ताज़ा खबर
 

CAA, NRC विवादः CM उद्धव के घर के बाहर पोस्टर- घुसपैठियों पर गंभीर हैं तो पहले खाली कराएं बांद्रा

राज ठाकरे ने नौ फरवरी को मुंबई में सीएए तथा एनआरसी के समर्थन में रैली करने की घोषणा की है। राज ठाकरे की प्रस्तावित रैली को लेकर मुंबई के कई जगहों पर बैनर पोस्टर लग रहे हैं।

मातोश्री के बाहर लगा पोस्टर। (Photo: ANI)

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पूरे देश में विवाद हो रहा है। एक वर्ग इसके समर्थन में है तो दूसरा वर्ग विरोध जता रहा है। महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में सीएम उद्धव ठाकरे के घर मातोश्री के सामने मनसे ने एक पोस्टर लगा कर कहा कि यदि वे घुसपैठियों पर गंभीर हैं तो पहले बांद्रा खाली कराएं। पोस्टर पर लिखा है, “आदरणीय मुख्यमंत्री, यदि आप अवैध घुसपैठियों के खिलाफ कार्रवाई के बारे में गंभीर हैं, तो अपने बांद्रा इलाके को साफ करके शुरुआत करें, जो घुसपैठियों से भरा हुआ है।”

दरअसल उद्धव ठाकरे ने बीते बुधवार को कहा था कि संशोधित नागरिकता कानून (CAA) से डरने की कोई जरूरत नहीं है लेकिन साथ ही कहा कि उनकी सरकार प्रस्तावित राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) को लागू नहीं होने देगी क्योंकि इसका ‘असर सभी धर्मों पर’ पड़ेगा। मुख्यमंत्री ने पार्टी के मुखपत्र ‘सामना में अपने तीसरे साक्षात्कार में कहा कि बांग्लादेशी और पाकिस्तानी शरणार्थियों को देश से बाहर निकालना शिवसेना की पुरानी मांग रही है।

अपने चचेरे भाई और मनसे प्रमुख राज ठाकरे पर तीखा हमला करते हुए शिवसेना अध्यक्ष ने कहा था कि एनआरसी वास्तविकता नहीं है और इसके समर्थन या इसके खिलाफ ‘‘मोर्चे’’ की जरूरत नहीं है। वहीं राज ठाकरे ने नौ फरवरी को मुंबई में सीएए तथा एनआरसी के समर्थन में रैली करने की घोषणा की है। वहीं भाजपा ने ठाकरे के साक्षात्कार पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि वह (उद्धव) खुलकर सीएए का समर्थन करने की घोषणा करें।

नौ फरवरी को राज ठाकरे की प्रस्तावित रैली को लेकर मुंबई के कई जगहों पर बैनर पोस्टर लग रहे हैं। एक पोस्टर की तस्वीर को ट्वीट करते हुए टि्वटर यूजर @Aryanwarlord ने लिखा, “ऐसे बैनर मुंबई में लगे हैं। राज ठाकरे उस समय की गूंज को वापस ला रहे हैं, जब बाला साहब ठाकरे प्रवासियों के खिलाफ महाराष्ट्र में रैलियां किया करते थे। केवल इस बार उनके भतीजे ने हिन्दुस्तान के सभी नागरिकों का स्वागत करते हुए बांग्लादेशी और पाकिस्तानियों को बाहर रहने की चेतावनी दे रहे हैं।” टि्वटर यूजर @maheshs43857483 ने लिखा, “ये बालासाहेब के असली वारिस हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 प्रवेश वर्मा पर EC का ऐक्शन बेअसर! बोले- OSD तो नाम का है, मालिक सिसोदिया हैं; ‘घूस’ के पैसों से शाहीन बाग में पहुंचा रहे बिरयानी
2 दिल्ली चुनावः PFI कार्यकर्ताओं से AAP, INC का है कनेक्शन, मुख्यालय शाहीन बाग में- बोले ED अधिकारी
3 Kerala Budget 2020 Highlights: बजट स्पीच के कवर पर बापू की हत्या का चित्र, विवाद पर बोले FM- याद रहे किसने किया गांधी का कत्ल, इसलिए रखी तस्वीर
ये पढ़ा क्या?
X