मप्रः शिवराज के मंत्री ने महिला उम्मीदवार के बालों में फंसा चश्मा निकाला तो मचा बवाल, कांग्रेस ने की कार्रवाई की मांग

भाजपा पर हमला करते हुए कांग्रेस ने आरोप लगाया कि मंत्री ने गलत तरीके से महिला उम्मीदवार को हाथ लगाया और एक तस्वीर और वीडियो अपने आधिकारिक ट्विटर पर साझा की।

Brijendra Pratap Singh
बृजेंद्र प्रताप सिंह एक सभा में भाजपा की महिला उम्मीदवार के बालों में फंसा अपना चश्मा निकालने की कोशिश कर रहे थे। (फोटो सोर्स- सोशल मीडिया/वीडियो स्क्रीनशॉट)

मध्य प्रदेश के सतना जिले के रैगांव विधानसभा उपचुनाव में प्रचार के दौरान कुछ ऐसा हुआ, जिसके बाद शिवराज सरकार के मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह विवाद में पड़ गए।

दरअसल बृजेंद्र प्रताप सिंह एक सभा में भाजपा की महिला उम्मीदवार के बालों में फंसा अपना चश्मा निकालने की कोशिश कर रहे थे, जिसके बाद कांग्रेस ने इस पर सवाल उठाए और इस बात को अशोभनीय करार देते हुए सोमवार को कार्रवाई की मांग की। हालांकि बीजेपी ने कांग्रेस की प्रतिक्रिया को ‘दिमाग की विकृति’ बताया।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में कथित तौर पर राज्य के खनन मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह पहले अपनी जेब में अपना चश्मा खोजते हुए दिखाई दे रहे हैं, इसके बाद पास बैठा एक व्यक्ति इशारा करता है कि मंत्री का चश्मा भाजपा की महिला उम्मीदवार के बालों में फंसा हुआ है। इसके बाद महिला के पीछे बैठे मंत्री उनके बालों से अपना चश्मा निकालते दिखाई दे रहे हैं।

ट्विटर यूजर @kuldeepdwived13 ने इस वीडियो को पोस्ट किया है।

वहीं भाजपा पर हमला करते हुए कांग्रेस ने आरोप लगाया कि मंत्री ने गलत तरीके से महिला उम्मीदवार को हाथ लगाया और एक तस्वीर और वीडियो अपने आधिकारिक ट्विटर पर साझा की।

कांग्रेस द्वारा साझा की गई तस्वीर में मंत्री, बगल में बैठी भाजपा उम्मीदवार के घुटने पर हाथ रखकर दूसरी तरफ बैठे मुख्यमंत्री से झुक कर बात करते दिखाई दे रहे हैं।

प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष अर्चना जायसवाल ने एक बयान में कहा कि भाजपा केवल महिला सशक्तिकरण का दिखावा करती है लेकिन वीडियो और तस्वीर ने वास्तविकता को दिखाया है। खनन मंत्री ने न केवल महिला उम्मीदवार के बालों को छुआ बल्कि अनुचित तरीके से उस पर हाथ रखा।

उन्होंने कहा कि कैडर आधारित अनुशासित पार्टी होने का दावा करने वाली भाजपा ने मंत्री के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की। जायसवाल ने कहा कि ऐसे लोगों को मंत्री जैसा सम्मानजनक पद नहीं मिलना चाहिए।

वहीं दूसरी और भाजपा के प्रदेश सचिव रजनीश अग्रवाल ने कहा कि यह प्रतिक्रिया कांग्रेस नेताओं के गंदे दिमाग को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि यह न केवल विकृत मानसिकता है बल्कि एक दलित महिला उम्मीदवार का अपमान भी है। यह कांग्रेस की परंपरा है।

बता दें कि सतना जिले के रैगांव विधानसभा सीट पर उपचुनाव भाजपा के विधायक जुगल किशोर बागरी के निधन के कारण हो रहा है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट