ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र में 1 मई से शुरू होगी एनपीआर प्रक्रिया उद्धव सरकार ने लिया फैसला

महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने राज्य में एनपीआर लागू करने को अपनी मंजूरी दे दी है। खबर के अनुसार, महाराष्ट्र में 1 मई से एनपीआर की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

Maharashtra CM, CAA, CAB, NRC, Hindu, Hindu People, Space, Place, Countries, Maharashtra CM, Shivsena Chief, Uddhav Thackeray, MLA Son, Aditya Thackeray, BJP, NDA, Amit Shah, Narendra Modi, India News, National News, Hindi Newsमहाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे। (फाइल फोटोः पीटीआई)

महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने राज्य में एनपीआर लागू करने को अपनी मंजूरी दे दी है। खबर के अनुसार, महाराष्ट्र में 1 मई से एनपीआर की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। बता दें कि केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने 1 मई से लेकर 15 जून तक एनपीआर लागू करने की अधिसूचना जारी की हुई है।

रजिस्ट्रार जनरल एंड सेंसस कमिश्नर (RGCC) ने महाराष्ट्र सरकार के अधिकारियों से एनपीआर और जनगणना को लेकर चर्चा की है। माना जा रहा है कि राज्य सरकार जल्द ही इस संबंध में एक नोटिफिकेशन जारी कर सकती है। महाराष्ट्र में एनपीआर प्रक्रिया के करीब 6 हफ्ते में पूरा होने की उम्मीद की जा रही है।

राज्य सरकार ने जिलाधिकारियों को अध्यापकों और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को इकट्ठा कर और उन्हें जनगणना संबंधी ट्रेनिंग देने के निर्देश दिए हैं। जो अधिकारी इस प्रक्रिया का हिस्सा होंगे और सुपरविजन करेंगे उन्हें पूरी ट्रेनिंग दी जाएगी। जिसमें बताया जाएगा कि कर्मचारियों को एनपीआर के लिए डाटा कैसे एकत्र करना है।

अधिकारियों ने बताया कि सरकारी कर्मचारी 1 मई से लेकर 15 जून के बीच एनपीआर की जानकारी एकत्र करेंगे, जबकि अगले साल 9 फरवरी से 28 फरवरी के बीच जनगणना की जाएगी। बताया जा रहा है कि इस काम के लिए महाराष्ट्र सरकार ने 3.34 लाख कर्मचारी नियुक्त किए हैं।

महाराष्ट्र सरकार में खींचतानः महाराष्ट्र में सरकार के बीच एनपीआर लागू करने को लेकर खींचतान होने की आशंका है। दरअसल कांग्रेस और सीएए और एनआरसी का खुलकर विरोध कर रही है। शिवसेना राज्य में एनपीआर लागू करने की बात कह चुकी है। अब चूंकि महाविकास अघाड़ी सरकार में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी शामिल हैं। ऐसे में आशंका है कि एनपीआर के मुद्दे पर सरकार में मतभेद उभर सकते हैं।

बता दें कि देश के विभिन्न हिस्सों में लोग संशोधित नागरिकता कानून, एनआरसी और एनपीआर का विरोध कर रहे हैं। विरोध करने वाले लोग एनपीआर को एनआरसी और सीएए की शुरुआत बता रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अमित शाह को भाषण के लिए 45 मिनट करना पड़ा इंतजार, सिक्योरिटी के बताने पर राष्ट्रगान के लिए रुके
2 इनकम टैक्स विभाग को मिला टारगेट- मार्च तक लाइए दो लाख करोड़, पोस्टिंग का भी आधार बनेगी वसूली
3 रैली में लोगों को लाए, पर वोट देने से मना कर दिया- बीजेपी नेताओं की दगाबाजी पर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मांगी रिपोर्ट
ये पढ़ा क्या?
X