मोदी को देखके हिंदी अच्छा हो गया, अमित शाह को देखके गुजराती- दिल्ली में पत्रकारों से बोलीं ममता बनर्जी

जब ममता बनर्जी से सवाल किया गया कि आप इतनी धाराप्रवाह हिंदी कैसे बोलने लगीं तो उन्होंने चुटकी भरे अंदाज में कहा कि मोदी को देखकर हिंदी अच्छा हो गया, अमित शाह को देखके गुजराती भी…

Mamata Banerjee, Mamata Banerjee in Delhi, Mamata Banerjee Hindi, Mamata Banerjee Gujarati, Mamata Banerjee on Modi,
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद मीडिया से बात करती हुईं ममता बनर्जी Photo- PTI

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपनी धाराप्रवाह हिंदी और गुजराती का कारण पीएम मोदी और अमित शाह को बताया। दिल्ली में बुधवार को मीडिया से बात करते हुए टीएमसी प्रमुख ने कहा “मोदी को देखके हिंदी अच्छा हो गया, अमित शाह को देखके गुजराती भी अच्छा हो गया”। प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि वह हिंदी में पूछे गए सवालों का जवाब हिंदी में ही देंगी। जब उनसे सवाल किया गया कि आप इतनी धाराप्रवाह हिंदी कैसे बोलने लगीं तो उन्होंने चुटकी भरे अंदाज में कहा कि मोदी को देखकर हिंदी अच्छा हो गया, अमित शाह को देखके गुजराती भी। इसके बाद वह केम छो, केम छो कहने लगी जिसका गुजराती भाषा में अर्थ होता है आप कैसे हैं।

जब बांग्ला में देने लगीं भाषण…: टीएमसी सांसद सुखेंदु शेखर रॉय ने अपने आधिकारिक आवास पर सीएम बनर्जी के लिए मीडिया से बातचीत के कार्यक्रम का आयोजन किया था। यहां सीएम को जब मीडिया को धन्यवाद देने के लिए बुलाया गया तो वह बांग्ला में भाषण देने लगीं। तभी बनर्जी ने जाकर उन्हें धीरे से टोका, जिसके बाद मुख्यमंत्री बनर्जी ने अपने भाषण को हिंदी में स्वीच किया।

दिल्ली में सियासी चहलकदमी: आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ममता बनर्जी को इन दिनों दिल्ली में सियासी चहलकदमी करते हुए देखा जा रहा है। बुधवार को उन्होंने दिल्ली में अपने संसदीय दल की बैठक बुलाई थी। इसके बाद वह कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करने के लिए उनके आवास पहुंची थीं। जहां राहुल गांधी भी मौजूद थे। इसके बाद शाम को उनकी मुलाकात दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी के घर पर हुई थी।

मिशन 2024: सीएम ममता की इन मुलाकातों के पीछे मिशन 2024 को माना जा रहा है। जानकारी के मुताबिक ममता बनर्जी पीएम मोदी और बीजेपी के खिलाफ विपक्ष को एक जुट करना चाहती हैं।

उत्तर- प्रदेश से हो सकती है अभियान की शुरुआत: ममता बनर्जी अपने अभियान की शुरुआत उत्तर प्रदेश से कर सकती हैं। अगले साल सात राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। वह इन राज्यों में बीजेपी की नींव कमजोर करने की कोशिश में जुटी नजर आ रही हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट