ताज़ा खबर
 

एमपी: CAA के समर्थन रैली में पथराव से बवाल, भगदड़ के बीच गलियों में बरसाए पत्थर; तनाव को देखते हुए भारी फोर्स तैनात

लिस अधीक्षक (एसपी) पंकज श्रीवास्तव ने बताया कि संशोधित नागरिकता कानून के समर्थन में निकाली जा रही रैली जब कुरैशी मोहल्ला क्षेत्र में पहुंची तो कुछ अज्ञात लोगों ने इस पर पथराव कर दिया। लेकिन मौके पर तैनात पुलिस ने स्थिति पर नियंत्रण पा लिया।

Author भोपाल | Updated: January 9, 2020 12:05 PM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

मध्य प्रदेश के शाजापुर कस्बे में नागरिकता संशोधन कानून सीएए के समर्थन में बुधवार को रैली निकाली गई इसमें कुछ अज्ञात लोगों द्वारा पथराव किए जाने के बाद कस्बे में तनाव पैदा हो गया। पथराव के बाद कस्बे में दुकानदारों ने अपनी दुकानें कुछ देर के लिये बंद कर दी। राष्ट्रीय रक्षा मंच नामक संगठन ने संशोधित नागरिकता कानून के समर्थन में रैली का आयोजन किया था।

पुलिस ने स्थिति पर नियंत्रण कर लिया है: पुलिस अधीक्षक (एसपी) पंकज श्रीवास्तव ने बताया कि संशोधित नागरिकता कानून के समर्थन में निकाली जा रही रैली जब कुरैशी मोहल्ला क्षेत्र में पहुंची तो कुछ अज्ञात लोगों ने इस पर पथराव कर दिया। उन्होंने कहा कि रैली के साथ चल रहे पुलिस बल ने तुरंत स्थिति पर नियंत्रण किया। बता दें कि बुधवार (8 जनवरी) दोपहर 1 बजे सीएए के समर्थन में एक रैली का आयोजन किया गया था। इसमें शहर के लगभग 40 संगठन शामिल थे। हजारों लोग बिल के समर्थन में हाथों में तिरंगा लेकर भारत माता के जयकारे लगा रहे थे।

Hindi News Today, 9 January 2020 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पथराव करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की मांग: श्रीवास्तव ने कहा कि स्थिति नियंत्रण में है और ऐहतियात के तौर पर क्षेत्र में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है। उन्होंने कहा कि फिलहाल कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है। पथराव की घटना की जांच के बाद उचित कानूनी कार्रवाई की जायेगी। इसबीच, राष्ट्रीय रक्षा मंच के अध्यक्ष नारायण प्रसाद पांडे ने कहा कि शांतिपूर्वक चल रही रैली में शामिल लोगों पर पथराव किया गया है। उन्होने पथराव करने वाले बदमाशों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

सीएए के समर्थन में निकाल रही है रैली: बता दें कि देश में नागरिकता सशोधन कानून लागू होने के बाद से ही अलग-अलग जगहों पर हिंसक प्रदर्शन देखने को मिल रहा है। भाजप की केंद्र सरकार ने हिंसक प्रदर्शन का आरोप विपक्ष पर जनता को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए। इस बिल के समर्थन करने और लोगो को इसके बारे में बताने के लिए बीजेपी लगभग सभी राज्यों में रैली निकाल रही है और “डोर टू डोर कैंपेन”  कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 नागरकिता विवादः विश्व भारती यूनिवर्सिटी में BJP सांसद के बने रहे बंधक, VC संग लॉक कर सभागार में छात्रों ने बिठाए रखा 5 घंटे तक
2 JNU Violence पर उमा भारती बोलीं- देश में कुछ विचारक जहरीले सांप की तरह, हम उन्हें ठीक कर देंगे
3 CAA-NPR-NRC Protest: दिल्ली पुलिस ने मार्च कर रहे JNU छात्रों को जनपथ पर रोका
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit