ताज़ा खबर
 

बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगाने से नहीं मिलेगा चुनाव का टिकट: सीएम फड़नवीस

बारामती क्षेत्र में राकांपा कार्यकर्ताओं के विरोध पर टिप्पणी करते हुए फडणवीस ने कहा कि शरद पवार के गढ़ में क्या अनुच्छेद 370 लगा हुआ है जो कोई दूसरी पार्टी यहां रैली नहीं कर सकती।

Author September 15, 2019 10:18 PM
Devendra Fadnavis, Maharashtra CM, Maharashtra election, Maharashtra assembly, rajnath singh, shiv sena, aditya thakre, bjp shiv sena allianceसीएम देवेंद्र फडणवीस। फोटो: ANI

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने रविवार को कहा कि ‘महाजनादेश यात्रा’ में विशाल जनसमर्थन को देखते हुए उन्हें उम्मीद है कि भाजपा को आने वाले राज्य विधानसभा चुनाव में ‘अप्रत्याशित’ जीत हासिल होगी। फडणवीस ने कहा कि अब तक 3,000 किलोमीटर की यात्रा हुई है और वह राज्य के 288 विधानसभा क्षेत्रों में से 100 विधानसभा क्षेत्रों में पहुंचे हैं।

उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘जहां भी जाते हैं लोग यात्रा का स्वागत कर रहे हैं और अच्छी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। लोगों के समर्थन को देखते हुए हम आश्वस्त हैं कि हमें विधानसभा चुनाव में अप्रत्याशित जीत हासिल होगी।’’ फडणवीस ने शनिवार को पुणे जिले में कई तहसील का दौरा किया। यह ‘महाजनादेश यात्रा’ के तीसरी चरण की यात्रा है। बारामती क्षेत्र में राकांपा कार्यकर्ताओं के विरोध पर टिप्पणी करते हुए फडणवीस ने कहा कि शरद पवार के गढ़ में क्या अनुच्छेद 370 लगा हुआ है जो कोई दूसरी पार्टी यहां रैली नहीं कर सकती।

मुख्यमंत्री की यह टिप्पणी उस समय आई जब संवददातों ने उनसे राकांपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस द्वारा किए गए कथित लाठीचार्ज के बारे में सवाल किया। दरअसल राकांपा कार्यकर्ताओं ने फडणवीस के अभियान के दौरान नारे लगाए थे। हालांकि पुलिस ने पहले लाठीचार्ज का इस्तेमाल करने से इनकार किया। फड­णवीस ने कहा, ‘‘मेरा पहला सवाल विरोध को लेकर यह है कि वहां कितने लोग थे…वहां सिर्फ सात लोग थे और क्या पुलिस को सात लोगों के लिए लाठीचार्ज करने की जरूरत है?’’ उन्होंने कहा, ‘‘ समस्या क्या है…हम लोकतंत्र में रह रहे हैं और यहां एक लोकतांत्रिक प्रणाली है। सभी लोगों को सभाएं करने का अधिकार है और लेकिन यह क्या है कि मुख्यमंत्री को राकांपा क्षेत्र में नहीं आना चाहिए और सभा नहीं करनी चाहिए।’’

उनसे जब यात्रा वाले रास्तों में बड़े-बड़े हॉर्डिंग के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अगर पार्टी कार्यकर्ताओं को लगता है कि इस तरह का बैनर लगाने से उन्हें टिकट मिलेगा तो ऐसा नहीं है। वहीं मुंबई के आरे कालोनी में मेट्रो कार शेड बनाने के लिए पेड़ों को काटे जाने के संबंध में पूछे गए एक सवाल पर उन्होंने कहा कि यह सही है कि उस क्षेत्र में पेड़ हैं लेकिन यह न तो जैव विविधता वाले दायरे में आता है और न ही वन भूमि में। उन्होंने कहा, ‘‘ जापान इस परियोजना में निवेश कर रहा है और अगर परियोजना सतत नहीं होती तो वह कभी निवेश नहीं करते।’’ मुंबई नगर निगम ने हाल ही में आरे कालोनी में एक मेट्रो कार शेड बनाने के लिए 2,600 पेड़ काटे जाने की अनुमति दी है। पर्यावरणविद प्रस्तावित पेड़ काटे जाने का विरोध कर रहे हैं। कई बॉलीवुड हस्तियां और नेता इसका विरोध कर रहे हैं।

Next Stories
1 डिबेट में बीजेपी प्रवक्ता से उलझे कश्मीरी मुस्लिम पैनलिस्ट, पाकिस्तान बॉर्डर पर साथ चलने की दी चुनौती
2 सोनिया गांधी का ‘ऑपरेशन क्लीन’, 15 साल के अंदर सांसद रहे कांग्रेसियों का मंगवाया डेटा, दे सकती हैं अहम जिम्मेदारी, मिल रहे संकेत
3 ‘मुस्लिमों के मालिकाना हक से ऊपर है हिन्दुओं का मौलिक अधिकार’, BJP MP ने बताया- कैसे हिन्दुओं के पक्ष में आएगा अयोध्या पर फैसला?
ये पढ़ा क्या?
X