ताज़ा खबर
 

ममता ने मुझे रात 11:16 बजे मैसेज किया और कहा पीएम से नहीं मिलूंगी- राज्यपाल जगदीप धनखड़ का खुलासा – सुबह एक मिनट में जो हुआ वो देख मैं हैरान था

दिल्ली में मानवाधिकार आयोग के प्रमुख से मुलाकात के मुद्दे पर धनखड़ ने कहा कि मानवाधिकार के मुद्दे पश्चिम बंगाल राज्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि मैं जस्टिस (अरुण) मिश्रा को काफी दिनों से जानता हूं। 

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़। (फोटो -ANI)

बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ और ममता बनर्जी के बीच विवादों के चर्चे लगातार होते रहते हैं। हाल ही में यास तूफान के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक को लेकर भी केंद्र और राज्य सरकार के बीच विवाद देखने को मिला था। इंडियन एक्सप्रेस के आईडिया एक्सचेंज प्रोग्राम में चीफ एडिटर राजकमल झा के सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि ममता ने मुझे रात 11:16 बजे मैसेज किया और कहा पीएम से नहीं मिलूंगी। साथ ही राज्यपाल ने कहा कि सुबह एक मिनट में जो हुआ वो देख मैं हैरान रह गया था।

राज्यपाल ने कहा कि 29 मई को अखबारों में खबर आई थी कि ममता बनर्जी की पीएम से आमने-सामने की बैठक हुई है। लेकिन ऐसी कोई बैठक नहीं हुई थी, जो हुआ वह एक मिनट से भी कम समय का था।  बैठक से एक दिन पहले रात 11:16 बजे ममता बनर्जी ने मुझे मैसेज किया था कि मैं बैठक में शामिल नहीं होऊंगी… क्योंकि सुवेंदु अधिकारी वहां हैं। मैंने उनसे कहा कि वह विपक्ष के नेता हैं।

मैंने अगली सुबह उन्हें फोन किया, कहा कि आप बहिष्कार न करें, यह बैठक हमारे लिए, संविधान के लिए, कानून के शासन के लिए, राज्य के लिए अच्छा होगा।राज्यपाल ने कहा कि देश के पीएम के पद से समझौता नहीं किया जा सकता है।

दिल्ली में मानवाधिकार आयोग के प्रमुख से मुलाकात के मुद्दे पर धनखड़ ने कहा कि मानवाधिकार के मुद्दे पश्चिम बंगाल राज्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि मैं जस्टिस (अरुण) मिश्रा को काफी दिनों से जानता हूं। 

बताते चलें कि पश्चिम बंगाल के गवर्नर जगदीप धनखड़ और ममता बनर्जी के बीच कई मुद्दों पर विवाद जारी है। हाल ही में गवर्नर द्वारा ममता बनर्जी को लिखी एक चिट्ठी के सार्वजनिक हो जाने के बाद सूबे की राजनीति में नई हलचल पैदा हो गयी थी। दरअसल, गवर्नर ने एक चिट्ठी ममता सरकार को लिखी थी, लेकिन इसे मीडिया के लिए भी जारी कर दिया गया था। उसके बाद ये खत सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसमें धनखड़ ने सरकार से कहा था कि वो इस दिशा में जरूरी कदम उठाए।

Next Stories
1 इलाज तो करना पड़ेगा, ट्रैक्टरों के साथ अपनी तैयारी रखो- केंद्र की चुप्पी के बीच किसान से बोले राकेश टिकैत
2 रामदेव के पतंजलि ट्रस्ट को फ़ायदा पहुंचाने को केंद्र ने आपत्ति करने वाले पदाधिकारी को किनारे किया, रातोंरात करवाया साइन
3 कोरोना के बीच योग उम्मीद की किरण- PM; राष्ट्रपति से लेकर मंत्रियों-CMs ने यूं किए आसन
ये पढ़ा क्या?
X