मोदी को नीच कहने पर मणिशंकर अय्यर सस्पेंड, 2014 में प्रियंका गांधी ने भी कहा था - Mani Shankar Aiyar Suspend to called pm modi neech, Priyanka Gandhi had also said in 2014 - Jansatta
ताज़ा खबर
 

मोदी को नीच कहने पर मणिशंकर अय्यर सस्पेंड, 2014 में प्रियंका गांधी ने भी कहा था

नरेंद्र मोदी के खिलाफ इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल प्रियंका गांधी भी कर चुकी हैं।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच कहने पर कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ना सिर्फ विरोधियों के निशाने पर आ गए बल्कि कांग्रेस ने भी उन पर बड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई की। पार्टी ने उन्हें प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया। इससे पहले पार्टी ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया था लेकिन देर रात होते-होते पार्टी ने बड़ी कार्रवाई कर दी। दरअसल मणिशंकर अय्यर ने गुरुवार (07 दिसंबर) को पीएम मोदी को नीच कहा था। अय्यर ने पीएम मोदी के उस बयान पर प्रतिक्रिया देने के दौरान यह टिप्पणी की थी जिसमें पीएम मोदी ने कहा था कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी बाबा अंबेडकर को नहीं जानते हैं, बाबा भोले को जानते हैं।

हालांकि नरेंद्र मोदी के खिलाफ इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल प्रियंका गांधी भी कर चुकी हैं। मामला साल 2014 का है, जब अमेठी में प्रचार के दौरान प्रियंका गांधी ने मोदी पर अपने पिता का अपमान करने का आरोप लगाया था। उन्होंने नरेंद्र मोदी पर निचले स्तर की राजनीति करने का आरोप लगाया था। इसपर उनके खिलाफ भाजपा नेताओं ने शिकायत दर्ज कराई थी। बता दें कि इसका जवाब तब मोदी ने भी दिया था। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘सामाजिक रूप से निचले वर्ग से आया हूं इसलिए मेरी राजनीति उन लोगों के लिए ‘नीच राजनीति’ ही होगी।’

गौरतलब है कि बाद में राहुल गांधी से लताड़ मिलने पर मणिशंकर अय्यर ने माफी मांग ली। उन्होंने अपनी सफाई में दलील दी कि हिंदी उनकी भाषा नहीं है। अंग्रेजी में Low शब्द सोचकर हिंदी में नीच शब्द का इस्तेमाल किया था। मणिशंकर के मुताबिक, अगर हिंदी में लो का मतलब ‘लो बॉर्न’ (नीची जाति में जन्म लेने वाला) होता है तो वह माफी मांगते हैं। अय्यर ने यह भी कहा कि उन्होंने काफी वक्त में हिंदी सीखी है और इसी नासमझी में एक बार उन्होंने पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के लिए नालायक शब्द का इस्तेमाल कर दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App