ताज़ा खबर
 

Maharashtra Government Formation Highlights: मिलेंगे INC-NCP नेता, Shivsena संग सरकार बनाने पर हो सकती है चर्चा!

Maharashtra Government Formation Updates: महाराष्ट्र में फिलहाल राष्ट्रपति शासन लागू है और कांग्रेस, राकांपा तथा शिवसेना सरकार गठन के रास्ते तलाश रही हैं। शिवसेना नेता ने कहा, "उद्धव ठाकरे 22 नवंबर को मुंबई में पार्टी विधायकों और नेताओं की बैठक को संबोधित करेंगे।"

Author नई दिल्ली | Updated: Nov 20, 2019 7:24:20 pm
Maharashtra Government Formation Live News: महाराष्ट्र में सरकार गठन से जुड़ा हर अपडेट यहां जानिए।

Maharashtra Government Formation News Updates: महाराष्ट्र में सरकार गठन पर अभी भी सस्पेंस कायम है। बातचीत को फाइनल रूप देने के लिए कांग्रेस-एनसीपी के नेता आज मुलाकात करने वाले हैं। उधर, कांग्रेस-एनसीपी के रुख को देखते हुए शिवसेना ने भी 22 नवंबर को अपने सभी विधायकों और वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाई है। शिवसेना के एक नेता ने कहा कि पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे बैठक को संबोधित करेंगे, जिसमें राज्य में सरकार गठन को लेकर पार्टी की भविष्य की रणनीति पर विचार-विमर्श किये जाने की उम्मीद है। सूत्र बता रहे हैं कि अगले सप्ताह महाराष्ट्र में नई सरकार का गठन हो सकता है।

महाराष्ट्र में फिलहाल राष्ट्रपति शासन लागू है और कांग्रेस, राकांपा तथा शिवसेना सरकार गठन के रास्ते तलाश रही हैं। शिवसेना नेता ने कहा, “उद्धव ठाकरे 22 नवंबर को मुंबई में पार्टी विधायकों और नेताओं की बैठक को संबोधित करेंगे।” गौरतलब है कि 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा के 24 अक्टूबर को घोषित चुनाव नतीजों में कोई भी पार्टी पूर्ण बहुमत के लिये जरूरी 145 सीटें हासिल नहीं कर पाई।

भाजपा को 105 सीटों पर जीत मिली जबकि शिवसेना ने 56 सीटों पर जीत हासिल की। वहीं राकांपा को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिलीं। गठबंधन कर चुनाव लड़ी भाजपा और शिवसेना को बहुमत तो मिला लेकिन मुख्यमंत्री पद को लेकर खींचतान के चलते वे मिलकर सरकार नहीं बना पाईं। भाजपा और शिवसेना के अलग-अलग रास्ते अख्तियार करने के बाद शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा के पास पहुंची। हालांकि, कई दौर की बातचीत के बाद भी अभी तक तीनों पार्टियों के बीच सरकार गठन को लेकर अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है

Live Blog

Highlights

    10:35 (IST)20 Nov 2019
    कल दोपहर छट जाएगी सियासी धुंध

    शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने कहा है कि 10-15 दिन से चल रही महाराष्ट्र में सियासी धुंध कल दोपहर तक छंट जाएगी।

    09:50 (IST)20 Nov 2019
    दोपहर में पीएम से मिलेंगे शरद पवार
    09:43 (IST)20 Nov 2019
    पीएम से मिलना मतलब खिचड़ी पकना नहीं!

    शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने पीएम नरेंद्र मोदी से एनसीपी चीफ शरद पवार की मुलाकात पर कहा है कि पीएम से मिलने का मतलब खिचड़ी पकना नहीं होता है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में सरकार गठन की जिम्मेदारी बाकी दलों पर है। हालांकि, उन्होंने कहा कि दिसंबर से पहले बन जाएगी सरकार। बतौर राउत कल दोपहर तक सियासी तस्वीर साफ हो जाएगी।

    09:38 (IST)20 Nov 2019
    संजय राउत का तंज

    शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने ट्वीट कर तंज कसा है। उन्होंने अटल जी की कविता की पंक्तियां लिखी हैं- आहुति बाकी, यज्ञ अधूरा, अपनों के विघ्नों ने घेरा, अंतिम जय का वज्र बनाने, नव दधीचि हड्डियां गलाएं।आओ फिर से दिया जलाएं। अटल बिहारी वाजपेयी

    07:55 (IST)20 Nov 2019
    अगले हफ्ते बन सकती है सरकार

    महाराष्ट्र में सरकार गठन पर अभी भी सस्पेंस बरकरार है। इस बीच सूत्रों से खबर मिली है कि अगले हफ्ते सियासी बादल छंट सकते हैं और राज्य में नई सरकार का गठन हो सकता है। बुधवार को इस दिशा में एनसीपी और कांग्रेस के नेता आपसी बातचीत करेंगे।

    23:48 (IST)19 Nov 2019
    शिवसेना ने बुलाई 22 नवंबर को अपने सभी विधायकों और वरिष्ठ नेताओं की बैठक

    महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर राकांपा और कांग्रेस के रुख को देखते हुए शिवसेना ने 22 नवंबर को अपने सभी विधायकों और वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाई है।शिवसेना के एक नेता ने कहा कि पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे बैठक को संबोधित करेंगे, जिसमें राज्य में सरकार गठन को लेकर पार्टी की भविष्य की रणनीति पर विचार-विमर्श किये जाने की उम्मीद है।

    20:09 (IST)19 Nov 2019
    शिवसेना ने राजग की वैधता पर गंभीर प्रश्न खड़ किए

    भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से अनौपचारिक ढंग से बेदखल होने के दो दिन बाद शिवसेना ने राजग की वैधता पर गंभीर प्रश्न खड़ किए। पार्टी ने जानना चाहा है कि किसने राजग से शिवसेना को बाहर निकालने का फैसला किया? क्या इसके लिए उचित प्रक्रिया अपनाई गई? और, यह कठोर कदम उठाने से पहले क्या कोई कारण बताओ नोटिस जारी किया गया?

    19:51 (IST)19 Nov 2019
    शिवसेना ने 22 नवंबर को अपने सभी विधायकों और वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाई है

    महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर राकांपा और कांग्रेस के रुख को देखते हुए शिवसेना ने 22 नवंबर को अपने सभी विधायकों और वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाई है। शिवसेना के एक नेता ने कहा कि पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे बैठक को संबोधित करेंगे, जिसमें राज्य में सरकार गठन को लेकर पार्टी की भविष्य की रणनीति पर विचार-विमर्श किये जाने की उम्मीद है।

    18:40 (IST)19 Nov 2019
    सावरकर को भारत रत्न मिलना चाहिए

    इस मामले में शिवसेना नेता संजय राउत ने मंगलवार शाम कहा कि हमने हमेशा इस बात का समर्थन किया है कि सावरकर को भारत रत्न मिलना चाहिए। बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने भी सावरकर के लिए मरणोपरांत भारत रत्न की अपनी मांग को दोहराया था। उन्होंने कहा था कि अगर हिंदुत्व के नायक विनायक दामोदर सावरकर आजादी के बाद प्रधानमंत्री बनते तो पाकिस्तान नहीं बनता।

    17:33 (IST)19 Nov 2019
    शिवसेना का सावरकर को भारत रत्न देने के फैसले का समर्थन

    शिवसेना ने भारतीय जनता पार्टी के विनायक दामोदर सावरकर को भारत रत्न देने के फैसले का समर्थन किया है। भाजपा ने महाराष्ट्र चुनाव के अपने घोषणा पत्र में सावरकर को भारत रत्न देने का वादा किया था।

    17:02 (IST)19 Nov 2019
    प्रहलाद जोशी ने कहा

    केंद्रीय संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद जोशी ने रविवार को कहा था कि यह फैसला इसलिये लिया गया है क्योंकि शिवसेना के अरविंद  सावंत ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है और पार्टी महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिये कांग्रेस और राकांपा के संपर्क में है।

    16:28 (IST)19 Nov 2019
    शिवसेना और भाजपा ने मिलकर 161 सीटें जीती हैं

    महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव साथ में लड़ने वाले दोनों दलों ने 288 सदस्यीय सदन में मिलकर 161 सीटें जीती । इसके बाद मुख्यमंत्री पद को लेकर पैदा हुए मतभेदों के बाद से दोनों एक दूसरे पर लगातार हमले बोल रहे हैं । शिवसेना राज्य में गैर भाजपा सरकार बनाने के लिये कांग्रेस और राकांपा के संपर्क में है।

    15:26 (IST)19 Nov 2019
    हमारी चिंता ना करें रामदास अठावले

    बीजेपी की सहयोगी पार्टी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के चीफ रामदास अठावले ने शिवसेना नेता संजय राउत को सरकार बनाने का एक खास फॉर्म्युला सुझाया था। उन्होंने राउत से बीजेपी को 3 साल और शिवसेना को 2 साल के लिए सीएम पद दिए जाने की बात कही थी। अठावले के इस सुझाव पर अब राउत ने जवाब दिया है। राउत ने कहा कि धन्यवाद, उन्हें हमारे बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। राउत ने भरोसा दिलाया कि शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार जल्द ही सत्ता में आएगी।

    14:48 (IST)19 Nov 2019
    शिवसेना ने सामना में लेख के जरिए साधा भाजपा पर निशाना

    शिवसेना ने एक समय अपनी सहयोगी रही भाजपा की तुलना 13वीं सदी के हमलावर मोहम्मद गोरी से की जिसने पृथ्वीराज चौहान की हत्या कर दी थी जबकि चौहान ने कई बार उसकी जान बख्श दी थी। अपने मुखपत्र ‘सामना’ में तल्ख तेवरों में लिखे संपादकीय में शिवसेना ने कहा कि वह भाजपा को उखाड़ फेंकेंगी जिसने उसे चुनौती देने का साहस किया है। उसने यह भी दावा किया कि सत्तारूढ दल के ‘नेता बच्चे थे’ जब शिवसेना के सहयोग से एनडीए बना था।

    13:59 (IST)19 Nov 2019
    शिवसेना का दावा- तीनों पार्टियां हुईं सहमत

    उधर, शिवसेना लगातार इस बात पर जोर दे रही है कि राज्य में अगला मुख्यमंत्री उसका ही होगा। उसने यह दावा भी किया कि कि तीनों पार्टियां साझा न्यूनतम कार्यक्रम पर सहमत हो गई हैं।गौरतलब है कि गत 24 अक्टूबर को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से नयी सरकार को गठन को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है। भाजपा-शिवसेना को पूर्ण बहुमत मिला था, लेकिन मुख्यमंत्री पद की शिवसेना की मांग को लेकर दोनों के रास्ते अलग हो गए। इसके बाद से शिवसेना, रांकापा और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने की कवायद में जुटी हुई है।

    13:53 (IST)19 Nov 2019
    मोदी के बयान से शुरू हुई नई अटकलबाजी

    महाराष्ट्र में राजनीतिक घटनाक्रमों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को राज्यसभा में एनसीपी की तारीफ की। उन्होंने कहा कि एनसीपी और बीजेडी से हमें सीख लेना चाहिए क्योंकि उनके सदस्य कभी आसन के समक्ष नहीं आते। उन्होंने कहा कि इन दोनों दलों से सत्ता पक्ष सहित सभी दलों को सीख लेनी चाहिए कि हम आसन के समक्ष आये बिना भी अपना राजनीतिक विकास कर सकते हैं। गौरतलब है कि गत 24 अक्टूबर को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से नयी सरकार को गठन को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है। भाजपा-शिवसेना को पूर्ण बहुमत मिला था, लेकिन बारी बारी से मुख्यमंत्री पद की शिवसेना की मांग को लेकर दोनों के रास्ते अलग हो गए। इसके बाद से शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने की कवायद में जुटी हुई है।

    13:46 (IST)19 Nov 2019
    संपादकीय के जरिए शिवसेना ने साधा बीजेपी पर निशाना

    शिवसेना ने संपादकीय में लिखा, ‘‘मोहम्मद गोरी ने भारत में इस्लामी शासन की नींव रखी ओर हिंदू शासक पृथ्वीराज चौहान से कई युद्ध लड़े। हार के बाद हमेशा चौहान ने उसे बख्श दिया लेकिन जब गोरी ने युद्ध जीता तो उसे पृथ्वीराज चौहान को मार डाला।’’इसमें भाजपा का नाम लिये बिना कहा गया, ‘‘महाराष्ट्र में भी शिवसेना ऐसे कृतघ्न लोगों को कई बार माफ कर चुकी है लेकिन अब वे हमारी पीठ में छुरा घोंपना चाहते हैं।’’संपादकीय में इस बात को लेकर भी नाराजगी जताई गई कि शिवसेना को संसद के दोनों सदनों में विपक्ष की ओर सीटें दी गई है।

    13:44 (IST)19 Nov 2019
    सोनिया-पवार के मुलाकात पर क्या बोली कांग्रेस

    कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘‘शरद पवार ने आज कांग्रेस अध्यक्ष से मुलाकात की और महाराष्ट्र के राजनीतिक हालात के बारे में उन्हें अवगत कराया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह निर्णय लिया गया कि अगले एक या दो दिनों में राकांपा और कांग्रेस के प्रतिनिधि दिल्ली में फिर मिलेंगे जिसमें आगे के कदमों के बारे में चर्चा होगी।’’ सूत्रों का कहना है कि सोनिया और पवार की इस मुलाकात के बाद महाराष्ट्र में शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस गठबंधन की सरकार के गठन से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर विस्तृत चर्चा हुई। सोनिया और पवार की मुलाकात से पहले महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण और राज्य कांग्रेस के कई अन्य नेताओं ने पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल के साथ चर्चा की। कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि पार्टी के केरल से ताल्लुक रखने वाले नेता महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ जाने के पक्ष में नहीं हैं क्योंकि उनके मुताबिक इससे दक्षिण भारत के इस महत्वपूर्ण राज्य में कांग्रेस को नुकसान हो सकता है।

    13:39 (IST)19 Nov 2019
    क्या कहा शरद पवार ने?

    एनसीपी प्रमुख पवार ने अपने पत्ते नहीं खोले और केवल इतना कहा कि महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर चर्चा नहीं हुई और सोनिया से यह मुलाकात उन्हें सिर्फ मौजूदा राजनीतिक हालात के बारे में जानकारी देने के लिए थी। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि समाजवादी पार्टी और स्वाभिमानी शेतकारी संगठन जैसे उन छोटे दलों के साथ विचार-विमर्श किया जाएगा जिन्होंने कांग्रेस-राकांपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था। पवार की सोनिया से मुलाकात से पहले यह अटकले लगाई जा रही थीं कि दोनों नेताओं के बीच बातचीत के बाद महाराष्ट्र में सरकार गठन की तस्वीर पूरी तरह साफ हो जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। सोनिया से मुलाकात के बाद पवार ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘सरकार गठन के बारे में चर्चा नहीं की। हमने सिर्फ राज्य में राजनीतिक हालात के बारे में चर्चा की।’’ उन्होंने यह भी कहा कि सोनिया के साथ मुलाकात के दौरान साझा न्यूनतम कार्यक्रम को लेकर भी बात नहीं की गई। उन्होंने कहा, ‘‘हम हालात पर नजर रखे हुए हैं। हम दोनों दलों के वरिष्ठ नेताओं से चर्चा करेंगे और उनकी राय लेंगे । इसके आधार पर हम भविष्य को लेकर फैसला करेंगे।’’

    13:33 (IST)19 Nov 2019
    बीजेपी ने बताया, क्यों बदली शिवसेना की सीट

    केंद्रीय संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद जोशी ने रविवार को कहा था कि यह फैसला इसलिये लिया गया है क्योंकि शिवसेना के अरविंद सावंत ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है और पार्टी महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस और एनसीपी के संपर्क में है। वहीं, शिवसेना के मुखपत्र के संपादकीय में कहा गया, ‘‘यह अहंकार की राजनीति के पतन की शुरूआत है । हम वादा करते हैं कि एक दिन हम आपको जड़ से उखाड़ देंगे क्योंकि आपने हमें चुनौती दी है। आज पार्टी (भाजपा) के शीर्षनेता उस समय बच्चे थे जब शिवसेना के समर्थन से भाजपा ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठजोड़ बनाया था।’’ इसमें यह भी कहा गया कि क्या भाजपा ने जम्मू कश्मीर में महबूबा मुफ्ती की पीडीपी या बिहार में नीतिश कुमार के जद (यू) के साथ गठबंधन करने से पहले राजग से पूछा था या जबकि सभी को पता है कि नीतिश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कड़ी आलोचना की थी।

    13:30 (IST)19 Nov 2019
    शिवसेना ने ‘कृतघ्न’ भाजपा की तुलना मोहम्मद गोरी के ‘विश्वासघात’ से की

    शिवसेना ने एक समय अपनी सहयोगी रही भाजपा की तुलना 13वीं सदी के हमलावर मोहम्मद गोरी से की जिसने पृथ्वीराज चौहान की हत्या कर दी थी जबकि चौहान ने कई बार उसकी जान बख्श दी थी। अपने मुखपत्र ‘सामना’ में तल्ख तेवरों में लिखे संपादकीय में शिवसेना ने कहा कि वह भाजपा को उखाड़ फेंकेंगी जिसने उसे चुनौती देने का साहस किया है। उसने यह भी दावा किया कि सत्तारूढ दल के ‘नेता बच्चे थे’ जब शिवसेना के सहयोग से एनडीए बना था। शिवसेना ने संपादकीय में लिखा, ‘‘मोहम्मद गोरी ने भारत में इस्लामी शासन की नींव रखी ओर हिंदू शासक पृथ्वीराज चौहान से कई युद्ध लड़े। हार के बाद हमेशा चौहान ने उसे बख्श दिया लेकिन जब गोरी ने युद्ध जीता तो उसे पृथ्वीराज चौहान को मार डाला।’’इसमें भाजपा का नाम लिये बिना कहा गया, ‘‘महाराष्ट्र में भी शिवसेना ऐसे कृतघ्न लोगों को कई बार माफ कर चुकी है लेकिन अब वे हमारी पीठ में छुरा घोंपना चाहते हैं।’’संपादकीय में इस बात को लेकर भी नाराजगी जताई गई कि शिवसेना को संसद के दोनों सदनों में विपक्ष की ओर सीटें दी गई है।

    13:29 (IST)19 Nov 2019
    कांग्रेस-एनसीपी की मीटिंग टली

    एनसीपी नेता नवाब मलिक ने मंगलवार को कहा कि आज दोनों पार्टियों के बीच होने वाली बैठक कल तक के लिए टाल दी गई है। उनके मुताबिक, इंदिरा गांधी की जयंती की वजह से कांग्रेस नेता विभिन्न कार्यक्रमों में व्यस्त हैं, इस वजह से यह फैसला लिया गया। उधर, शिवसेना अपने मुखपत्र सामना के जरिए लगातार अपने पुराने सहयोगी बीजेपी पर हमले कर रही है। मंगलवार को सामना में प्रकाशित एक आर्टिकल में शिवसेना ने संसद के दोनों सदनों में शिवसेना सदस्यों की एनडीए से अलग बैठने की व्यवस्था करने की आलोचना की।

    13:24 (IST)19 Nov 2019
    राउत को भरोसा, बनेगी सरकार

    महाराष्ट्र की राजनीतिक स्थिति पर चर्चा के लिए एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बीच हुई मुलाकात के कुछ घंटों बाद शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने मराठा दिग्गज से मुलाकात की और भरोसा जताया कि राज्य में बहुत जल्द उनकी पार्टी के नेतृत्व में सरकार बनेगी। पवार के निवास पर उनसे मुलाकात करने के बाद राउत ने संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख से कहा कि उन्हें राज्य के नेताओं के प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करनी चाहिए और उन्हें बेमौसम बरसात के चलते महाराष्ट्र में पैदा हुए कृषि संकट के बारे में सूचित करना चाहिए। महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर कोई बातचीत हुई, इस बारे में पूछे जाने पर उन्होंने सीधे-सीधे जवाब नहीं दिया लेकिन सरकार गठन का भरोसा जताया और कहा, ‘‘राज्य को बहुत जल्द शिवसेना के नेतृत्व में सरकार मिलेगी।’’

    Next Stories
    1 JNU Fees Hike: प्रदर्शन पर उठे सवाल तो भड़क गए कन्हैया कुमार, टीवी डिबेट में यूं दिया जवाब
    2 झारखंड विधानसभा चुनाव के बीच जेएमएम नेता हेमंत सोरेन का दावा- मेरे संपर्क में हैं बीजेपी के दर्जन भर विधायक, सांसद
    3 रेल टिकट बुकिंग के UTS App में गड़बड़ी, गायब है सीनियर सिटिजन को मिलने वाले डिस्काउंट का ऑप्शन
    जस्‍ट नाउ
    X