ताज़ा खबर
 

MNS को झटका, जेपी नड्डा बोले महाराष्ट्र में नहीं करेंगे किसी से गठबंधन, लड़ाई होगी बीजेपी बनाम ऑल; लोग बोले- 2024 में हो जाएंगे साफ

उन्होंने कहा कि पिछले साल अक्टूबर में राज्य विधानसभा चुनाव में जनादेश मिलने के बावजूद, कुछ ‘‘स्वार्थी विचार’’ वालों ने पार्टी से राहें जुदा कर लीं और सत्ता में आने के लिए विपक्ष से हाथ मिला लिया।

भाजपा अध्यक्ष ने भरोसा जताया कि उनकी पार्टी अपने दम पर महाराष्ट्र विधानसभा का अगला चुनाव जीतेगी। (फोटो-ANI)

राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कार्यकर्ता मुंबई में अवैध पाकिस्तानी और बांग्लादेशी मुसलमानों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर रहे हैं। बीजेपी ने मनसे के इस कदम की तारीफ की जिसके बाद कयास लगाए जा रहे थे कि बीजेपी और मनसे का गठबंधन हो सकता है लेकिन अब मनसे को झटका लगा है। दरअसल, नवी मुंबई उपनगर के नेरुल में प्रदेश भाजपा के सम्मेलन को संबोधित करते हुए नड्डा ने कहा कि पार्टी को भविष्य में होने वाले चुनावों में अकेले लड़ने के लिए तैयार होने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि पिछले साल अक्टूबर में राज्य विधानसभा चुनाव में जनादेश मिलने के बावजूद, कुछ ‘‘स्वार्थी विचार’’ वालों ने पार्टी से राहें जुदा कर लीं और सत्ता में आने के लिए विपक्ष से हाथ मिला लिया। हालांकि भाजपा अध्यक्ष ने भरोसा जताया कि उनकी पार्टी अपने दम पर महाराष्ट्र विधानसभा का अगला चुनाव जीतेगी।

बीजेपी के इस फैसले को लेकर लोगों ने सोशल मीडिया पर बीजेपी को ट्रोल किया है। एक शख्स ने लिखा है कि 2024 तक साफ हो जाओगे। वहीं एक और शख्स ने लिखा है कि पहले बंगाल और बिहार बचा लो, महाराष्ट्र की बाद में सोच लेना।अनुराग ठाकुर और योगी आदित्यनाथ के लिए नए नारों की सोच लो, जो दिल्ली से भी ज्यादा हिन्दू मुस्लिम नफरत पैदा करे।विकास, रोजगार और अर्थव्यवस्था के नाम पर तुमको भी नहीं मिलेगा।

नड्डा ने किसी पार्टी या व्यक्ति का नाम लिए बिना कहा, ‘‘महाराष्ट्र सरकार अप्राकृतिक एवं अवास्तविक है। कुछ लोगों ने अपने स्वार्थ के लिए भाजपा का साथ छोड़ दिया।’’उन्होंने कहा कि भाजपा को भविष्य में होने वाले सभी चुनावों को अपने बूते लड़ने के लिए तैयार रहना चाहिए। पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए नड्डा ने कहा, ‘‘आपको ‘भाजपा बनाम सब’ के लिए तैयार रहना चाहिए।’’

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री पद साझा करने के मुद्दे पर ठाकरे नीत शिवसेना के संबंध तोड़ लेने के बाद भाजपा सरकार नहीं बना पाई। बाद में शिवसेना ने वैचारिक रूप से अलग राकांपा और कांग्रेस के साथ गठबंधन कर राज्य में महाराष्ट्र विकास अघाडी सरकार बनाई।

Next Stories
1 हेड कॉन्स्टेबल ने बहस होने पर पत्नी को मार दी गोली, ससुराल के तीन लोगों को भी AK-47 राइफल से भूना, फिर थाने जा किया सरेंडर
2 संसद सत्र छोड़ दिल्ली में रैली कर रहे थे अमित शाह, जनता ने बीजेपी के ‘राम’ को छोड़ ‘हनुमान’ को जिता दिया, शिवसेना का तंज
3 केजरीवाल कैबिनेट का जातीय गणित: चार सवर्ण, एक-एक OBC, SC और मुस्लिम, पर आठ महिलाओं में से एक को भी नहीं बनाया मंत्री
ये पढ़ा क्या?
X