ताज़ा खबर
 

कमलनाथ के मंत्री का दर्द- अपनी पसंद से किसी अफसर की पोस्टिंग भी नहीं कर सकते, ‘कुछ लोगों ने किचेन कैबिनेट पर कर रखा है कब्जा’

सज्जन सिंह वर्मा ने कहा "मुख्यमंत्री किचन कैबिनेट पर वरिष्ठ अधिकारियों का प्रभुत्व है। मैं इससे पीड़ित हूं, क्योंकि हम किसी की पोस्टिंग करने में सक्षम नहीं हैं। यदि पोस्टिंग अधिकारियों के अनुसार की जाती है, तो इसके नकारात्मक परिणाम होंगे।"

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: February 27, 2020 1:33 PM
पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह और एमपी के मुख्यमंत्री कमलनाथ।

मध्यप्रदेश कांग्रेस में इन दिनों कुछ सही नहीं चल रहा है। हालही में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के मतभेद की खबरें सुर्खियों पर थीं। अब उन्हीं की पार्टी के एक और बेटा ने इशारों-इशारों में उनपर निशाना साधा है। मध्यप्रदेश में पर्यावरण और पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री का नाम लिए बिना कहा कि पीसीसी अध्यक्ष के लिए नौजवानों को मौका देना चाहिए। आप नौजवानों के लिए जगह छोड़ने को तैयार नहीं।

एमपी के पीडब्ल्यूडी मंत्री ने दावा किया है कि नौकरशाह मुख्यमंत्री की किचन कैबिनेट का हिस्सा हैं। सज्जन सिंह वर्मा ने कहा “वरिष्ठ अधिकारियों में सीएम के किचन कैबिनेट (अनौपचारिक सलाहकार) का बोलबाला है। मुझे इससे पीड़ा होती है, क्योंकि हम किसी की पोस्टिंग भी नहीं करवा पा रहे हैं। यदि अधिकारियों के अनुसार पोस्टिंग की जाती है तो इसके नकारात्मक परिणाम होंगे।”

राहुल गांधी ने हाईकोर्ट जज के ट्रांसफर पर जज लोया को किया याद, लोग बोले- ‘अमित शाह का  कीजिए शुक्रिया अदा’

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वर्मा ने कहा कि मैं सच बोलने से नहीं डरता हूं। मैं निश्चित रूप से मुख्यमंत्री को उन कार्यकर्ताओं की जमीनी हकीकत से अवगत कराऊंगा, जिन्होंने राज्य में पार्टी की सरकार बनाने के लिए 15 साल तक संघर्ष किया था। सरकार लोगों के लिए आई है लेकिन कार्यकर्ता के लिए नहीं।

दिल्ली हिंसा: ‘ऊपर से ऑर्डर आ गया रात को, अब सब शांत है’, दो दिन की भारी हिंसा के बाद ऐसे बदले दिल्ली पुलिस के बोल

ये पहली बार नहीं है जब कमलनाथ को अपने ही नेताओं की आलोचना का शिकार होना पड़ा है। इससे पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया से उनके टकराव की खबरें सुर्खियों पर थीं। राज्य में घोषणापत्र वादों को लेकर दोनों के बीच मतभेद देखने को मिला था। हालांकि दोनों के बीच मतभेद की खबरों पर कमलनाथ ने कहा था कि वह सिंधिया से नाराज नहीं हैं। सिंधिया को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में कमलनाथ ने कहा. ‘मैं कभी किसी से नाराज नहीं होता, मैं कभी शिवराज सिंह से नाराज नहीं हुआ तो सिंधिया से क्यों होऊंगा।’

दिल्ली हिंसा से जुड़ी सभी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली में हिंसा फैलाने यूपी से भी आए थे लोग, व्हाट्सअप ग्रुप से शेयर हो रहे थे नफ़रत वाले वीडियो, 18 FIR, 106 गिरफ्तार
2 दिल्ली हाईकोर्ट जज के तबादले का बार एसोसिएशन ने किया विरोध, जानें- कौन हैं जस्टिस मुरलीधर जिनके ट्रांसफर पर कॉलेजियम भी हुआ था दो फाड़
3 राहुल गांधी ने हाईकोर्ट जज के ट्रांसफर पर जज लोया को किया याद, लोग बोले- ‘अमित शाह का कीजिए शुक्रिया अदा’
यह पढ़ा क्या?
X