ताज़ा खबर
 

मध्यप्रदेश ‘गायब’ हो गए 4.5 लाख शौचालय, सामने आया 540 करोड़ रुपये का स्वच्छ शौचालय घोटाला

अधिकारियों का मानना है कि ये 4.5 लाख शौचालय वास्तव में बने ही नहीं थे। सबूत के रूप में जिन शौचालयों की फोटो जमा की गई वह कहीं और के शौचालयों की थी।

जब इन फोटोग्राफ को जीपीएस से टैग करने की कोशिश की तो यह शौचालय ‘गायब’ मिले। (फाइल फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

मध्यप्रदेश में 540 करोड़ रुपये का स्वच्छ शौचालय घोटाला सामने आया है। यहां साल 2012 से 2018 के दौरान राज्यभर में 4.5 लाख शौचालय का निर्माण दिखाया गया। वास्तव में इन शौचालय का निर्माण हुआ ही नहीं था। इन शौचालयों को कागजों में निर्माण दिखा दिया गया।

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार अधिकारियों का मानना है कि ये 4.5 लाख शौचालय वास्तव में बने ही नहीं थे। सबूत के रूप में जिन शौचालयों की फोटो जमा की गई वह कहीं और के शौचालयों की थी। अधिकारियों ने जब इन फोटोग्राफ को जीपीएस से टैग करने की कोशिश की तो यह शौचालय ‘गायब’ मिले।

खबर के अनुसार इस मामले के खुलासे ने साल 2017 में गुना जिले के उस शौचालय दरवाजा घोटाले की यादें ताजा कर दी है जिसमें 42000 शौचालयों के दरवाजों को 10 किलोग्राम कम वजन का बना कर करोड़ों रुपये का घपला किया गया था। राज्य के बैतूल में स्थानीय पंचायत अधिकारियों ने इस बाबत अधिकारियों से शिकायत की थी।

खबर के अनुसार एक अधिकारी ने बताया कि राज्य भर में ऐसे 4.5 लाख शौचालय चिह्नित किए गए हैं जो, वास्तव में मौजूद नहीं है। पंचायत और ग्रामीण विकास के लिए यह आंखें खोलने वाला मामला है। अधिकारी के अनुसार जो शौचालय मौजूद नहीं है उनकी लागत करीब 540 करोड़ रुपये है।

इससे पहले पंचायत की तरफ से की गई शिकायत के बाद हुई जांच में सामने आया कि स्वच्छ लाभार्थी के रूप में गांव के चार लोगों पता ही नहीं था कि उनके नाम पर शौचालय का निर्माण कर दिया गया है। जबकि सरकारी रिकॉर्ड में उनके घर पर ना सिर्फ शौचालय का निर्माण हुआ था बल्कि उस शौचालय की तस्वीर भी जमा कराई गई थी। जांच में सामने आया कि यह फोटोग्राफ पड़ोसी के शौचालय की हैं। इस तरह स्थानीय पंचायत की शिकायत सही पाई गई। इस मामले में एक आरोपी से 7 लाख रुपये रिकवरी के रूप में चुकाने को कहा गया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 इस्राइल को खुफिया सूचना लीक करने के आरोप में पूर्व इंटेलिजेंस चीफ सस्पेंड, आंध्र सरकार ने दर्ज किया देशद्रोह का मामला
2 दिल्ली चुनाव 2020: 24 घंटे बाद आया वोटिंग का आंकड़ा, पूर्व CEC ने कसा तंज, आप बोली- दाल में काला
3 IIT कानपुर के प्रोफेसर की अपील- लोकतंत्र की खातिर जूझ रहे साथियों का साथ दें