ताज़ा खबर
 

अंतरिम निदेशक रहते हुए किया था स्थानांतरण, राव ने अफसर के तबादले पर मांगी माफी

माफीनामे में उन्होंने कहा कि मैं गंभीरता से अपनी गलती महसूस करता हूं और बिना शर्त माफी मांगने के दौरान मैं विशेष रूप से कहता हूं कि मैंने जानबूझकर इस अदालत के आदेश का उल्लंघन नहीं किया क्योंकि मैं सपने में भी इस अदालत के आदेश का उल्लंघन करने की सोच नहीं सकता।

Author February 12, 2019 6:25 AM
सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर राव। (एक्सप्रेस फोटोः ताशी तोबग्याल)

एम नागेश्वर राव ने सीबीआइ का अंतरिम प्रमुख रहते हुए जांच एजंसी के पूर्व संयुक्त निदेशक एके शर्मा का तबादला करने पर सुप्रीम कोर्ट से माफी मांग ली है। राव ने सोमवार को स्वीकार किया कि उन्होंने ‘गलती’ की और इसके लिए माफी मांगते हुए उन्होंने कहा कि शीर्ष अदालत के आदेशों का उल्लंघन करने की उनकी कोई मंशा नहीं थी। राव ने सात फरवरी को उन्हें जारी अवमानना नोटिस के जवाब में एक हलफनामा दायर किया। उन्होंने कहा कि ने शीर्ष अदालत से बिना शर्त माफी मांगते हैं। माफीनामे में उन्होंने कहा कि मैं गंभीरता से अपनी गलती महसूस करता हूं और बिना शर्त माफी मांगने के दौरान मैं विशेष रूप से कहता हूं कि मैंने जानबूझकर इस अदालत के आदेश का उल्लंघन नहीं किया क्योंकि मैं सपने में भी इस अदालत के आदेश का उल्लंघन करने की सोच नहीं सकता। न्यायालय ने उसके आदेश का उल्लंघन करते हुए शर्मा का एजंसी के बाहर तबादला करने के लिए सात फरवरी को सीबीआइ को फटकार लगाई थी और राव को 12 जनवरी को व्यक्तिगत रूप से उसके समक्ष उपस्थित होने को कहा था।

शर्मा बिहार में बालिका आश्रय गृह मामले की जांच कर रहे थे। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने शीर्ष अदालत के पिछले दो आदेशों का उल्लंघन किए जाने को गंभीरता से लेते हुए शर्मा का न्यायालय की पूर्व अनुमति के बगैर 17 जनवरी को सीआरपीएफ में तबादला किए जाने पर राव के खिलाफ अवमानना का नोटिस जारी किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App