाहिए जिस तरह एक अभिनेता और एक ऑनलाइन व्‍यापार करने वाली कंपनी को सिखाया गया।

Author नई दिल्‍ली | Updated: July 31, 2016 8:44 AM
manohar parrikar, aamir khan, intolerance, manohar parrikar, aamir khan, aamir khan intolerance remark, ramnath goenka awards, defence minister, parrikar on aamir khan, snapdeal, aamir khan controversyरक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने अभिनेता आमिर खान पर बिना उनका नाम लिए बिना निशाना साधा।

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने शनिवार को अभिनेता आमिर खान पर बिना उनका नाम लिए बिना निशाना साधा। पर्रिकर ने कहा कि देश के खिलाफ बोलने वालों को उसी तरह सबक सिखाया जाना चाहिए जिस तरह एक अभिनेता और एक ऑनलाइन व्‍यापार करने वाली कंपनी को सिखाया गया। पर्रिकर का यह इशारा आमिर खान की ओर था। आमिर ने नवंबर 2015 में रामनाथ गोयनका अवार्ड में कहा था कि देश में असहिष्‍णुता के चलते असुरक्षित महसूस करते हैं। इस दौरान उन्‍होंने अपनी पत्‍नी किरण राव के डर को भी साझा किया था। कुछ महीने बाद ई-कॉमर्स कंपनी स्‍नैपडील ने आमिर खान का ब्रांड एंबेसेडर का कांट्रेक्‍ट रिन्‍यू नहीं किया था। इससे पहले स्‍नैपडील को सोशल मीडिया पर आलोचना झेलनी पड़ी थी।

पत्रकार नितिन गोखले की किताब के मराठी वर्जन के लॉन्‍च के मौके पर उन्‍होंने कहा, ”मैं केवल यह इशारा करने का प्रयास कर रहा हूं… यदि कोई ऐसे बोलता है तो उसे उसके जीवन का सबक सिखाना चाहिए। जब एक्‍टर्स ने ऐसा किया तो जिस कंपनी को वह एंडॉर्स कर रहे थे वह ऑनलाइन ट्रेडिंग कंपनी थी। हमारे कुछ लोग काफी स्‍मार्ट हैं। एक टीम थी जो इस पर काम कर रही थी। वे लोगों को कह रहे थे कि आप ऑर्डर दो और सामान लौटा दो। कंपनी को सबक सीखना चाहिए। उन्‍हें अपना विज्ञापन वापस लेना पड़ा।”

आमिर खान की दंगल का Twitter पर विरोध, लोगों ने नाम दिया ‘देशद्रोही का दंगल’

पर्रिकर ने कहा कि आमिर खान का बयान घमंड भरा था। उन्‍होंने कहा, ”वह काफी घमंडी बयान था। हमें हमारे देश से प्‍यार करना चाहिए।” गौरतलब है कि पिछले साल आमिर खान ने रामनाथ गोयनका अवार्ड में कहा था, ”पहले की तुलना में थोड़ा डर है। मुझे लगता है कि थोड़ी असुरक्षा है। जब मैं घर में होता हूं और किरण से बात करता हूं। किरण और मैं अपनी पूरी जिंदगी भारत में रहे हैं। पहली बार उसने कहा कि क्‍या हमें भारत से बाहर जाना चाहिए? किरण का यह बयान मेरे लिए डरावना और बड़ा था। उसे अपने बच्‍चे का डर था। उसे डर है कि हमारे आसपास का माहौल कैसा होगा। वह रोज जब अखबार खोलती है तो डरती है।” इस बयान के बाद काफी विवाद हुआ था।

शाहरुख-आमिर की नसों में दौड़ रहा है पाकिस्‍तान का खून, इनको औकात दिखाओ: साध्‍वी प्राची

आमिर खान बोले-सहिष्‍णु है देश, भारत मेरी मां, पर नफरत फैलाने वालों को रोकें मोदी

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 BJP के दलित सांसदों की चेतावनी- दलितों पर हमले नहीं रुके तो तार-तार हो जाएंगी पीएम की उम्मीदें, कड़ा एक्शन लें
2 रखवालों की वजह से ही है हिंदू धर्म खतरे में: उदितराज
3 सऊदी अरब में नौकरी गंवाने के बाद 800 भारतीय भुखमरी के शिकार, मदद को आगे आईं सुषमा स्‍वराज
IPL 2020
X