ताज़ा खबर
 

मध्य प्रदेश के मंत्री की फिसली जुबान, प्रेस कॉन्फ्रेंस में PM, शिवराज और योगी आदित्यनाथ को बताया देश के लिए कलंक

मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि "देश के प्रधानमंत्री, मध्य प्रदेश के ओजस्वी मुख्यमंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, ऐसे लोग समाज के लिए कलंक हैं। सरकार की जिम्मेदारी है कि ऐसे लोगों का क्या करना है।"

tulsi silawat, controversial statement, vikas dubey encounter,मध्य प्रदेश सरकार के मंत्री तुलसी सिलावट। (वीडियो ग्रैब इमेज)

मध्य प्रदेश सरकार के मंत्री तुलसी सिलावट ने अपने एक बयान में पीएम मोदी, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और योगी आदित्यनाथ को देश के लिए कलंक बता दिया है। दरअसल मंत्री तुलसी सिलावट पत्रकारों से बात कर रहे थे। इस दौरान एक पत्रकार ने गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर के बारे में सवाल किया। जिस पर मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि “देश के प्रधानमंत्री, मध्य प्रदेश के ओजस्वी मुख्यमंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, ऐसे लोग समाज के लिए कलंक हैं। सरकार की जिम्मेदारी है कि ऐसे लोगों का क्या करना है।”

तुलसी सिलावट ने विकास दुबे के एनकाउंटर को समाज के लिए प्रेरक भी बता दिया। माना जा रहा है कि मंत्री जी की जुबान फिसली है और उसी के चलते उन्होंने यह बयान दिया है। मंत्री के बयान का यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी देखा जा रहा है।

बता दें कि तुलसी सिलावट इंदौर से सांसद हैं और एमपी सरकार में जल संसाधन मंत्री हैं। मंत्री जी ने जहां अपनी ही सरकार को कलंक बता दिया, वहीं गैंगस्टर विकास दुबे को जी कहकर भी संबोधित किया। हालांकि तुलसी सिलावट ने अब इस मामले पर सफाई देते हुए कहा है कि इस वीडियो को एडिट किया गया है और उन्होंने ऐसा करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की बात भी कही है।

सिलावट ने कहा कि बयान में शब्दों के आगे पीछे होने के कारण कांग्रेस ने साजिश के तहत इसे वायरल किया है। इसमें एडिटिंग कर वहीं हिस्सा जानबूझकर वायरल किया गया। जबकि मैंने दुबे के लिए कलंक शब्द का उपयोग किया था। उन्होंने ये भी कहा कि प्रधानमंत्री और हमारे दोनों मुख्यमंत्री विकास पुरुष हैं, सम्मानीय हैं और मेरे नेता हैं। उनका सम्मान हमेशा सर्वोपरि है।

बता दें कि गैंगस्टर विकास दुबे को पुलिस ने मध्य प्रदेश के उज्जैन स्थित महाकाल मंदिर परिसर से गिरफ्तार किया था। यहां से गिरफ्तार करने के बाद ही उसे पुलिस और एसटीएफ की टीम सड़क मार्ग द्वारा कानपुर लेकर जा रही थी। इसी दौरान रास्ते में पुलिस की गाड़ी पलट गई। तभी गाड़ी में सवार विकास दुबे ने फरार होने की कोशिश की और पुलिस कार्रवाई में मारा गया। हालांकि विकास दुबे के एनकाउंटर पर अब सवाल भी उठ रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X