ताज़ा खबर
 

2014 के बाद आधा दर्जन पूर्व केंद्रीय मंत्री और तीन पूर्व सीएम छोड़ चुके हैं कांग्रेस, सिंधिया के बाद कई और युवा नेता कतार में

एक युवा कांग्रेसी नेता ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद पार्टी जाग जाएगी। यदि ऐसा नहीं होता है तो कुछ भी नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि पार्टी को यह महसूस होना चाहिए कि वह क्या करना चाहती हैं।

Edited By Anil Kumar नई दिल्ली | Updated: March 11, 2020 8:50 AM
कई राज्यों में नेतृत्व के नाम पर शून्य की स्थिति बन गई है। (फाइल फोटो)

मध्यप्रदेश में वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद से पार्टी की पतवारविहीन स्थिति एक बार फिर उजागर हो गई है। इसके बाद से पार्टी में एक बार फिर से युवा बनाम बुजुर्ग नेतृत्व की चर्चा तेज हो गई है। पार्टी छोड़ने वाले सिंधिया अकेले नेता नहीं हैं। हिंदी पट्टी के कम से कम तीन और ऐसे नेता हैं जो पार्टी नेतृत्व से नाखुश चल रहे हैं।

ये लोग पार्टी से बाहर अपने लिए अवसर तलाश रहे हैं। इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में पार्टी सूत्रों ने बताया कि पिछले छह वर्षों में कई असफलताओं के बावजूद पार्टी नेतृत्व के ढुलमुल रवैये ने नेताओं में निराशा को बढ़ाया है, और कई युवा नेताओं को अधीर कर दिया है। कई राज्यों में नेतृत्व के नाम पर शून्य की स्थिति बन गई है।

साल 2014 में लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद से करीब आधा दर्जन से अधिक पूर्व केंद्रीय मंत्री और तीन पूर्व मुख्यमंत्री, कई प्रदेशाध्यक्ष पार्टी का दामन छोड़ चुके हैं। एक युवा कांग्रेसी नेता ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद पार्टी जाग जाएगी। यदि ऐसा नहीं होता है तो कुछ भी नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि पार्टी को यह महसूस होना चाहिए कि वह क्या करना चाहती हैं। यह बहुत ही महत्वपूर्ण समय हैं… लेकिन मुझे संदेह हैं कि कुछ भी बदलेगा।

कांग्रेस से तीन पूर्व मुख्यमंत्री उत्तराखंड से विजय बहुगुणा, छत्तीसगढ़ से अजीत जोगी और ओडिशा से गिरधर गमांग पार्टी छोड़ चुके हैं। जिन पूर्व केंद्रीय मंत्रियों ने पार्टी छोड़ी है उनमें तमिलनाडु से जीके वासन, आंध्र प्रदेश से किशोर चंद्र देव, तमिलनाडु से जयंति नटराजन, कर्नाटक से एसएम कृष्णा, यूपी से बेनी प्रसाद, ओडिशा से श्रीकांत जेना और गुजरात से शंकर सिंह वाघेला के नाम शामिल हैं।

पार्टी छोड़ने वालों में जो प्रदेश अध्यक्ष हैं उनमें हरियाणा से अशोक तंवर, यूपी से रीता बहुगुणा जोशी, आंध्र प्रदेश से बी. सत्यनारायण, असम से भुवनेश्वर कलीता, उत्तराखंड से यशपाल आर्य और बिहार से अशोक चौधरी का नाम शामिल है। कांग्रेस छोड़ने वाले अन्य प्रमुख नेताओं में असम में हेमंत बिस्वा सरमा, , अरुणाचल में प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू, त्रिपुरा में सुदीप रॉय बर्मन और मणिपुर के मौजूदा मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह का नाम भी शामिल है।

Next Stories
1 Madhya Pradesh Govt Crisis Updates: भाजपा मुख्यालय में कांग्रेस पर बरसे ज्योतिरादित्य, बोले- सिंधिया को ललकार कर गलती की
2 ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा और मोदी कैबिनेट में सीट देगी बीजेपी? दो साल पहले कहा था- हमारी गर्दन कट जाए, लेकिन झुकेंगे नहीं
3 संबित पात्रा ने राहुल के आलू-सोना वाले बयान का उड़ाया मजाक, गौरव वल्लभ बोले- मेरे पास आपकी तरह कॉमेडी स्किल नहीं, मैं नौटंकी नहीं कर सकता
ये पढ़ा क्या?
X