ताज़ा खबर
 

शिवसेना ने बढ़ाई BJP की मुश्किलें? कहा- फडणवीस के कई लोग बन चुके हैं उद्धव सरकार के मित्र, मोदी सरकार पर यूं कसा तंज

Maharashtra, Shiv Sena, BJP: शिवसेना ने कहा, ‘‘फडणवीस का कहना है कि राज्य सरकार अपने वादे पूरे नहीं कर रही और किसानों के लिए कुछ नहीं कर रही, लेकिन क्या मोदी सरकार ने हर नागरिक के खाते में 15 लाख रुपए हस्तांतरित करने का वादा पूरा किया।"

मुंबई | December 20, 2019 12:30 PM
(फाइल फोटो)

Maharashtra, Shiv Sena, BJP: शिवसेना ने महाराष्ट्र में विपक्षी दल भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि उसे सतर्क रहना चाहिए क्योंकि उसके कई सदस्य राज्य में उद्धव ठाकरे नीत महा विकास अघाड़ी सरकार के संभवत: मित्र बन गए हैं। पार्टी ने सदन में ‘‘अनावश्यक रूप से’’ आक्रामकता अपनाने को लेकर विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस की भी आलोचना की। बता दें कि नागपुर में राज्य विधानसभा का शीतकालीन सत्र चल रहा है जिसमें भाजपा और मुख्य रूप से फडणवीस, ठाकरे नीत सरकार को विभिन्न मामलों पर घेरने की कोशिश कर रहे हैं।

पीएम मोदी पर निशाना: शिवसेना ने कहा, ‘‘फडणवीस का कहना है कि राज्य सरकार अपने वादे पूरे नहीं कर रही और किसानों के लिए कुछ नहीं कर रही, लेकिन क्या मोदी सरकार ने हर नागरिक के खाते में 15 लाख रुपए हस्तांतरित करने का वादा पूरा किया। यदि ऐसा हुआ होता तो किसान खुश होते क्योंकि इससे उनका कर्ज उतर जाता। भाजपा सरकार लोगों को ठग रही है। उसे पहले अपने वादे पूरे करने चाहिए।’’

Hindi News Today, 20 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

सामना में लेख: शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में छपे संपादकीय में कहा, ‘‘सरकार की मंशा और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का मन साफ है, इसलिए उनके नए मित्र बनते रहेंगे। विपक्षी दल को सतर्क रहना चाहिए क्योंकि उसके भी कई सदस्य संभवत: सरकार के मित्र बन गए हैं।’’ पार्टी ने कहा कि विपक्ष महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उसने कहा, ‘‘केवल इसलिए दो पक्षों को शत्रु नहीं बन जाना चाहिए कि जो विपक्ष की मेज पर थे, अब वे सरकार में हैं। यदि यह हो रहा है तो यह अच्छा नहीं है।’’

मुखपत्र से बीजेपी पर हमला: सामना ने कहा, ‘‘विधानसभा में भाजपा इस बात को लेकर अपनी असहजता दिखा रही है कि 105 विधायक होने के बावजूद वह सरकार गठित नहीं कर पाई, लेकिन इस असहजता के कारण भाजपा का जो रुख है उसे नजरअंदाज करना ही सबसे अच्छा है।’’ शिवसेना ने कहा कि राज्य के लोग इस बात को लेकर एकमत हैं कि फडणवीस जो कुछ भी बोल रहे हैं, वह अनावश्यक है। शिवसेना नीत सरकार बहुमत में है और मुख्यमंत्री ने विधानसभा में यह साबित किया है।

Next Stories
1 यूपी सीएम कर रहे रेप मामलों में 19% गिरावट का दावा, पर चार महीनों में पांच बलात्कार पीड़ितों ने तोड़ दिया दम
2 ‘‘लुंगी पहने घुसपैठियों’’ ने फैलाई बंगाल में हिंसा, NRC व CAA विवाद पर बोले BJP नेता
3 झारखंड: अंतिम चरण की वोटिंग से पहले कानूनी जंग तेज, बीजेपी के बाद JMM ने भी की शिकायत, EC ने मांगी सीडी और रिपोर्ट
ये पढ़ा क्या?
X