ताज़ा खबर
 

CM फडणवीस ने 18 करोड़ खर्च कर चमका दिया गोद लिया गांव, पर नौकरियों को लेकर शिकायत कर रहे लोग!

गांव में ग्राम पंचायत का नया शानदार ऑफिस, एक सांस्कृतिक केन्द्र, नया जिला परिषद स्कूल, एक वाटर एटीएम, पांच एकड़ में फैला वन क्षेत्र, सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट, फिल्टर वाटर की सप्लाई, ड्रेनेज सिस्टम आदि सुविधाएं शामिल हैं।

Author मुंबई | Published on: October 19, 2019 5:08 PM
मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने नागपुर जिले के एक गांव फेटरी को ‘गोद’ लिया था। सीएम फडणवीस ने इस गांव में जमकर विकास कार्य कराया है और गांव को पूरी तरह से चमका दिया है। बता दें कि फेटरी गांव में सरकार ने विकास कार्यों पर करीब 18 करोड़ रुपए खर्च किए हैं। इन पैसों से गांव में ग्राम पंचायत का नया शानदार ऑफिस, एक सांस्कृतिक केन्द्र, नया जिला परिषद स्कूल, एक वाटर एटीएम, पांच एकड़ में फैला वन क्षेत्र, सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट, फिल्टर वाटर की सप्लाई, ड्रेनेज सिस्टम आदि सुविधाएं शामिल हैं।

हालांकि यहां एक समस्या अभी भी बनी हुई है, जिसके प्रति लोगों में नाराजगी है और वो है रोजगार की समस्या। गांव के युवा नौकरी ना मिलने से परेशान हैं। दीप्ती लक्ष्मणराव लांगडे एक इंजीनियरिंग स्नातक हैं। उनका कहना है कि तीन साल पहले उनकी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी हो चुकी है, लेकिन अभी तक उन्हें नौकरी नहीं मिली है। वह कई प्राइवेट कंपनियों और सरकारी नौकरियों को लिए भी आवेदन कर चुकी है, लेकिन अभी तक कोई नौकरी नहीं मिल सकी है।

गांव के करीब 60-70 युवा बेरोजगार हैं। युवाओं का कहना है कि मौजूदा चुनाव में उनकी सरकार से मांग है कि बेरोजगारी की समस्या दूर हो। बता दें कि फेटरी गांव हिंगना विधानसभा में आता है और आज एक एजुकेशन हब बन चुका है। गांव में कई प्राइवेट और सरकारी शैक्षिणिक संस्थान हैं।

साल 2011 में फेटरी गांव की जनसंख्या 2700 थी, जो कि आज 4500 हो चुकी है। ग्राम पंचायत को पानी और प्रॉपर्टी टैक्स के बदले सालाना 27 लाख रुपए का राजस्व मिलता है। गांव की सरपंच धनश्री थोमने एनसीपी की नेता हैं। सरपंच के पति मुकेश थोमने का कहना है कि ग्राम पंचायत में भले ही एनसीपी चुनाव जीती है, लेकिन मुख्यमंत्री ने कभी भी फेटरी के विकास में पार्टी राजनीति को आड़े नहीं आने दिया है।

गांव में 25 लाख रुपए की लागत से एक लाइब्रेरी का निर्माण कराया गया है। लेकिन नौकरियों को लेकर गांव के युवाओं में काफी अनिश्चित्ता का माहौल है। बता दें कि हिंगना में भाजपा के मौजूदा एमएलए समीर मेघे और एनसीपी के विजय घोरमेड के बीच मुकाबला है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बीजेपी अध्यक्ष के हेलिकॉप्टर की नासिक में आपात लैंडिंग, चुनावी सभा में जा रहे थे अमित शाह
2 मंदिर को लेकर कराई गई कमलेश तिवारी की हत्या? मां ने लगाया आरोप, बोलीं- बदला लूंगी
3 किताब में दावा: जनरल करियप्पा को कमांडर इन चीफ नहीं बनाना चाहते थे नेहरू, कई आर्मी चीफ से नहीं थे रिश्ते अच्छे