ताज़ा खबर
 

केरल: पीएम मोदी-राहुल गांधी ने किया मंदिर का दौरा, मृतकों की संख्या हुई 107

नवरात्र के कारण मंदिर में उत्सव मनाया जा रहा था। उत्सव में ही आतिशबाजी की गई। आतिशबाजी के कारण मंदिर के एक हिस्से में आग लग गई और देखते ही देखते आग इतनी भयानक हो गई कि लोगों को बचकर निकलने का मौका तक नहीं मिला।

पीएम मोदी और सीएम चांडी घटनास्थल का जायजा लेते हुए। (Photo Source: PTI)

केरल में कोल्लम के पास स्थित पुत्तिंगल देवी मंदिर में आग लगने की घटना के कुछ ही घंटों के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को वहां का दौरा किया और हालात का जायजा लिया। अग्निकांड में 100 से ज्यादा लोग मारे गए और 383 से अधिक घायल हो गए। केरल के मुख्यमंत्री ओमन चांडी और गृह मंत्री रमेश चेन्नीतला प्रधानमंत्री को परिसर के पास ले गए और उन्हें घटना की जानकारी दी। मोदी घटनास्थल के पास गए जहां दो इमारतों के मलबे बिखरे थे जिनमें ‘कंबापुरा’ गोदाम शामिल है जहां पटाखे और आतिशबाजी की चीजें रखी हुई थीं। विस्फोट में ये इमारतें पूरी तरह जलकर खाक हो गईं। प्रधानमंत्री वहां करीब दस मिनट तक रहे। उन्होंने वहां कंक्रीट के खंभे, मुड़े तार वगैरह देखे। चांडी ने मोदी से कहा कि उनकी सरकार घटना को लेकर पहले ही कदम उठा चुकी है।

Emergency numbers: 0474-2512344, 9497930863, 9497960778

पीएम मोदी के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी घटनास्थल पर पहुंच कर हालाता का जायजा लिया। राहुल के साथ भी गृहमंत्री रमेश चेन्नीतला और कांग्रेस नेता एके एंटनी मौजूद थे। हादसे में 107 लोगों की मौत हो गई और 300 से ज्यादा लोग घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Gold
    ₹ 25900 MRP ₹ 29500 -12%
    ₹3750 Cashback
  • Lenovo Phab 2 Plus 32GB Champagne Gold
    ₹ 17999 MRP ₹ 17999 -0%
    ₹900 Cashback

Kerala Temple Fire: तस्वीरों में देखें कैसे भीषण आग में तब्दील हुई आतिशबाजी

हादसा तड़के साढ़े तीन बजे मंदिर परिसर में आतिशबाजी के दौरान हुआ। केरल में 4 दिन बाद नए साल का उत्सव मनाया जाना है। नए साल से पहले यहां पूजा का आयोजन होता है। यह मंदिर केरल की राजधानी तिरूवनंतपुरम से करीब 70 किलोमीटर दूर है। मंदिर में वार्षिक महोत्सव के तहत आधी रात में आतिशबाजी शुरू हुई। आतिशबाजी के लिए राजस्व और पुलिस अधिकारियों ने कोई अनुमति नहीं दी थी। आतिशबाजी देखने के लिए हजारों लोग मंदिर परिसर में एकत्रित हुए थे।

पुलिस ने बताया कि यह दुर्घटना तब हुई जब आतिशबाजी के दौरान गोदाम ‘कंबपुरा’ में चिंगारियां गिरीं और वहां रखे पटाखों में कर्णभेदी आवाज के साथ विस्फोट हो गया। विस्फोट की आवाज एक किलोमीटर से अधिक के दायरे तक सुनी गई। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बिजली आपूर्ति के ठप्प हो जाने के कारण पूरा इलाका अंधेरे में डूब गया और लोग घबराहट में इधर-उधर भागने लगे। अग्निकांड के बाद जले हुए शव एवं मानव अंग प्रत्यंग मंदिर परिसर में बिखरे हुए थे। मुख्यमंत्री चांडी ने बताया कि कोल्लम की जिला कलेक्टर ने आतिशबाजी के लिए अनुमति नहीं दी थी।

LIVE UPDATES:-

 

 

प्रधानमंत्री कोल्लम पहुंच चुके हैं। प्रधानमंत्री को मौजूदा हालत की जानकारी देने की लिए स्वयं मुख्यमंत्री ओमन चांडी एयरपोर्ट पहुंचे ।

 

 

स्वास्थ्यमंत्री वी शिवकुमार ने कहा कि कोल्लम के जिला कलेक्टर पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक के बाद कहा, ‘‘हम घायलों को हर प्रकार की मदद दे रहे हैं। 83 घायलों को त्रिवेंद्रम मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।’’

भारतीय नौसेना दक्षिणी नौसैन्य कमांड से एक डोर्नियर और दो एएलएच को चिकित्सीय दलों के साथ तैनात कर रही है। नौसेना ने तीन नौसैन्य पोत  चिकित्सीय सामग्री के साथ कोल्लम तट पर तैनात किया है ताकि घायलों को चिकित्सीय मदद दी जा सके।

केरल के मंदिर में भीषण आग लगने की दुर्घटना के बाद जारी बचाव अभियानों में मदद करने के लिए भारतीय नौसेना और भारतीय वायुसेना ने छह हेलीकॉप्टर और एक डोर्नियर विमान तैनात किया है। इस दुर्घटना में 102 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं।  भारतीय वायुसेना ने चार हेलीकॉप्टर तैनात किए हैं, जिनमें एमआई17 और एडवांस्ड लाइट हेलीकॉप्टर (एएलएच) शामिल हैं।

प्रधानमंत्री मोदी डॉक्टर्स की एक टीम के साथ पालम एयरपोर्ट से केरल के लिए निकल गए हैं।

Emergency numbers: 0474-2512344, 9497930863, 9497960778

प्रधानमंत्री ने कोल्लम मंदिर हादसे में मरने वाले लोगों के निकटतम संबंधी को दो-दो लाख रुपए और घायलों को 50 हजार रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App