ताज़ा खबर
 

Congress के लिए झंडे गाड़ने वाले मनमोहन सिंह श्रेय न मिलने पर होते थे दुखी? देखें, संजय बारू ने क्या बताया

Manmohan Singh Birthday Special: साल 1948 में मनमोहन सिंह के पिता चाहते थे कि बेटा साइंस पढ़कर डॉक्टर बने। पिता की चाह का सम्मान रखते हुए मनमोहन ने दो महीने तक कोशिश की, पर वे पीछे हटे और इकनॉमिक्स की तरफ वापस लौटे। आज (26 सितंबर, 2020) उनका 88वां जन्मदिन है।

Author Edited By अभिषेक गुप्ता नई दिल्ली | Updated: September 26, 2020 11:48 AM
Manmohan Singh Birthday, Manmohan Singh, Congress, INC, Sonia Gandhiपूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह। (Express Photo By Ganesh Shirsekar)

Manmohan Singh Birthday Special: पूर्व प्रधानमंत्री और आर्थिक मामलों पर अच्छी पकड़ रखने वाले मनमोहन सिंह ने Congress के लिए ढेरों झंडे गाड़े। पर पार्टी से कई बार उन्हें प्रत्यक्ष तौर पर अपने किए कामों के लिए श्रेय नहीं मिला। सिंह के पूर्व मीडिया सलाहकार संजय बारू (जिन्होंने मनमोहन पर किताब ‘द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ भी लिखी) ने इस मसले पर एक इंटरव्यू के दौरान कहा था- मुझे लगता है कि मनमोहन सिंह चीजों पर श्रेयों न मिलने को लेकर व्यक्तिगत तौर पर दुखी होते थे। पूर्व पीएम ने मुझसे तो कभी सीधे तौर पर जिक्र नहीं किया, पर मेरे ख्याल में उन्हें मलाल था।

बारू ने IBN खबर (अब News 18 India) को दिए साक्षात्कार में यह भी कबूला था कि यूपीए-2 में कई गलतियां हुईं, ये बिल्कुल सच है। डॉक्टर साहब मानते थे कि 2009 में जो जनादेश आया था, वह उनकी पांच साल की पूर्व में चली सरकार की वजह से आया था। बहरहाल, आज यानी 26 सितंबर को पूर्व पीएम का जन्मदिन है। आइए जानते हैं, मनमोहन सिंह से जुड़ी रोचक बातेंः

– मनमोहन सिंह 2004 से 2014 तक देश के प्रधानमंत्री रहे। उनका जन्म भारत के विभाजन से पहले पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में 26 सितंबर, 1932 को हुआ था।

– 1948 में मनमोहन सिंह के पिता चाहते थे कि बेटा साइंस पढ़कर डॉक्टर बने। पिता की चाह का सम्मान रखते हुए मनमोहन ने दो महीने तक कोशिश की, पर वे पीछे हटे और इकनॉमिक्स की तरफ वापस लौटे।

– देश के पहले पीएम पंडित जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद मनमोहन सिंह सबसे अधिक वक्त पर प्रधानमंत्री रहने वाले व्यक्ति हैं।

– 1987 में पद्म विभूषण से नवाजे गए। RBI गर्वनर और योजना आयोग के उपाध्यक्ष के बाद वित्त मंत्री पद भी संभाल चुके हैं सिंह।

– साल 1991 में भारत का बाजार जब विश्व के लिए खुल गया था, तब मनमोहन सिंह वित्त मंत्री थे। उदारीकरण के दौर में उन्होंने अहम भूमिका निभाई थी, जिसके लिए उन्हें आज भी जाना जाता है।

– ‘जो गरजते हैं, वो बरसते नहीं’, शायरी के जरिए एक बार मनमोहन सिंह ने सदन में BJP पर तंज कसा था। उनके इस शायराना अंदाज पर भाजपा सन्न रह गई थी। देखें, पलटवार में क्या दिया था सुषमा स्वराज ने जवाबः

दिग्गजों ने दी जन्मदिन की ऐसे दी बधाईः प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के जन्मदिन पर शनिवार को उन्हें शुभकामनाएं दीं और उनके दीर्घायु होने और अच्छी सेहत की कामना की। पीएम ने ट्वीट किया, ‘‘डॉ सिंह को जन्मदिन की बधाई। मैं ईश्वर से उनके दीर्घायु होने और अच्छी सेहत की प्रार्थना करता हूं।’’ वहीं, राहुल ने ट्वीट किया, ‘‘भारत डॉक्टर मनमोहन सिंह की तरह गहराई वाले प्रधानमंत्री की कमी महसूस करता है। उनकी ईमानदारी, विनम्रता और समर्पण हम सभी के लिए प्रेरणास्रोत हैं। उन्हें जन्मदिन की बहुत बधाई।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Bihar Elections Highlights: तेजस्वी, तेजप्रताप और पप्पू यादव के खिलाफ कोविड-19 प्रोटोकॉल तोड़ने के आरोप में मामला दर्ज
2 अनिल अंबानी ने बयां किया माली हाल- कोर्ट के खर्चे में बिक गए सारे गहने, मेरे पास सिर्फ़ एक कार, खर्च चला रहे परिवारवाले
3 हिल गए नरेंद्र मोदी, अब दिल्ली के तख्त को हिलाना है- BJP के पुराने दोस्त अकाली सुखबीर सिंह बादल की हुंकार
यह पढ़ा क्या?
X