ताज़ा खबर
 

CM पद पर अड़ी शिवसेना के नेता की पत्रकार ने की निंदा, पूछा- आपमें और TDP में फर्क नहीं है? एंकर ने ली चुटकी- वह पत्रकारों से आशीर्वाद मांग रहे

पैनलिस्ट ने सवाल किया कि कल तक शिवसेना जिन्हें भ्रष्टाचारी बता रही थी अब वह नए गठबंधन के बाद किस मुंह से जनता को कहेगी कि ये भ्रष्टाचारी नहीं हैं?

Author मुंबई | Published on: November 11, 2019 10:42 PM
टीवी डिबेट में शामिल हुए पैनलिस्ट शिवसेना नेता विजय कृष्णन और वरिष्ठ पत्रकार आलोक मेहता। (image source- youtube/facebook)

महाराष्ट्र में सीएम पद पर अड़ी शिवसेना और भाजपा के संबंधों में खटास आ गई है। भाजपा और शिवसेना के संबंधों में आयी दरार की मीडिया में काफी चर्चा हो रही है। एक टीवी चैनल की डिबेट में भी इस मुद्दे पर चर्चा हुई, जहां शिवसेना नेता को तीखे सवालों का सामना करना पड़ा। बता दें कि आज तक न्यूज चैनल पर प्रसारित हुए एक डिबेट कार्यक्रम में शिवसेना समर्थक विजय कृष्णन और कई अन्य पत्रकार और राजनैतिक विश्लेषक शामिल हुए। कार्यक्रम के दौरान न्यूज एंकर ने शिवसेना नेता से सवाल किया कि क्यों शिवसेना ने भाजपा के साथ 35 साल की दोस्ती तोड़ ली और कुर्सी के लिए एनसीपी और कांग्रेस से हाथ मिला लिया?

इस सवाल के जवाब में शिवसेना नेता विजय कृष्णन ने कहा कि पहले क्या हुआ इस बारे में नहीं सोचना चाहिए। शिवसेना नेता ने भाजपा पर वादा तोड़ने का आरोप लगाया और कहा कि भाजपा के सरकार बनाने से इंकार के बाद शिवसेना ने राज्य में स्थिर सरकार बनाने की चुनौती स्वीकार की है और अभी विचारधारा के लिए समय नहीं है। विजय कृष्णन ने कहा कि आज सुब्रमण्यन स्वामी ने भी कहा है कि भाजपा के घमंड के कारण गठबंधन में दरार आयी है।

एक पैनलिस्ट ने सवाल किया कि कल तक शिवसेना जिन्हें भ्रष्टाचारी बता रही थी अब वह नए गठबंधन के बाद किस मुंह से जनता को कहेगी कि ये भ्रष्टाचारी नहीं हैं? इसके जवाब में कहा शिवसेना नेता ने टीडीपी (तेलगुदेशम पार्टी) का उदाहरण दिया कि किस तरह से टीडीपी भाजपा की आलोचना करती थी, लेकिन 2014 के चुनावों में उसके साथ ही गठबंधन कर सरकार बनायी और फिर 2017 में फिर गठबंधन तोड़ लिया। विजय कृष्णन ने कहा कि अब तो आप स्थिर महाराष्ट्र के लोगों की भलाई के लिए, सरकार बनाने के लिए आशीर्वाद दीजिए।

इस पर पैनलिस्ट ने पूछा कि आपमे और टीडीपी में कोई फर्क नहीं है? वहीं न्यूज एंकर ने शिवसेना नेता के आशीर्वाद मांगने पर तंज कसते हुए कहा कि अब यह पत्रकारों से आशीर्वाद मांग रहे हैं! इस पर एक पैनलिस्ट ने सवाल किया कि बाला साहब ठाकरे हमेशा विचारधारा को अहमियत देते थे। शिवसेना ऐसी तो ना थी पहले? तब शिवसेना नेता ने कहा कि हम रंग के लिए नहीं बल्कि लोगों, किसानों की भलाई के लिए सरकार बना रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 VIDEO: शिवसेना नेता ने डिबेट में छेड़ा ‘बड़े और छोटे भाई’ का मुद्दा, एंकर ने पूछा- ये बात अब तक ख्यालों में थी क्या?
2 AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी पर देशद्रोह का आरोप, Ayodhya Vedict पर दिया था बयान
3 पूर्व SC जज मार्कण्‍डेय काटजू ने लिखा जय श्री राम…लोग लेने लगे मजे
जस्‍ट नाउ
X