ताज़ा खबर
 

‘पृथ्वीराज चौहान ने शराब की वजह से खोया राजपाट, कभी दारू मत पीना’, कांग्रेसी विधायक की सलाह

कार्यक्रम के बाद बैजनाथ कुशवाहा के इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और लोग उनके इस बयान की आलोचना करने लगे। विपक्षी पार्टी भाजपा ने भी कांग्रेसी विधायक को निशाने पर ले लिया।

Author भोपाल | Published on: November 16, 2019 9:39 AM
कांग्रेसी विधायक बैजनाथ कुशवाहा। (image source-facebook)

मध्य प्रदेश में एक कांग्रेसी विधायक के बयान को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। दरअसल कांग्रेसी विधायक ने कहा कि पृथ्वीराज चौहान समेत कई महान राजाओं ने शराब के चलते अपना राजपाट खोया था। कांग्रेसी विधायक के इस बयान पर लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया दी है और उन पर महापुरुषों का अपमान करने का आरोप लगा रहे हैं। वहीं मामला बढ़ता देख कांग्रेसी विधायक ने माफी मांग ली है। बता दें कि कांग्रेसी विधायक के बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर खासा वायरल हो रहा है।

खबर के अनुसार, मध्यप्रदेश के सबलगढ़ इलाके से कांग्रेसी विधायक बैजनाथ कुशवाहा बाल दिवस के मौके पर मुरैना जिले के एक निजी स्कूल में बतौर अतिथि पहुंचे थे। इस दौरान बच्चों को संबोधित करते हुए बैजनाथ कुशवाहा ने कहा कि ‘दिल्ली के राजा पृथ्वीराज चौहान, महोबा के राजा परिमल और कन्नौज के राजा जयचंद महान राजा थे, लेकिन इसकी (हाथ से पीने का इशारा करते हुए) वजह से अब उनके किलों और महलों में चमगादड़ उड़ रहे हैं और अब उनका नाम लेने वाला कोई नहीं बचा है।’ इसके बाद कांग्रेसी विधायक ने बच्चों को कभी भी शराब नहीं पीने की नसीहत दी।

कार्यक्रम के बाद बैजनाथ कुशवाहा के इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और लोग उनके इस बयान की आलोचना करने लगे। विपक्षी पार्टी भाजपा ने भी कांग्रेसी विधायक को निशाने पर ले लिया। मामला बढ़ता देख बैजनाथ कुशवाहा ने भी अपने बयान को लेकर खेद जताया और लिखित में इसके लिए माफी मांग ली। कांग्रेसी विधायक बैजनाथ कुशवाहा ने लिखा कि ‘बाल दिवस के मौके पर दिए गए मेरे भाषण में मैंने छात्रों को प्रोत्साहित करने की कोशिश की थी। मैंने छात्रों को महान व्यक्तियों और राजाओं के बारे में बताया लेकिन उन्हें या किसी व्यक्ति, जाति, धर्म या समुदाय को अपमानित करने की मेरी कोई मंशा नहीं थी। यदि मेरे बयान से किसी की भावनाएं आहत हुई हैं तो मैं सभी लोगों से माफी मांगता हूं।’

भाजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा कि ‘कुशवाहा ने बच्चों के सामने दिए अपने भाषण में हमारे इतिहास की महान शख्सियतों को अपमानित किया है। बाहर उनकी माफी के कोई मायने नहीं है और उन्हें स्कूल में जाकर इस पर दुख व्यक्त करना चाहिए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 एमनेस्टी इंटरनेशनल के दफ्तरों पर सीबीआई रेड, कहा- गृह मंत्रालय की शिकायत पर हुई कार्रवाई
2 ‘सच्चे समाज सुधारक थे सावरकर’, जानें और क्या बोले उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू
3 मंदी का असर! बिजली की ऐसी घटी खपत कि बंद हो गए देश के 133 थर्मल पावर स्टेशन!
जस्‍ट नाउ
X