ताज़ा खबर
 

पीएम मोदी के लेह अस्पताल दौरे पर सेना ने दी सफाई, कहा- आर्म्ड फोर्सेज पर उंगली उठाना दुर्भाग्यपूर्ण

पोस्ट की गई तस्वीरों में जवानों को न ड्रिप लगी थी, न ही उनके बेड के पास कोई चिकित्सा उपकरण थे। वहीं रूम में प्रोजेक्टर, स्क्रीन और हेडटेबल दिखाई दे रही थी। लोगों का कहना था कि यह चिकित्सा वार्ड नहीं बल्कि कॉन्फ़्रेन्स हॉल है। इन सभी बातों पर सफाई देते हुए रक्षा मंत्रालय ने इस तरह की अफवाहों को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लेह में आर्मी हॉस्पिटल में भर्ती घायल जवानों से मुलाक़ात की। (indian express)

चीन के साथ सीमा विवाद के बीच शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक लद्दाख दौरे पर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने लेह में आर्मी हॉस्पिटल में भर्ती घायल जवानों से मुलाक़ात की। इस मौलकर की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं हैं। कई लोगों ने पीएम मोदी की इन तस्वीरों को शेयर करते हुए उन पर सवाल उठाए हैं। पोस्ट की गई तस्वीरों में जवानों को न ड्रिप लगी थी, न ही उनके बेड के पास कोई चिकित्सा उपकरण थे। वहीं रूम में प्रोजेक्टर, स्क्रीन और हेडटेबल दिखाई दे रही थी। लोगों का कहना था कि यह चिकित्सा वार्ड नहीं बल्कि कॉन्फ़्रेन्स हॉल है। इन सभी बातों पर सफाई देते हुए रक्षा मंत्रालय ने इस तरह की अफवाहों को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।

रक्षा मंत्रालय ने अपने बयान में कहा “03 जुलाई को लद्दाख यात्रा के दौरान पीएम ने लेह के जनरल अस्पताल का दौरा किया था, उसे लेकर दुर्भावनापूर्ण और निराधार आरोप लगाए जा रहे हैं। सशस्त्र बलों का कैसे इलाज होता है, इस पर आक्षेप लगाए जा रहे हैं, यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है।”

रक्षा मंत्रालय के मुताबिक भारतीय सेना अपने जवानों को सबसे अच्छी स्वास्थ्य सुविधा मुहैया करवाती है। गलवान घाटी से वापस आने के बाद कोरोना वायरस के चलते घायल जवानों को क्वारंटाइन कर दिया गया था, जहां पर पीएम मोदी ने जवानों से मुलाकात की, वो 100 बेड की क्षमता वाला जनरल कांप्लेक्स है, जो जनरल अस्पताल का ही हिस्सा है।

क्वारंटाइन में होने के कारण जवानों के पास चिकित्सा उपकरण नहीं दिख रहे थे। इसी परिसर में कुछ दिन पहले सेना प्रमुख ने भी घायल जवानों से मुलाकात की थी। ऐसे में ये बात बिल्कुल ही निराधार है कि पीएम मोदी से मिलवाने के लिए सावस्थ जवानों को बेड पर बैठाया गया था।

लेह में घायल सैनिकों से जहां मिले मोदी वह वाक़ई चिकित्सा वार्ड था या कॉन्फ़्रेन्स हॉल में बिठाए गए थे फ़ौजी? फ़ोटो पर छिड़ी बहस

बता दें पीएम की इन तस्वीरों को लेकर कई लोगों का कहना था कि यह एक “मार्केटिंग गिमिक” है और तस्वीर में चिकित्सा वार्ड नहीं बल्कि कॉन्फ़्रेन्स हॉल है। कांग्रेस नेता अभिषेक दत्त ने भी पीएम मोदी की फोटो शेयर करते हुए लिखा था कि ये अस्पताल कहां से लग रहा है, न कोई ड्रिप , डॉक्टर की जगह फोटोग्राफर, बेड के साथ कोई दवाई नहीं, पानी की बोतल नहीं? दत्त ने लिखा कि भगवान का शुक्र है कि हमारे सारे वीर सैनिक एकदम स्वस्थ हैं। भारत माता की जय।

पीएम मोदी ने सैनिकों से मुलाक़ात कर कहा “मैं आपको प्रणाम करता हूं। उन माताओं को शत-शत नमन करता हूं, जिन्होंने आप जैसे वीर योद्धाओं को जन्म दिया, पाला और फिर देश के लिए दे दिया। हमारे जवान पराक्रम दिखाते हैं। ऐसी-ऐसी शक्तियों का सामना करते हैं कि दुनिया जानना चाहती है कि ये वीर कौन हैं, उनकी ट्रेनिंग कैसी है? पूरी दुनिया आपकी वीरता का एनालिसिस कर रही है।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 छह बार पूछ चुका हूं, चीन का नाम क्यों नहीं लेते? लेह में भी पीएम मोदी ने नहीं लिया चीन का नाम तो बीजेपी प्रवक्ता से उलझे गौरव वल्लभ
2 क्या बिहार चुनाव की वजह से सोनिया गांधी ने उठाया NEET में OBC आरक्षण का मामला? पीएम से कहा- 11000 सीट का हो रहा नुकसान
3 Kerala Karunya Lottery KR-455 Today Results: घोषित हुए लॉटरी रिजल्ट, यहां चेक करें विजेताओं की सूची
ये पढ़ा क्या?
X