ताज़ा खबर
 

प्र‍ियंका पर पोस्‍टर वॉर: कांग्रेस‍ियों ने द‍िखाया दुर्गा के रूप में, तो व‍िरोध‍ियों ने ल‍िखा- आ रही हूं यूपी लूटने

रोड-शो के साथ ही प्रियंका को लेकर बीजेपी और कांग्रेस के बीच 'पोस्टर वॉर' छिड़ गया है। लखनऊ में एक ओर जहां कांग्रेस ने प्रियंका को देवी दुर्गा के रूप में दिखाकर 'आंधी' करार दिया है, तो वहीं बीजेपी ने प्रियंका का पोस्टर लगाकर उन्हें 'लूटेरा' बताया है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के लखनऊ आगमन के साथ ही पोस्टर वॉर छिड़ गया है. (फोटो क्रेडिट/ ANI UP Twitter Handle)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी वाड्रा के राजनीति में आने के आधिकारिक ऐलान के बाद लखनऊ में पहला रोड-शो हो रहा है। लेकिन, रोड-शो के साथ ही प्रियंका को लेकर बीजेपी और कांग्रेस के बीच ‘पोस्टर वॉर’ छिड़ गया है। लखनऊ में एक ओर जहां कांग्रेस ने प्रियंका को देवी दुर्गा के रूप में दिखाकर ‘आंधी’ करार दिया है, तो वहीं बीजेपी ने प्रियंका का पोस्टर लगाकर उन्हें ‘लूटेरा’ बताया है।

रोड-शो को देखते हुए लखनऊ एयरपोर्ट से लेकर पार्टी दफ्तर तक रास्ते में प्रियंका और राहुल गांधी के पोस्टर लगाए गए हैं। इन पोस्टरों में लिखा है, “आ गई बदलाव की आंधी, राहुल संग प्रियंका गांधी।” जबकि, बीजेपी ने पोस्टर लगाए हैं उसमें लिखा है कि “आ रही हैं यूपी लूटने”। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी को पार्टी ने पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया है। प्रदेश में उनके पहले रोड-शो को लेकर खासा उत्साह देखने को मिल रहा है। कार्यकर्ताओं ने लखनऊ के नेहरू भवन को सजाया है। प्रियंका अगले चार दिनों तक इसी दफ्तर में रहेंगी और लोकसभा चुनाव की रणनीति पर काम करेंगी।

प्रियंका गांधी के खिलाफ कानपुर रोड पर बीजेपी द्वारा लगाए गए पोस्ट पर कांग्रेस ने पलटवार किया है। कांग्रेस के नेताओं का कहना है कि बीजेपी का भ्रष्टाचार उजागर हो गया है। चौकीदार चोर है कि बात साबित हो चुकी है। लिहाजा, बीजेपी बौखलाई हुई है। वहीं, बीजेपी के नेता और यूपी सरकार में मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नारा है ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’, वहीं कांग्रेस की सोनिया गांधी का नारा है ‘बेटी लाओ, बेटे को बचाओ’।

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी के खिलाफ बीजेपी का पोस्टर वॉर. (पिक क्रेडिट/Twitter)

प्रियंका गांधी के रोड-शो को लेकर लखनऊ में तैयारियां काफी पुख्ता हैं। सुरक्षा के भी व्यापक इंतजाम किए गए हैं। वहीं, कांग्रेस का कहना है कि उनके एक लाख कार्यकर्ता 17 किलोमीटर के रोडशो में हिस्सा ले रहे हैं। कांग्रेस का दावा है कि प्रियंका गांधी के यूपी में आने से पार्टी ने जो साख गंवाई थी वो वापस लौटेगी। जबकि, बीजेपी का कहना है कि उत्तर प्रदेश की राजनीतिक सेहत पर प्रियंका का कोई प्रभाव नहीं कायम होगा।

हालांकि दोनों तरफ का पोस्टर वॉर ट्वीटर से लेकर लखनऊ शहर में चर्चा का विषय है। प्रियंका गांधी वाड्रा के राजनीति में आगमन के बाद से ही उनके प्रभाव को लेकर राजनीतिक पंडित कयास लगा रहे हैं। दरअसल, पूर्वी उत्तर प्रदेश में ही बीजेपी के दिग्गजों का चुनावी क्षेत्र है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गृहक्षेत्र गोरखपुर भी पूर्वी यूपी में ही आता है। गौरतलब है कि इन क्षेत्र में कांग्रेस को मौजूदगी कमजोर है और पार्टी इसी इलाके में सेंध लगाने के लिए प्रियंका को आगे करके चल रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App