ताज़ा खबर
 

फडणवीस के इस्तीफे पर प्रियंका चतुर्वेदी का तंज, कहा- बड़े बेआबरू होकर तेरे कूचे से हम निकले

महाराष्ट्र में चल रहे सियासी उलटफेर का आखिरकार पटाक्षेप हो गया। पहले डिप्टी सीएम अजीत पवार ने इस्तीफा दिया, जिसके बाद सीएम देवेंद्र फडणवीस ने भी रिजाइन कर दिया। ऐसे में शिवसेना प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने फडणवीस पर तंज कसा।

प्रियंका चतुर्वेदी (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस फाइल फोटो)

महाराष्ट्र की सियासी महाभारत का पटाक्षेप होने के बाद शिवसेना प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने मिर्जा गालिब के शेर से देवेंद्र फडणवीस पर निशाना साधा। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बुधवार (27 नवंबर) को महाराष्ट्र में फ्लोर टेस्ट होना था, लेकिन उससे पहले ही देवेंद्र फडणवीस ने सीएम व अजीत पवार ने डिप्टी सीएम के पद से इस्तीफा दे दिया। गौरतलब है कि कोर्ट ने आदेश दिया था कि फ्लोर टेस्ट से पहले प्रोटेम स्पीकर चुना जाए और उसके बाद लाइव वोटिंग कराई जाए।

प्रियंका चतुर्वेदी ने किया यह ट्वीट: बता दें कि महाराष्ट्र में डिप्टी सीएम के इस्तीफे के बाद दोपहर 3:30 बजे बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने शिवसेना पर वादाखिलाफी का आरोप लगाया। साथ ही, राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने का ऐलान किया। ऐसे में प्रियंका चतुर्वेदी ने मिर्जा गालिब के शेर ट्वीट करके फडणवीस पर तंज कसा। प्रियंका ने लिखा, ‘‘बड़े बेआबरू होकर तेरे कूचे से हम निकले, बहुत निकले मेरे अरमान लेकिन फिर भी कम निकले।’’

Hindi News Today, 26 November 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

बीजेपी ने अचानक बनाई थी सरकार: गौरतलब है कि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने 22 नवंबर को करीब 3 घंटे तक अहम बैठक की थी। उस दौरान एनसीपी चीफ शरद पवार ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को सर्वसम्मति से सीएम बनाने की जानकारी दी। हालांकि, कांग्रेस ने इस मामले में कोई जवाब नहीं दिया। 23 नवंबर को सुबह बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने एनसीपी नेता अजीत पवार के साथ मिलकर राज्य में सरकार बना ली। ऐसे में एनसीपी, शिवसेना और कांग्रेस फ्लोर टेस्ट की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट गई थीं।

घटनाक्रम में ऐसे आया बदलाव: सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र के 3 राजनीतिक दलों की याचिकाओं पर 24 नवंबर से सुनवाई शुरू की। 25 नवंबर को तीनों पक्षों को सुना गया और कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया। जस्टिस रमन्ना की अध्यक्षता वाली 3 जजों की बेंच ने मंगलवार (26 नवंबर) सुबह फैसला सुनाया और 27 नवंबर को शाम 5 बजे से पहले फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया। साथ ही, फ्लोर टेस्ट से प्रोटेम स्पीकर नियुक्त करने के लिए भी कहा। कोर्ट का आदेश आने के चंद घंटे बाद ही अजीत पवार सीएम देवेंद्र फडणवीस के पास पहुंचे और इस्तीफा सौंप दिया। इसके बाद फडणवीस ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस की और इस्तीफा देने का ऐलान कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 RJD ने नहीं मनाया Constitution Day, पार्टी नेता बोले- यहां हर दिन हो रही संविधान की निर्मम हत्या
2 मेरे करन-अर्जुन वापस आएंगे- देवेंद्र फड़णवीस और अजित पवार के इस्तीफे के बाद गवर्नर भगत सिंह कोश्‍यारी का ऐसे उड़ रहा मजाक
3 ‘हर चाचा शिवपाल नहीं होता अजीत बाबू’ शरद पवार की अपील पर डिप्टी सीएम के इस्तीफे के बाद बोले कुमार विश्वास