ताज़ा खबर
 

पीएम मोदी के विरोध में उड़ाए काले गुब्बारे, कांग्रेसियों को पुलिस ने बुरी तरह पीटा! सामने आया वीडियो

इस घटना की महाराष्ट्र कांग्रेस और एनएसयूआई ने कड़ी निंदा की है। महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष आरवी पाटिल ने घटना की निंदा करते हुए मारपीट में शामिल पुलिस वालों को निलंबित करने की मांग की है।

महाराष्ट्र के सोलापुर में कांग्रेस के कार्यकर्ता पीएम मोदी की यात्रा का विरोध कर रहे थे और काले झंडे दिखा रहे थे. तभी सिविल ड्रेस में मौजूद पुलिस ने उन्हें पीटना शुरू कर दिया. (फोटो सोर्स: ट्वीटर)

महाराष्ट्र के सोलापुर में पुलिस ने कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की बुरी तरह धुनाई कर डाली। बुधवार को कांग्रेस के युवा और छात्र संगठनों के कार्यकर्ता पीएम मोदी के सोलापुर दौरे का विरोध कर रहे थे। पीएम का काफिला जहां से निकल रहा था, वहीं पर कार्यकर्ताओं ने काले रंग के गुब्बारे छोड़े और काले झंडे लेकर ‘चौकीदार चोर है’ का नारा लगाने लगे। इस दौरान सीविल ड्रेस में मौजूद पुलिस वालों ने उन्हें पकड़ लिया और लात-घूसों से उनकी जमकर धुनाई कर डाली।

घटना के बाद से महाराष्ट्र की राजनीति का तापमान बढ़ गया है। इस घटना की महाराष्ट्र कांग्रेस और एनएसयूआई ने कड़ी निंदा की है। महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष आरवी पाटिल ने घटना की निंदा करते हुए मारपीट में शामिल पुलिस वालों को निलंबित करने की मांग की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्थानीय कांग्रेस के नेताओं ने इस घटना को अघोषित आपातकाल करार दिया।

कांग्रेस की छात्र शाखा NSUI ने ट्वीट करते हुए कहा कि मोदी के काफिले को काला झंडा दिखाया गया और ‘मोदी वापस जाओ’ के नारे लगाए। (इस दौरान) पुलिस वालों ने जिला के अध्यक्ष (NUSI) गणेश डोंगरे और दूसरे कार्यकर्ताओं को बुरी तरह पीटा है और गिरफ्तार किया है।

बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोलापुर में एक रैली को संबोधित किया। उन्होंने इस दौरान कांग्रेस के तमाम आरोपों पर निशाना साधा। उन्होंने अगस्ता हेलिकॉप्टर में भ्रष्टाचार और आरोपी क्रिश्चन मिशेल के हवाले से कांग्रेस पर हमला बोला। प्रधानमंत्री ने ‘चौकीदार चोर है’ के आरोपों पर कहा कि कमीशनखोरों के सारे दोस्त इकट्ठा होकर चौकीदार को डराने का सपना देख रहे हैं। लेकिन, इनको निराशा हाथ लगने वाली है क्योंकि चौकीदार न सोता है और न ही डरता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App