ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र: कलाकारों ने लौटाए मुख्यमंत्री राहत कोष से मिले 8 लाख रुपए

बैंकॉक के एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेने जा रही सरकारी कर्मचारियों की टीम को मुख्यमंत्री राहत कोष से दिए गए आठ लाख रुपए के मामले ने जब तूल पकड़ा तो..

Author मुंबई | Published on: October 30, 2015 1:23 AM

बैंकॉक के एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेने जा रही सरकारी कर्मचारियों की टीम को मुख्यमंत्री राहत कोष से दिए गए आठ लाख रुपए के मामले ने जब तूल पकड़ा तो बुधवार को इस टीम से जुड़े कलाकारों ने रुपए वापस कर दिए। सूबे के 14 हजार गांवों में अकाल की स्थिति है। इसके बावजूद विदेश दौरे के नाम पर मुख्यमंत्री राहत कोष से की गई आठ लाख रुपए की मदद की सभी दलों ने जमकर आलोचना की थी। बढ़ती आलोचना के मद्देनजर कलाकारों ने पैसे लौटाने का निर्णय किया।

अखिल भारतीय सांस्कृतिक संघ और ग्लोबल काउंसिल ऑफ आर्ट एंड कल्चर संस्थाओं की ओर से इसी साल दिसंबर के महीने में पांचवें सांस्कृतिक ओलंपियाड का आयोजन किया जा रहा है। महाराष्ट्र सरकार के विभिन्न विभागों के कर्मचारियों का 15 सदस्यीय दल 26 से 30 दिसंबर के बीच होनेवाले इस आयोजन में भाग लेने जानेवाला है। चूंकि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस सचिवालय जिमखाना के प्रमुख हैं लिहाजा उन्होंने जिमखाना को आठ लाख रुपए की मदद की थी।

सूचना अधिकार कार्यकर्ता अनिल गलगली ने आरटीआइ के जरिये इन आठ लाख रुपयों की मदद के बारे में जानकारी मांगी थी। जानकारी से पता चला कि ये आठ लाख रुपए मुख्यमंत्री राहत कोष से 25 अगस्त 2015 को जारी किए गए थे। गलगली ने इसे अनुचित बताते हुए आठ लाख रुपए वापस किए जाने या मुख्यमंत्री द्वारा निजी रूप से भरे जाने की मांग की थी।

हालांकि मुख्यमंत्री ने इस पर सफाई देते हुए कहा था कि मुख्यमंत्री राहत कोष की रकम का एक हिस्सा सांस्कृतिक कार्यों के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इस मुद्दे को लेकर सभी राजनैतिक दलों ने आलोचना के सुर तेज किए तो बुधवार को इन कर्मचारियों ने सचिवालय जिमखाना को यह रकम लौटा दी। हालांकि जिमखाना तब तक कलाकारों के लिए हवाई टिकटें और होटल की बुकिंग कर चुका था।

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करेंगूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
जस्‍ट नाउ
X