scorecardresearch

अमरावती मर्डर: उमेश कोल्हे हत्याकांड के आरोपी इरफान शेख पर रेप का केस भी है दर्ज, 19 दिन जेल में रह चुका है

इरफान पर रेप केस के अलावा पीड़िता को जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप है। आरोप के मुताबिक वह पीड़िता को सब्जी मंडी चौराहे से दूसरे आरोपी के साथ जोर जबरदस्ती से उठा ले गया था।

irfan| amravati incident| maharashtra|
आरोपी इरफान (Express file photo)

महाराष्ट्र के अमरावती में केमिस्ट उमेश कोल्हे की हत्या मामले के मास्टरमाइंड इरफान शेख को लेकर बड़ी जानकारी सामने आई है। उसपर इंदौर में रेप का केस भी दर्ज है। बता दें कि अमरावती मर्डर केस को 21 जून 2022 को अंजाम दिया गया था। जिसमें अमित मेडिकल स्टोर चलाने वाले उमेश कोल्हे की हत्या कर दी गई थी। इस मामले में इरफान शेख मुख्य आरोपी है।

बता दें कि इरफान का जुर्म की दुनिया से पुराना रिश्ता होने की जानकारी सामने आई है। जानकारी के मुताबिक अमरावती हत्याकांड के मुख्य आरोपी के खिलाफ इंदौर में एक रेप का मामला भी दर्ज है। इसके चलते आरोपी इरफान 19 दिन तक इंदौर की जेल में रहा था। इसमें इरफान पर रेप केस के अलावा पीड़िता को जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप है। आरोप के मुताबिक वह पीड़िता को सब्जी मंडी चौराहे से दूसरे आरोपी के साथ जोर जबरदस्ती से उठा ले गया था।

वहीं बुधवार को अमरावती हत्याकांड में उमेश कोल्हे की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आई है। रिपोर्ट के मुताबिक उमेश कोल्हे की गर्दन के बाएं हिस्से पर धारदार हथियार से तेज हमला किया गया था। इससे उमेश की गर्दन पर 8.2 CM गहरा घाव हुआ था। हमले से उमेश कोल्हे की कई नसे डैमेज हो गई थीं। रिपोर्ट में कोल्हे के बाएं पैर पर कटा-फटा सा घाव पाया गया है।

गौरतलब है कि आरोपी इरफान ने इस हत्या को अंजाम देने के लिए सबसे पहले मौलाना मुदस्सिर अहमद को अपने साथ लिया था। उसने उमेश कोल्हे की रेकी करने के लिए मुदस्सिर को काम पर लगाया था। इसके बाद इरफान ने इस काम में शाहरुख पठान, अब्दुल तौफीक, शोएब खान और आतिब रशीद को भी शामिल किया। बता दें कि ये सारे दिहाड़ी मजदूरी का काम करते थे। पूरी प्लानिंग के साथ 21 जून की रात आतिब और शाहरुख ने उमेश की हत्या की थी।

वहीं उमेश कोल्हे की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से साफ है कि उन्हें बड़ी बेरहमी से मारा गया था। गौरतलब है कि 54 वर्षीय केमिस्ट उमेश प्रहलादराव कोल्हे की हत्या 21 जून को रात 10 बजे से 10.30 बजे के बीच उस वक्त की गई थी, जब वो अपनी मेडिकल शॉप से घर के लिए जा रहे थे। दरअसल उमेश कोल्हे ने व्हाट्सएप पर नूपुर शर्मा का समर्थन करते हुए एक सोशल मीडिया पोस्ट फॉरवर्ड किया था। शुरुआती जांच में पाया गया है कि इसी वजह से उमेश कोल्हे की हत्या की गई।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X