ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार के J&K प्लान पर मणिशंकर अय्यर का हमला, बोले- डरपोक है, 31 मंत्री जा रहे जम्मू, कश्मीर में सिर्फ पांच

मामले में अय्यर ने कहा, 'कश्मीर में वे किनसे बात करने जा रहे हैं? फारुक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती सभी जेल में हैं। वे किनसे मिलने जा रहे हैं?'

mani shankar aiyarकांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर। (एएनआई इमेज)

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने जम्मू-कश्मीर जा रहे केंद्रीय मंत्रियों को डरपोक बताया है। उन्होंने केंद्र सरकार पर इस कदम को लेकर हमला बोला है। अगस्त 2018 में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद राज्य को केंद्र शासित प्रदेश में तब्दील कर दिया गया था। इसके बाद पहली बार केंद्र सरकार यहां इतना बड़ा कदम उठा रही है। 36 केंद्रीय मंत्रियों की टीम जम्मू-कश्मीर के अलग-अलग हिस्सों में आयोजित होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों में शिरकत करेगी। वहीं पांच मंत्री कश्मीर के तीन जिलों में जाएंगे। इन सभी पर अय्यर ने तीखा हमला बोला है।

‘किनसे मिलने जा रहे, सब तो जेल में हैं’: उन्होंने कहा कि 36 में से 31 जम्मू जा रहे हैं और सिर्फ 5 कश्मीर जा रहे हैं। अय्यर का यह बयान केरल के मलप्पुरम में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) पर संबोधन के दौरान सामने आया। अय्यर ने कहा, ‘कश्मीर में वे किनसे बात करने जा रहे हैं? फारुक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती सभी जेल में हैं। वे किनसे मिलने जा रहे हैं?’

Hindi News Live Hindi Samachar 21 January 2020: देश की बड़ी खबरों के लिए यहांं क्लिक करें 

ये मंत्री जाएंगे कश्मीरः कश्मीर जाने वाले मंत्रियों में केंद्रीय संचार एवं सूचना-प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद, मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद येसो नाइक और गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी शामिल हैं। बीजेपी पदाधिकारियों ने कहा कि इनमें से अधिकांश कार्यक्रम लोगों को केंद्र सरकार की योजनाओं के बारे में जागरूक करने के लिए उठाए जा रहे हैं, जो वहां से आर्टिकल 370 शुरू की गई हैं।

संख्याबल का दुरुपयोग कर रही बीजेपीः अय्यर ने लोकसभा में बीजेपी के बहुमत का जिक्र करते हुए कहा कि सत्ताधारी पार्टी संख्याबल का दुरुपयोग कर रही है। उन्होंने आरोप लगाया, ‘बीजेपी को पता है कि फिर कभी 303 सीटें नहीं मिल पाएंगी, इसलिए सभी मुस्लिम विरोधी कानून लाए जा रहे हैं।’ उन्होंने दिल्ली के शाहीन बाग में हो रहे विरोध प्रदर्शन पर भी टिप्पणी की। उन्होंने कहा, ‘धार्मिक आधार पर देश के बंटवारे के खिलाफ 34 दिनों से वहां प्रदर्शन चल रहा है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 IMF ने आर्थिक वृद्धि दर अनुमान में की कटौती, पूर्व FM बोले- मोदी सरकार के मंत्रियों के हमले को तैयार रहें गीता गोपीनाथ
2 दिल्ली: UPSC एग्जाम में हुआ फेल तो की आत्महत्या की कोशिश, मेट्रो के सामने युवक ने लगा दी छलांग
3 अध्यक्ष पद के लिए पहली पसंद नहीं थे जेपी नड्डा, ऐसे जीता अमित शाह का विश्वास, मोदी और आरएसएस से करीबी भी आया काम
आज का राशिफल
X