ताज़ा खबर
 

NDA के बुरे दिन? महाराष्ट्र के बाद एक और राज्य में हुई तकरार, पासवान बोले- अब अकेले लड़ेंगे चुनाव

चिराग ने बयान देते हुए कहा, 'लोक जनशक्ति पार्टी की स्टेट यूनिट ने अकेले चुनाव लड़ने का फैसला लिया है। हम 50 सीटों पर अकेले चुानव लड़ेंगे। प्रत्याशियों की पहली सूची (Candidate List) आज ही जारी कर दी जाएगी।'

चिराग पासवान लोजपा के नए अध्यक्ष चुने गए।

Jharkhand Assembly Election 2019: महाराष्ट्र में टूट चुके एनडीए (NDA broken) को झारखंड में भी तगड़ा झटका लगा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 88 सीटों वाले राज्य में लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान (LJP President Chirag Paswan) ने 50 सीटों पर अकेले लड़ने का फैसला किया है। महाराष्ट्र में शिवसेना (Shiv Sena) की मुख्यमंत्री पद की मांग को लेकर तकरार हुई और एनसीपी ने समर्थन के लिए एनडीए छोड़ने की शर्त रख दी। इस पर शिवसेना ने मोदी सरकार में शामिल अपने नेता अरविंद सावंत से इस्तीफा दिलवा दिया।

आज जारी होगी पहली कैंडिडेट लिस्टः चिराग ने बयान देते हुए कहा, ‘लोक जनशक्ति पार्टी की स्टेट यूनिट ने अकेले चुनाव लड़ने का फैसला लिया है। हम 50 सीटों पर अकेले चुानव लड़ेंगे। प्रत्याशियों की पहली सूची (Candidate List) आज ही जारी कर दी जाएगी।’ बता दें कि रिपोर्ट्स के मुताबिक लोकसभा चुनाव 2014 में चिराग की सलाह पर ही उनके पिता और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) ने बीजेपी के साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ा था।

Hindi News Today, 12 November 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरें पढने के लिए यहां क्लिंक करे

दिल्ली-बिहार में साथ, झारखंड में अलगः पड़ोसी राज्य में बिहार में विधानसभा और लोकसभा चुनाव मिलकर लड़ने के बाद झारखंड में बीजेपी को झटका लगा है। झारखंड में फिलहाल बीजेपी के रघुबर दास मुख्यमंत्री हैं, वे पांच साल का कार्यकाल पूरा करने वाले राज्य के पहले मुख्यमंत्री हैं। बिहार के साथ-साथ झारखंड में भी पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी का ठीक-ठाक दबदबा माना जाता है।

केंद्र में सफल, राज्यों में मुश्किल?: लोकसभा चुनाव में शानदार जीत के बावजूद एनडीए में लगातार बिखराव के संकेत मिल रहे हैं। केंद्र में सफल बीजेपी को राज्यों में अपेक्षित सफलता नहीं मिल पा रही है। मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ में सत्ता गंवा चुकी बीजेपी ने हरियाणा में बमुश्किल सरकार बनाई, महाराष्ट्र में मामला अधर में है और झारखंड में चुनाव से पहले ही मुश्किल सामने खड़ी होती दिख रही है। उधर कर्नाटक में सरकार तो बनी लेकिन अभी संकट का साया बरकरार है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 शिवसेना को लगे झटके के बाद अस्पताल से बोले संजय राउत, ‘लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती’
2 मुस्लिम पक्ष को कबूल नहीं 5 एकड़ जमीन! मौलाना बोले- खुद से जमीन खरीद बना सकते हैं मस्जिद; दूसरे ने कहा- लॉलीपॉप नहीं चाहिए
3 बिलाल अहमद ने राम मंदिर निर्माण के लिए दिया 1100 रुपये का चेक, जताई हसरत- हमारे नाम से लगाई जाएं 4 ईंटें
ये पढ़ा क्या?
X