ताज़ा खबर
 

Republic TV के रिपोर्टर से होने लगी थी धक्का-मुक्की, निकलने लगा खून! न्यूज रूम से चिल्लाने लगे अर्णब- आप लाइव हैं, कोई रोक नहीं सकता, मेरे एडिटर पर हाथ मत लगाएं..

टीआरपी घोटाले में मुंबई पुलिस की तरफ से आरोपी बनाए जाने के बाद रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही है। पुलिस ने मुंबई पुलिस की कथित तौर पर बदनाम करने के चलते रिपब्लिक टीवी के चार पत्रकारों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। इस मामले में रिपब्लिक […]

अर्णब गोस्वामी ने अपने चैनल के रिपोर्टर से कहा कि आपको कोई रोक नहीं सकता है।

टीआरपी घोटाले में मुंबई पुलिस की तरफ से आरोपी बनाए जाने के बाद रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही है। पुलिस ने मुंबई पुलिस की कथित तौर पर बदनाम करने के चलते रिपब्लिक टीवी के चार पत्रकारों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। इस मामले में रिपब्लिक टीवी ने कहा है कि वो इसे मीडिया के अधिकारों पर हमला मानता है और वह हर ‘मजबूत रणनीति’ से लड़ेगा।

इधर Republic TV पर चल रहे लाइव डिबेट के दौरान चैनल के रिपोर्टर से धक्का-मुक्की होने लगी। दरअसल लाइव रिपोर्टिंग के दौरान चैनल के रिपोर्टर Syed Suhail महाराष्ट्र के गृहमंत्री से कुछ सवाल पूछना चाहते थे। गृहमंत्री अनिल देशमुख से चैनल के रिपोर्टर पूछ रहे थे कि चैनल के रिपोर्टरों पर एफआईआर दर्ज की गई है और इसपर आपकी क्या प्रतिक्रिया है?

अनिल देशमुख ने रिपोर्टर के सवालों का जवाब नहीं दिया। पत्रकार बार-बार अपने सवाल दोहरा रहे थे और गृहमंत्री आगे बढ़ते जा रहे थे। तब ही स्टूडियो से अर्णब गोस्वामी अपने रिपोर्टर को निर्देश देने लगे कि आप सवाल पूछते रहिए।

इस बीच अनिल देशमुख अपनी गाड़ी से बैठ कर जाने लगे और चैनल के रिपोर्टर चिल्ला रहे थे कि मुझे खून निकल रहा है …मुझे धक्का दिया जा रहा है..सवाल नहीं पूछने दिया जा रहा है। स्टूडियो से अर्णब कहते हैं कि आप रिपोर्टिंग करिए…आपको कोई रोक नहीं सकता है…इस दौरान एक शख्स रिपोर्टिंग कर रहे पत्रकार को रोकता हुआ नजर आ रहा है और कुछ पुलिसवाले भी वहां खड़े हैं। पुलिस वालों से रिपोर्टर कहते हैं कि आप इन्हें क्यों नहीं रोकते।

इधर स्टूडियो से अर्णब गोस्वामी लगातार चीख रहे थे कि आप रिपोर्टिंग करिए…आपको कोई रोक नहीं सकता…मेरे रिपोर्टर को मत मारिये,,मेरे रिपोर्टर को हाथ मत लगाइए…मेरे सीनियर एडिटर को हाथ लगाया जा रहा है…मेरे एडिटर को मारा जा रहा है…सोहेल आप रिपोर्टिंग करीए…आपातकाल लग चुका है यहां…रिपोर्टिंग नहीं करने दिया जा रहा है। इधर रिपोर्टर अपना मास्क हटाकर पुलिसवालों को बताते हैं कि मेरे मुंह से खून आ रहा है…देखिए आप उस शख्स को पकड़िए…अर्णब फिर कहते हैं कि मेरे रिपोर्टर को मारा गया है…अटैक हुआ है आप दिखाइए पुलिस वालों को…इसके बाद रिपोर्टर कहते हैं कि क्या कोई एफआईआऱ लिखेगा यहां…वो बार-बार अपने खून के धब्बे दिखा रहे थे।

Next Stories
1 Bihar Elections 2020 में BJP ने बनाया टीके को मुद्दा, तो बोले दिल्ली CM- मुफ्त COVID-19 Vaccine हर किसी का अधिकार
2 पंजाब में बिहार की बच्ची की दरिंदगी के बाद हत्या! राहुल-तेजस्वी को घेर बोली BJP- हाथरस से हमदर्दी, पर जहां कांग्रेसी सरकार वहां क्यों चुप्पी?
3 मनुस्मृति का हवाला दे VCK चीफ ने हिंदू महिलाओं पर की थी आपत्तिजनक टिप्पणी, केस
ये पढ़ा क्या?
X