ताज़ा खबर
 

मध्य प्रदेश: सोमवार को लगे रिकॉर्ड 15 लाख टीके, पर मंगलवार को सिर्फ चार हजार; स्वास्थ्य मंत्री का अजीब बयान- ये हमारे टीकाकरण का दिन नहीं था

विश्वास सारंग ने कहा कि 21 जून को सोमवार था, और इस दिन हमने एक विशाल सामूहिक टीकाकरण अभियान का आयोजन किया था। मंगलवार (22 जून) हमारा टीकाकरण दिवस नहीं था।

मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंगी ने कम टीकाकरण को लेकर कहा कि ये टीकाकरण का दिन नहीं था (फोटो- ANI, indian express)

देश के सभी राज्यों में कोरोना टीकाकरण का कार्य जारी है। इस बीच सोमवार को देश भर में रिकॉर्ड वैक्सीन लगाए गए। मध्यप्रदेश में एक दिन में 15 लाख टीके लगे थे लेकिन वहीं मंगलवार को महज चार हजार वैक्सीन लगाए गए। जब इस मामले पर राज्य सरकार के मंत्री से सवाल पूछे गए तो उन्होंने कहा कि मंगलवार हमारे टीकाकरण का दिन नहीं था।

विश्वास सारंग ने कहा कि 21 जून को सोमवार था, और इस दिन हमने एक विशाल सामूहिक टीकाकरण अभियान का आयोजन किया था। मंगलवार (22 जून) हमारा टीकाकरण दिवस नहीं था। आप जिस डेटा के बारे में बात कर रहे हैं (22 जून को एक दिन में 5000 से कम कोविड के टीके लगाए गए) ये केवल निजी अस्पतालों द्वारा किया गया था। उन्होंने कहा कि जब से टीकाकरण अभियान शुरू हुआ है,कोविड 19 का टीका लोगों को सप्ताह में 4 दिन (सोमवार, बुधवार, गुरुवार और शनिवार) दिया जाता है, और शेष 2 दिन पल्स पोलियो और खसरे के टीके लगाए जाते हैं।

इधर राज्य के उज्जैन जिला प्रशासन ने कोविड-19 के खिलाफ शत-प्रतिशत टीकाकरण के लक्ष्य को हासिल करने के लिए एक आदेश जारी कर कहा है कि यदि सरकारी कर्मचारियों ने टीका नहीं लगवाया तो उन्हें अगले माह से वेतन नहीं मिलेगा।

जिला कलेक्टर आशीष सिंह ने मंगलवार को इस आशय का आदेश जारी किया। आदेश में कहा गया है कि 31 जुलाई तक टीकाकरण नहीं कराने वाले सरकारी कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया जाएगा। सिंह ने बताया कि कर्मचारियों को जुलाई का वेतन टीकाकरण का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के बाद ही दिया जाएगा। सिंह ने आदेश की पुष्टि करते हुए बुधवार को ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘ जिले में शत-प्रतिशत टीकाकरण के लक्ष्य को हासिल करने के लिए हम हर संभव प्रयास कर रहे हैं।

इस दिशा में कई कदम उठाए गए हैं।’’ आदेश में जिला कोषागार अधिकारी को जून के वेतन वितरण के साथ टीकाकरण प्रमाण पत्र एकत्र करने और सरकारी कर्मचारियों के टीकाकरण के बारे में जानकारी संकलित करने का निर्देश दिया गया है। जिले के विभिन्न विभागों के प्रमुखों को दैनिक वेतन भोगी एवं संविदा कर्मचारियों के टीकाकरण की जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं।

(भाषा इनपुट के साथ)

Next Stories
1 विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी के क‍िए नुकसान की 80 फीसदी भरपाई बैंकों को हुई- ईडी का दावा
2 संजय निषाद बोले- मुझे बनाया जाए यूपी का उप मुख्यमंत्री, कोई चोट पहुंचाएगा तो खुश नहीं रहने दूंगा
3 आने वाले 100 साल तक कांग्रेस को संभालते रहें, बोले संबित पात्रा, केजरीवाल पर जेडीयू प्रवक्ता का तंज
ये पढ़ा क्या?
X