ताज़ा खबर
 

पांच दिनों के अंदर बलात्कारी पिता को फास्ट ट्रैक कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद, लोग कर रहे तारीफ

देशभर में बलात्कार के मामले में देरी से सुनवाई के उलट इस मामले में आरोपी का ट्रायल महज पांच दिन पूरी हो गया। पूरे मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में हुई।

वकील पवन कुमार। (फोटो सोर्स पीटीआई)

उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले में अपनी नाबालिग बेटी संग बलात्कार के आरोप में दोषी साबित हुए पिता को उम्र कैद की सजा का मामला सुर्खियों में बना हुआ है। खास बात है कि देशभर में बलात्कार के मामले में देरी से सुनवाई के उलट इस मामले में आरोपी का ट्रायल महज पांच दिन पूरी हो गया। पूरे मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में हुई।

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस साल 16 अक्टूबर को दोषी की पत्नी ने जिले के मिश्रौलिया पुलिस स्टेशन में एक शिकायत दर्ज कराई। मामले में एसपी विजय धुल ने बताया कि ‘आरोपी बनाए गए शख्स के खिलाफ पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया। हमने मामले की जांच की और जल्द ही चार्जशीट दाखिल कर दी। और आगे की कार्रवाई पांच दिनों में पूरी कर ली गई।’

उन्होंने आगे कहा कि अगर हम जांच जल्दी करते हैं और समय पर कोर्ट के सामने साक्ष्य पेश करते हैं तो इससे अपराधियों पर हानिकारक प्रभाव पड़ेगा। यह सजा की गंभीरता नहीं है, मगर भरोसा है कि अपराधियों पर एक हानिकारक प्रभाव होगा।

मामले से जुड़े वकील पवन कुमार पाठक ने कहा, ’18 नवंबर को हमें चार्जशीट की कॉपी मिले और अगले दिन सुनवाई की तारीख मुकर्रर हुई। बलात्कार से जुड़ा यह पहला मामला है जिसमें कोर्ट में मुकदमे के पांच दिनों के भीतर गवाही पूरी हुई। हमें लोगों को जल्द से जल्द न्याय दिलाने की कोशिश करनी चाहिए।

उल्लेखनीय है कि अपराधी को जल्द से जल्द सजा दिलाने के चलते सोशल मीडिया में लोग पुलिस की खूब तारीख कर रहे हैं। एक यूजर राहुल यादव लिखते हैं, ‘हमारी पुलिस फोर्स ने बहुत अच्छा काम किया।’ एक यूजर लिखते हैं, ‘न्यायपालिका में प्रगति देखकर खुशी हुई।’ राणा लिखते हैं, ‘हमें सुरक्षाकर्मियों की प्रशंसा करनी चाहिए।’ एक यूजर लिखते हैं, ‘पुलिस ने बहुत अच्छा काम किया।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पांच साल में 15 गुना बढ़ गए इंटरनेटबंदी के मामले, साल 2014 से अब तक कुल 357 बार रोकी गई जिंदगी की रफ्तार
2 बिहार: जिस नाबालिग लड़की ने चार लोगों पर लगाए थे गैंगरेप की कोशिश के आरोप, उसे गोलियों से भून डाला
3 Delhi Seelampur Protest: हिंसक प्रदर्शन के दौरान स्कूल बस ड्राइवर ने ऐसे बचाई जान, देखें वीडियो
ये पढ़ा क्या?
X