Maharashtra doctors strike: Bombay HC orders doctors to resume duties and Govt to Provide security - महाराष्ट्र में खत्म हुई डॉक्टरों की हड़ताल, हाईकोर्ट ने कहा- एक मरीज के साथ दो ही लोग आए अस्पताल - Jansatta
ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र में डॉक्टरों की हड़ताल पर हाईकोर्ट ने कहा- एक मरीज के साथ दो ही लोग आएं अस्पताल, डॉक्टर्स को मिले सुरक्षा

कोर्ट ने राज्य सरकार से डॉक्टरों को पूरी सुरक्षा मुहैया कराने के भी आदेश दिए

मुंबई में डॉक्टरों की हड़ताल के दौरान की तस्वीर (PTI Photo)

महाराष्ट्र में पिछले पांच दिनों से चल रही डॉक्टरों की हड़ताल पर बॉम्बे हाई कोर्ट ने आदेश जारी किया है। कोर्ट ने हड़ताल कर रहे डॉक्टरों को तुरंत काम पर लौटने को कहा और राज्य सरकार से डॉक्टरों को पूरी सुरक्षा मुहैया कराने के भी आदेश दिए। इसके साथ ही कोर्ट ने कहा कि एक मरीज के साथ अधितकम दो ही लोग अस्पताल आ सकते हैं। उच्च न्यायालय ने डॉक्टरों की हड़ताल के मुद्दे पर कहा कि रेजीडेंट डॉक्टर महाराष्ट्र सरकार के साथ मिलकर मुद्दों को सौहार्दपूर्ण ढंग से निपटा सकते हैं। कोर्ट ने कहा, “राज्य सरकार सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों को सुरक्षा मुहैया कराए, ताकि वह निडर होकर काम कर सकें।” कोर्ट अब इस मामले में 15 दिन बाद सुनवाई करेगा।

राज्य के करीब 4,000 डॉक्टर सोमवार से हड़ताल पर हैं। सरकारी अस्पतालों में मरीजों के रिश्तेदारों द्वारा उन पर हमले किए जाने की घटनाओं के मद्देनजर डॉक्टरों की मांग है कि उनकी सुरक्षा बढ़ाई जाए। मुख्य न्यायाधीश मंजुला चेल्लूर और न्यायमूर्ति जी एस कुलकर्णी की खंड पीठ ने प्रदर्शन कर रहे डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने वाली अफाक मांडवीय की याचिका की सुनवाई करते हुए यह फैसला सुनाया।

वहीं, महाराष्ट्र एसोसिएशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स (MARD) ने कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया और कहा कि वह ड्यूटी पर लौटने को तैयार हैं, बशर्ते उनकी सुरक्षा सुनिश्चित की जाए। बॉम्बे हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस ने आदेश किया कि अगर वह (डॉक्टर्स) काम पर लौट जाते हैं तो उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। इसके अलावा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी डॉक्टरों से हड़ताल खत्म करने की अपील की। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम डॉक्टरों पर हमला करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करेंगे, साथ ही डॉक्टरों को सुरक्षा भी देंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App