ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र के मंत्री अशोक चव्हाण का कबूलनामा- मुस्लिम भाइयों के कहने पर बीजेपी को रोकने के लिए सरकार में शामिल हुए

वीडियो संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ नांदेड़ में आयोजित एक रैली का है।

महाराष्ट्र के मंत्री अशोक चव्हाण और बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा। फोटो: Indian Express

महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ सरकार गठन को लेकर महाराष्ट्र के मंत्री अशोक चव्हाण ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। उन्होंने कहा है कि मुस्लिम भाइयों के कहने और बीजेपी को सत्ता से रोकने के लिए कांग्रेस सरकार में शामिल हुई है। चव्हाण के कबूलनामे से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। उन्होंने कहा कि मुस्लिम समुदाय ने जोर दिया जिसके बाद कांग्रेस ने बीजेपी को सत्ता से बाहर रखने के मकसद से सरकार गठन में हिस्सा लिया। बताया जा रहा है कि वीडियो संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ नांदेड़ में आयोजित एक रैली का है।

वीडियो में वह कहते हैं ‘मुसलमान भाइयों के कहने पर शिवसेना के साथ सरकार बनाई है। मुस्लिमों का कहना था कि बीजेपी हमारी सबसे बड़ी दुश्मन है। इसलिए बीजेपी को सत्ता से रोकने के लिए कांग्रेस को शिवसेना के साथ मिलकर गठंबनध की सरकार बनानी चाहिए। जब तर राज्य में हमारी सरकार है सीएए को लागू नहीं होने दिया जाएगा।’

वहीं अशोक चव्हाण के इस कबूलनामे पर बीजेपी ने कांग्रेस पार्टी को आड़े हाथों लिया है। बीजेपी ने कहा है कि कांग्रेस ने ऐसा कर हिंदू समुदाय को आहत किया है। चव्हाण के बयान से कांग्रेस की पोल खुल गई है। बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने नई दिल्ली में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा ‘2 दिन पहले अशोक चव्हाण ने एक सभा में कहा कि हमने मुसलमान भाईयों के कहने पर महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ सरकार बनाई है। मुस्लिमों का कहना था कि बीजेपी हमारी सबसे बड़ी दुश्मन है, इसलिए हमने शिवसेना के साथ सरकार बनाई। इसका एक ही निचोड़ है कि कांग्रेस मुसलमानों से पूछकर ही सरकार बनाती है, किसी और धर्म के लोगों को ध्यान में रखकर नहीं।’

पात्रा ने कहा ‘कुछ राजनीतिक पार्टियां सीएए और एनपीआर को लेकर देश में भ्रम का माहौल बना रही हैं। इसमें खासतौर पर कांग्रेस पार्टी है। इस प्रोटेस्ट की आड़ पर उन्होंने हिन्दुओं को गाली देने का काम किया है।’

मालूम हो कि शिवसेना ने बीजेपी से गठबंधन तोड़ कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार का गठन किया है। सेक्यूलर एजेंडा के तहत चलने वाली कांग्रेस ने कट्टर हिंदुत्व वाली शिवसेना के साथ गठबंधन कर सत्ता हासिल की है। इसमें एनसीपी ने भी अपना समर्थन दिया है। बीजेपी को सत्ता से बाहर करने के लिए तीनों दल एक-दूसरे के साथ आए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ओवैसी के भाई का बयान, ‘मुस्लिमों ने 800 साल मुल्क में की हुक्मरानी, लालकिला भी हमारे आबा-दादा ने बनाया’, BJP ने यूं दिया जवाब
2 VIDEO: डिबेट में BJP प्रवक्ता से भिड़े असदुद्दीन ओवैसी, ‘नामकरण’ को लेकर पूछा- शाह तो फारसी नाम है, क्या बदलेंगे?
3 यूपी की दो मस्‍ज‍िदों में लाउडस्‍पीकर पर बैन बरकरार, हाईकोर्ट ने कहा- कोई मजहब इसकी जरूरत नहीं बताता
ये पढ़ा क्या?
X