ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र के किसानों ने तेलंगाना सीएम को लिखा खत, बोले- हमें अपने राज्य में कर लो शामिल

तेलंगाना की चंद्रशेखर राव सरकार ने हाल ही में किसानों के लिए एक योजना रायतु बंधु स्कीम (किसानों का दोस्त) शुरू की है। किसानों का दोस्त योजना के तहत सरकार किसानों को प्रति हेक्टर हर साल 8000 रुपये की सरकारी सहायता उपलब्ध करा रही है।

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव

महाराष्ट्र के किसानों ने तेलंगाना के सीएम को ख़त लिखकर कहा है कि हमें तेलंगाना में शामिल कर लो। जी हां, महाराष्ट्र के यह किसान तेलंगाना राज्य में शामिल होने की इच्छा रखते हैं। दरअसल नांदेड़ जिले के बबली गांव तेलंगाना बॉर्डर के बिल्कुल पास स्थित है। तेलंगाना की चंद्रशेखर राव सरकार ने हाल ही में किसानों के लिए एक योजना रायतु बंधु स्कीम (किसानों का दोस्त) शुरू की है। किसानों का दोस्त योजना के तहत सरकार किसानों को प्रति हेक्टर हर साल 8000 रुपये की सरकारी सहायता उपलब्ध करा रही है।

इतना ही नहीं रबी की फसल के लिए अलग से 4000 रुपये प्रति हेक्टेयर की मदद भी की जा रही है। यानी तेलंगाना सरकार साल में दो बार किसानों को वित्तीय मदद पहुंचा रही है। तेलंगाना सरकार के इस स्कीम से प्रदेश के करीब 58 लाख किसानों को फायदा पहुंचने की उम्मीद है। आपको बता दें कि तेलंगाना की सरकार इस वक्त राज्य के किसानों को कई सारी सुविधाएं दे रही है। इसके तहत सरकार ने राज्य के किसानों का लोन भी माफ किया है साथ ही 24 घंटे मुफ्त बिजली और 5 लाख रुपये की बीमा का लाभ भी उन्हें दिया जा रहा है। तेलंगाना सरकार ने जो योजना चलाई है यह एक इन्वेस्टमेंट स्कीम है जो भारत के किसी राज्य में संभवत: पहली बार लागू की गई है।

महाराष्ट्र के धर्माबाद तुलका के बबली गांव के किसान तेलंगाना सरकार के इस स्कीम से काफी प्रभावित हैं। गांव की सरपंच ने हाल ही में तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) सांसद कविता से मुलाकात भी की है। अब बबली गांव के किसानों ने तेलंगाना के सीएम से अपील की है कि वो उनके गांव को तेलंगाना में शामिल कर लें ताकि उन्हें भी किसानों का दोस्त योजना का लाभ मिल सके।आपको बता दें कि देश भर में किसानों की स्थिति को लेकर हमेशा बहस होती रहती है। महराष्ट्र में किसानों की स्थिति एक गंभीर समस्या है। कर्ज में डूबे किसानों के आत्महत्या करने से जुड़ी खबरें भी यहां आती रहती हैं। ऐसे में अब महाराष्ट्र के किसानों की यह अनूठी अपील इस वक्त देश भर में चर्चे में है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App