ताज़ा खबर
 

मोदी के महात्वाकांक्षी लक्ष्य पर मनमोहन का वार- नहीं नजर आ रहे लक्षण, कैसे पहुंचेगी 5 ट्रिलियन वाली अर्थव्यवस्था?

मनमोहन सिंह ने कहा है कि फिलहाल ऐसे कोई लक्षण नजर नहीं आ रहे जिससे कहा जा सके कि देश 2024 तक 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को हासिल कर लेगा।

Author मुंबई | Updated: October 17, 2019 7:42 PM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह। (एक्सप्रेस फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 5 ट्रिलियन वाली अर्थव्यवस्था के महात्वाकांक्षी लक्ष्य पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है मौजूदा हालातों में यह मुमकिन नहीं लग रहा। उन्होंने कहा है कि ऐसे कोई लक्षण नजर नहीं आ रहे जिससे कहा जा सके कि देश 2024 तक इस लक्ष्य को हासिल कर लेगा। अर्थव्यवस्था सुधारने के लिए असल समस्याओं का पता लगाना जरूरी है।

इसके साथ ही उन्होंने अर्थव्यवस्था के मौजूदा हालात को ‘दोषपूर्ण स्लोडाउन’ करार दिया और कहा कि इसे तभी बचाया जा सकता है, जब विकास दर में वृद्धि की जाए। महाराष्ट विधानसभा चुनाव से पहले मुंबई में पूर्व पीएम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा ‘अर्थव्यस्था बुरे दौर से गुजर रही है। जिस तरह से अर्थव्यवस्था चल रही है और विकास दर 5.5 से 6 प्रतिशत तक है। एनडीए कार्यकाल में साल दर साल विकास दर में गिरावट आ रही है। लेकिन सच तो यह है कि हमारी अर्थव्यस्था को 8 से 10 प्रतिशत की ग्रोथ रेट की जरूरत है। यह रोजगार को बढ़ाने के लिए भी बेहद अहम है।’

वहीं अपने कार्यकाल को ‘कमजोर’ बताने के मोदी सरकार के आरोपों को नकारते हुए उन्होंने कहा कि मेरी सरकार को दोष देना बंद कीजिए क्योंकि पिछले पांच साल में आपकी सरकार रही है। पांच साल का कार्यकाल किसी भी समस्या का समाधान करने के लिए पर्याप्त समय होता है।

उन्होंने आगे कहा ‘सरकार को यूपीए की “गलतियों” से सीखना चाहिए था, और “विश्वसनीय समाधान” प्रदान करने चाहिए। सच तो यह है कि केंद्र सरकार सिर्फ विपक्ष पर आरोप मढ़ने में जुटी है। वह समस्याओं का समाधान ढूंढने में पूरी तरह विफल रही है। आर्थिक सुस्ती और सरकार के उदासीन रवैये की वजह से भारतीयों के भविष्य और आकांक्षाओं पर असर पड़ रहा है।’

मुद्रास्फीति के मामले में केंद्र को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि मुद्रास्फीति को दबाये रखने की सनक के चलते आज किसान परेशान हैं। सरकार की आयात-निर्यात नीति ऐसी है जिससे समस्याएं खड़ी हो रही हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राहुल गांधी ने अब PM को बताया ‘बेचेंद्र मोदी’, बोले- सूटबूट वाले मित्रों संग करते हैं PSU की बंदरबांट
2 VIDEO: आंसू बहा लोगों को बहलाना चाहते हैं आजम खान, पर उन पर औरतों के आंसुओं का श्राप- SP नेता पर बरसीं जया प्रदा
3 मोदी राज में नहीं बढ़ी है लिंचिंग, विशेष कानून की जरूरत नहीं: गृह मंत्री अमित शाह