ताज़ा खबर
 

उद्धव ठाकरे ने शिवसेना विधायकों को आधार कार्ड और PAN के साथ बुलाया, MLAs में सस्पेंस

एनसीपी और कांग्रेस के मौजूदा रुख को देखते हुए उद्धव ठाकरे ने शिवसेना के विधायकों एवं वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाई है। यह बैठक 22 नवंबर को होगी।

Author Updated: November 20, 2019 12:09 PM
शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे। (Express Photo/Amit Chakravarty)

शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के वर्तमान सियासी उठा-पटक से सकते में आ गए हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उद्धव ठाकरे ने शिवसेना विधायकों को आधार कार्ड और PAN के साथ अपने पास बुलाया है। इस बात से खुद शिवसेना के विधायकों में भी सस्पेंस का माहौल बना हुआ है। बताया जा रहा है कि सरकार बनने में देरी की वजह से शिवसेना के खेमें में सबसे ज्यादा खलबली है। ऐसे हालात में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपने विधायकों को दोबारा अज्ञात जगह पर भेजने की तैयारी कर रहे हैं।

दूसरी तरफ एनसपी प्रमुख शरद पवार की स्थिति के आगे कांग्रेस सियासी परिस्थितयों को परखने के बाद ही आगे कदम बढ़ा रही है। गौरतलब है कि कांग्रेस शिवसेना-एनसीपी के गठबंधन को बाहर से समर्थन देना चाहती है, जबकि पवार का कहना है कि जब तक कांग्रेस सरकार में शामिल नहीं होगी, वह सरकार नहीं बनाएंगे। ऐसी स्थिति को शिवसेना भी इस स्टैंड को संदिग्ध नजरिए से देख रही है।

टाइम्स नाउ न्यूज चैनल के मुताबिक शिवसेना के वरिष्ठ नेताओं ने शरद पवार के स्टैंड पर चिंता जाहिर की है। उनका कहना है कि पवार ऐसा क्यों कह रहे हैं कि कांग्रेस और एनसीपी एकजुट हैं। इसका तात्पर्य है कि वे बीजेपी के साथ-साथ शिवसेना के खिलाफ भी अपनी बात कह रहे हैं।

उधर, एनसीपी और कांग्रेस के रुख को देखते हुए शिवसेना ने 22 नवंबर को अपने सभी विधायकों और वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाई है। शिवसेना के एक नेता ने कहा कि पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे बैठक को संबोधित करेंगे, जिसमें राज्य में सरकार गठन को लेकर पार्टी की भविष्य की रणनीति पर विचार-विमर्श किये जाने की उम्मीद है। गौरतलब है कि 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा के 24 अक्टूबर को घोषित चुनाव नतीजों में कोई भी पार्टी पूर्ण बहुमत के लिये जरूरी 145 सीटें हासिल नहीं कर पाई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 IRCTC Indian Railways बोर्ड से 25 फीसदी अफसर बाहर, अभी और पर गिर सकती है गाज
2 कांग्रेसी CM के बिगड़े बोल- हिटलर की बहन जैसी हैं किरण बेदी, तानाशाह की तरह करती हैं काम
3 नीतीश ने बढ़ाई बीजेपी की मुश्किलें, सीएम रघुवर दास के खिलाफ ताल ठोक रहे पुराने साथी के समर्थन में उतरे, कर सकते हैं चुनाव प्रचार
ये पढ़ा क्या?
X