ताज़ा खबर
 

CAA के खिलाफ BJP विधायक ने ही खोला मोर्चा, बोले- देश में गृह युद्ध जैसे हालात, मुस्लिम हमें देखना भी पसंद नहीं कर रहे…

भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा कि 'हमें या तो बीआर अंबेडकर के संविधान का पालन करना चाहिए या फिर हमें उसे फाड़कर फेंक देना चाहिए।'

narayan tripathiभाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी। (एएनआई इमेज)

संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ देश में कई जगह विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। अब भाजपा के ही एक विधायक ने इस कानून के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। मध्य प्रदेश के मैहर से भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी ने संशोधित नागरिकता कानून का विरोध किया है और कहा है कि ‘देश में गृह युद्ध जैसे हालात हैं। मुस्लिम अब हमें देखना भी पसंद नहीं कर रहे हैं।’

संविधान के उल्लंघन का लगाया आरोपः भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा कि ‘हमें या तो बीआर अंबेडकर के संविधान का पालन करना चाहिए या फिर हमें उसे फाड़कर फेंक देना चाहिए। भारत का संविधान कहता है कि हमारे देश में धर्म के आधार पर बंटवारा नहीं किया जा सकता, लेकिन देश में बंटवारा हो रहा है।’

भाजपा विधायक ने कहा कि आज देश में गृह युद्ध जैसे हालात हैं। एक दूसरे की तरफ लोगों ने देखना बंद कर दिया है। हमारे गांव में मुसलमान रहते हैं पहले वे हमारी इज्जत करते थे लेकिन आज वह हमें देखना भी पसंद नहीं कर रहे हैं।

नारायण त्रिपाठी ने कहा कि जिस घर, मोहल्ले या गांव में गृह कलह होगी, वहां सुख शांति संभव नहीं है। हम एकता और अखंडता की बात करते हैं पर धर्म के आधार पर बंटवारा करेंगे तो देश नहीं चल पाएगा।

बताया निजी रायः भाजपा विधायक ने सीएए विरोध को अंतर्रात्मा की आवाज बताया। उन्होंने पार्टी पोरम पर भी अपनी बात रखने की बात कही। हालांकि उन्होंने इसे अपनी निजी राय बताया और कहा कि ‘सीएए वोट की राजनीति के लिए सही है, लेकिन देश के लिए सही नहीं है।’

नारायण त्रिपाठी ने कहा कि ‘बेरोजगारी पर बात करने की जरूरत है ना कि धर्म के आधार पर नागरिकता की। उन्होंने कहा कि मैं गांव से आता हूं और गांव में आज भी आधार कार्ड नहीं बन रहे हैं तो बाकी कागज लोग कहां से लाएंगे। देश को अगर आगे ले जाना है तो इस कानून को लागू नहीं करना चाहिए।’

गौरतलब है कि भाजपा नेतृत्व जहां देश में संशोधित नागरिकता कानून के समर्थन में जगह जगह रैली कर समर्थन जुटाने की कोशिश कर रहा है। वहां भाजपा विधायक के ही इस कानून के खिलाफ मोर्चा खोल देने से पार्टी को कई सवालों को सामना करना पड़ सकता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 CAA, NRC विवाद: शाहीन बाग पहुंचे 2 सीनियर पत्रकारों को नहीं मिली एंट्री तो सोशल मीडिया पर आ रहे ऐसे कमेंट्स
2 मोदी सरकार ने पाकिस्तानी उच्चायुक्त को भेजा समन, हिंदू महिला के शादी के मंडप से अपहरण और जबरन धर्मांतरण पर जतायी नाराजगी
3 वीडियोः CAA, NRC के खिलाफ धरनारत लोगों से बात करने शाहीन बाग पहुंचा था शख्स, अचानक लहराने लगा पिस्तौल; मचा हंगामा
यह पढ़ा क्या?
X