ताज़ा खबर
 

मुस्लिमों को “धमकी” के बाद फिर बोलीं मेनका गांधी- जहां से ज्यादा वोट, वहां ज्यादा काम

मेनका ने कहा कि जहां से उन्हें ज्यादा वोट मिलेंगे वहां सबसे पहले और सबसे ज्यादा काम होगा। बता दें कि बीते दिनों उनके मुस्लिमों पर दिए बयान को लेकर भी विवाद खड़ा हो गया था।

भाजपा सांसद और उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर से लोकसभा उम्मीदवार मेनका गांधी। (Express Photo)

Lok Sabha Election 2019: उत्तर प्रदेश के पीलीभीत से सांसद और सुल्तानपुर लोकसभा सीट से भाजपा की उम्मीदवार मेनका गांधी ने एकबार फिर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि जहां से उन्हें ज्यादा वोट मिलेंगे वहां सबसे पहले और सबसे ज्यादा काम होगा। मेनका ने सुल्तानपुर में एक चुनावी रैली के दौरान यह बात कही। बता दें कि बीते दिनों उनके मुस्लिमों पर दिए बयान को लेकर भी विवाद खड़ा हो गया था।

उन्होंने एक चुनावी रैली के दौरान कहा था कि ‘मैं जीत रही हूं। लोगों की मदद, प्यार से मैं जीत रही हूं। पर यह अगर मुस्लिमों के बगैर होगी, तब मुझे अच्छा नहीं लगेगा। दिल खट्टा हो जाता है। मुसलमान काम के लिए आता है, तब मैं सोचती हूं कि रहने ही दो। ये नहीं कि हम सब महात्मा गांधी की छठी औलाद हैं।’

उन्होंने कहा था, ‘जब मैं दोस्ती का हाथ लेकर आई हूं… आप पीलीभीत से पूछ लें… वहां के एक भी बंदे से पूछ लें कि मेनका गांधी कैसी थी… अगर आपको लगे कि कहीं भी हमसे गुस्ताखी हुई है तो हमको वोट मत देना। अगर आपको लगा कि हम खुले दिल से आए हैं… आपको कल मेरी जरूरत पड़ेगी, यह इलेक्शन तो मैं पार कर चुकी हूं। अब आपको मेरी जरूरत पड़ेगी। आपको इस जरूरत के लिए नींव डालनी है। जब आपके पोलिंग बूथ के परिणाम आएंगे और उस परिणाम में 100 वोट निकलेंगे… 50 वोट निकलेंगे। इसके बाद जब आप मेरे पास काम के लिए आएंगे तो वहीं होगा मेरे साथ, समझ गए आप लोग।’

मेनका के इस बयान के बाद चुनाव आयोग (ईसी) ने संज्ञान लिया। ईसी ने इसके साथ ही उन्हें कारण बताओ नोटिस भी भेजा। जिसके बाद मेनका ने इस बारे में कहा कि मीडिया में उनका बयान आधा-अधूरा दिखाया गया है।

बता दें कि केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी इस बार भाजपा के टिकट पर सुलतानपुर से चुनाव मैदान में उतरी हैं। इससे पहले मेनका पीलीभीत से चुनाव लड़ती रही हैं। मेनका साल 2014 में पीलीभीत से चुनाव जीतकर संसद पहुंची थीं। इस बार पार्टी ने उन्हें सुल्तानपुर से उम्मीदवार बनाया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App