ताज़ा खबर
 

मध्य प्रदेश: विवादित बयानों के बाद कमलनाथ पर चला चुनाव आयोग का ‘चाबुक’, छिन गया स्टार प्रचारक का दर्जा

कमलनाथ ने कुछ दिनों पहले मध्य प्रदेश सरकार की मंत्री इमरती देवी के खिलाफ भी आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। उन्होंने इमरती देवी को 'आइटम' कहा था और आलोचना के बाद माफी मांगने से भी इनकार कर दिया था।

madhya pradesh, kamalnathकमलनाथ पर चुनाव आयोग का डंडा चला है।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से स्टार प्रचारक का दर्ज छिन गया है। मध्य प्रदेश में उपचुनाव होना है और कमलनाथ इस समय कांग्रेस पार्टी के लिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं। आदर्श आचार संहिता के बार-बार उल्लंघन पर चुनाव आयोग ने कार्रवाई की है। हालांकि, कमलनाथ मध्य प्रदेश उपचुनाव में प्रचार कर सकेंगे, लेकिन खर्चा पार्टी नहीं प्रत्याशी देगा।

चुनाव आयोग ने अपने आदेश में कहा कि कमलनाथ के खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायतें लगातार आ रही थीं। आयोग ने मध्य प्रदेश के सीईओ की रिपोर्ट के आधार पर कमलनाथ को आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी माना। चुनाव आयोग की बार-बार दी गई चेतावनी के बावजूद न चेतने पर कमलनाथ के खिलाफ सख्त एक्शन लेते हुए आदर्श आचार संहिता के अनुच्छेद एक और दो के तहत कार्रवाई की गई है।

बताया जा रहा है कि कमलनाथ के द्वारा राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ ‘माफिया और मिलावट खोर’ वाले बयान को देखते हुए चुनाव आयोग ने यह फैसला लिया है।

कमलनाथ ने कुछ दिनों पहले मध्य प्रदेश सरकार की मंत्री इमरती देवी के खिलाफ भी आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। उन्होंने इमरती देवी को ‘आइटम’ कहा था और आलोचना के बाद माफी मांगने से भी इनकार कर दिया था। कमलनाथ के इस बयान को लेकर काफी हंगामा भी हुआ था और कई राजनेताओं ने उनके इस बयान को लेकर उनपर निशाना साधा था।

चुनाव आयोग के अनुसार, कमलनाथ अब स्टार प्रचारक नहीं रहेंगे। इसके बाद भी अगर वे प्रचार करते हैं तो उनकी सभाओं का खर्च अब उम्मीदवार के खाते से जुड़ेंगे।

आपको बता दें कि इससे पहले निर्वाचन आयोग ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता कैलाश विजयवर्गीय की ‘‘चुन्नू-मुन्नू” वाली टिप्पणी पर नाराजगी जताई है। आयोग ने इसे चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन बताया है। विजयवर्गीय ने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और कमलनाथ के खिलाफ यह टिप्पणी की थी। आयोग ने विजयवर्गीय को आचार संहिता के दौरान सार्वजनिक तौर पर ऐसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं करने की हिदायत दी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 महंगाई बेलगाम, काबू करने को भूटान की मदद ले रही भारत सरकार
2 नामी मैग्जीन की संस्थापक हैं आनंद महिंद्रा की पत्नी, इंदौर में हुई मुलाकात के बाद प्यार की हुई थी शुरुआत, बॉस्टन में पढ़े भी थे साथ; ऐसी है लव स्टोरी
3 168 सुपर कार्स से लेकर क्रिकेट टीम तक के मालिकान हैं मुकेश और नीता अंबानी, ये हैं 5 सबसे महंगे खरीदे हुए सामान और संपत्ति
यह पढ़ा क्या?
X