ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: कल 4,119 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर

मुंबई। महाराष्ट्र में कल 288 सदस्यीय विधानसभा के लिये मतदान होगा जिसमेंं पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण सहित 4,119 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होना है । चुनाव अधिकारियों ने बताया कि मतदान सुबह सात वजह से शुरू होकर शाम छह बजे तक चलेगा। मतगणना 19 अक्तूबर को होगी।संबंधित खबरेंCOVID-19LockdownPHOTOSPM फसल बीमा योजना में हो रहा […]

Author Published on: October 14, 2014 5:35 PM

मुंबई। महाराष्ट्र में कल 288 सदस्यीय विधानसभा के लिये मतदान होगा जिसमेंं पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण सहित 4,119 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होना है ।

चुनाव अधिकारियों ने बताया कि मतदान सुबह सात वजह से शुरू होकर शाम छह बजे तक चलेगा। मतगणना 19 अक्तूबर को होगी।

इन चुनावों में किस्मत आजमाने वाले प्रमुख नेताओं में पूर्व उप मुख्यमंत्री अजीत पवार और राकांपा के पूर्व मंत्री आर आर पाटिल तथा छगन भुजबल शामिल हैं। इसके अतिरिक्त देवेंद्र फड़नवीस, एकनाथ खडसे, भाजपा के विनोद तावड़े और पंकजा मुंडे, सुभाष देसाई, शिवसेना के सुरेश जैन तथा दीपक केसरकर के साथ कांग्रेस के पूर्व मंत्री पतंगराव कदम, शिवाजीराव मोघे और राजेंद्र दर्डा शामिल हैं। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के बाला नंदगांवकर भी चुनाव मैदान में हैं।

चुनाव मैदान में डटे 4,119 प्रत्याशियों में से 3,843 पुरूष और 276 महिलाएं हैं। मुंबई की 36 सीटों को मिलाकर कुल 288 सीटों में से 234 सामान्य श्रेणी, 29 अनूसूचित जाति श्रेणी और 25 अनुसूचित जनजाति श्रेणी की सीटें हैं।

महाराष्ट्र में लगभग 83 ऐसे विधानसभा क्षेत्र हैं जहां पर 15 से ज्यादा प्रत्याशी हैं और एक सीट पर तो 32 प्रत्याशी हैं।

कुल 8,35,38,114 मतदाताओं में से 4,40,26,401 पुरूष और 3,93,63,011 महिला मतदाता हैं। अन्य की श्रेणी में 984 और 1,47,718 सैन्यकर्मी मतदाता हैं ।

नांदेड़ दक्षिण सीट से सबसे अधिक 39 प्रत्याशी मैदान में हैं जबकि अकोले और गुहागर से सबसे कम पांच-पांच प्रत्याशी हैं।

भाजपा ने 280, बसपा ने 260, भाकपा ने 34, माकपा ने 19, कांग्रेस ने 287, राकांपा ने 278, शिवसेना ने 282 और मनसे ने 219 प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है।

मान्यता प्राप्त क्षेत्रीय और राष्ट्रीय दलों के अलावा पंजीकृत पार्टियों के 761 प्रत्याशी चुनाव में खड़े हैं। 1,699 निर्दलीय प्रत्याशी भी चुनाव में डटे हैं।
पुणे जिले में 4,84,080 मतदाताओं के साथ चिंचवाड़ सबसे बड़ा विधानसभा क्षेत्र और 1,96,859 मतदाताओं के साथ मुंबई का वडाला सबसे छोटा विधानसभा क्षेत्र है।

चुनाव अधिकारियों ने बताया कि चुनाव आयोग ने 135 सामान्य पर्यवेक्षक, 112 व्यय पर्यवेक्षक, पांच पुलिस पर्यवेक्षक और 18 जागरूकता पर्यवेक्षकों को तैनात किया है।

मतदान केंद्रों की संख्या 91,376 है और साथ में 5,84,617 मतदान कर्मियों को तैनात किया गया है।

महाराष्ट्र चुनावों का धुंआधार प्रचार कल शांत हो गया। 288 सदस्यों की विधानसभा को चुनने के लिए राज्य में 25 साल बाद पंचकोणीय मुकाबला है।
लंबे समय से चले आ रहे राजनीतिक गठबंधनों में दरार पड़ने के बाद इन बहुचर्चित चुनावों में चार बड़े दल कांग्रेस, राकांपा, भाजपा और शिवसेना अकेले के दम पर अपनी किस्मत आजमा रहे हैं और इनके बीच राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ‘एक्स फैक्टर’ के रूप में उभरने की कोशिश कर रही है।

पांच महीने पहले हुए लोकसभा चुनावों की तरह महाराष्ट्र के विधानसभा चुनावों में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही छाए रहे। विरोधियों के हमलों के बावजूद उन्होंने ताबड़तोड़ रैलियां की और अपने निजी करिश्मा के आधार पर भाजपा को पहली बार राज्य में सत्ता के प्रमुख दावेदार के रूप में प्रस्तुत किया, वह भी अपने पूर्व सहयोगी शिवसेना के बिना।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: शिवसेना ने ‘मरे हुए सांप’ से की कांग्रेस व राकांपा की तुलना
2 चक्रवात ‘हुदहुद’ से मची तबाही के बाद विशाखापत्तनम में जरूरी वस्तुओं की कमी
3 महाराष्ट्र-हरियाणा विधानसभा चुनाव: ‘महासंग्राम’ की तैयारियां पूरी  
ये पढ़ा क्या?
X