ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र: स्कूली बच्चों में बांटी गई भगवद् गीता, अबू आजमी बोले- कुरान और बाइबल भी बांटो

आजमी आगे बोले, "मैं उस सर्कुलर की निंदा करता हूं। मैंने इसे जारी करने वाले ज्वॉइंट डायरेक्टर को हटाने की मांग की है। वह इसी के साथ माफी भी मांगे।" वीडियो में देखें आखिर क्या बोले सपा नेता।

समाजवादी पार्टी के नेता अबू असीम आजमी। (फोटोः फेसबुक)

महाराष्ट्र में स्कूली बच्चों को भगवद् गीता बांटने पर समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता अबू असीम आजमी भड़के हैं। उन्होंने कहा है कि सिर्फ गीता क्यों बांटी गई। कुरान और बाइबल भी बांटी जाए। उन्होंने आरोप लगाया कि बच्चों को धर्म के नाम पर गुमराह किया जा रहा है। यह सिर्फ और सिर्फ आगामी लोकसभा चुनाव को ध्यान में रख कर किया जा रहा है।

गुरुवार (12 जुलाई) को वह पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा, “ज्वॉइंट डायरेक्टर ने सर्कुलर निकाला है। ए और ए प्लस स्कूलों में सिर्फ गीता को ही क्यों बांटा जा रहा है? कुरान और बाइबल भी बांट दो। दूसरे धर्म की सब किताबें भी बांट दो। जिसको जो पढ़ना होगा, वह पढ़ेगा। मुझे इसे दिक्कत नहीं है, मगर आप उन बच्चों को ये सब सामग्री देकर धर्म के नाम पर गुमराह कर रहे हैं। 2019 की तैयारी कर रहे हैं।”

आजमी आगे बोले, “मैं उस सर्कुलर की निंदा करता हूं। मैंने इसे जारी करने वाले ज्वॉइंट डायरेक्टर को हटाने की मांग की है। वह इसी के साथ माफी भी मांगे।” देखें आखिर क्या बोले सपा नेता-

आजमी ने अपने इस बयान में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का नाम लिए बगैर ही उस पर निशाना साधा। वह इससे पहले कांग्रेस पर भी शाब्दिक बाण चला चुके हैं।

अप्रैल में उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आईएनसी) को धोखेबाज पार्टी बताया था। उन्होंने एक चिट्ठी लिखकर यूपी के पूर्व सीएम और सपा नेता अखिलेश यादव से दरख्वास्त की थी कि वह कर्नाटक के चुनावों में कांग्रेस की ओर से चुनाव प्रचार न करें।

हाल ही में आजमी के बेटे फरहान आजमी ने आरोप लगाया था कि उन्हें, पत्नी, मां और बहन को एक मुकदमेबाज परेशान कर रहा है। फरहान का उसके साथ केस चल रहा है। पूरे घटनाक्रम के दौरान फरहान की बीवी और बॉलीवुड एक्ट्रेस रहीं आयशा टाकिया को वॉट्सऐप पर कुछ धमकियां भी मिली थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App