ताज़ा खबर
 

GOC ने चीन को समझाया, अब ले. जनरल करेंगे बात; राजनाथ ने माना- LAC पर अच्छी ख़ासी संख्या में जुटे हैं चीनी सैनिक

सूत्रों ने कहा कि अगली बैठक दोनों पक्षों के लेफ्टिनेंट जनरल स्तर के अधिकारियों के बीच होगी। भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व लेह स्थित XIV कॉर्प्स के कॉर्प्स कमांडर करेंगे।

चीन से बड़ी संख्या में सैनिकों को LAC पर भेजा गया है। (indian express file)

भारत और चीन सेना के बीच लद्दाख में पिछले काफी दिनों से बीच विवाद चल रहा है। स्थिति नियंत्रित करने और विवाद हल करने की उम्मीद से भारत और चीन 6 जून को वरिष्ठ कमांडरों की मौजूदगी में सैन्य वार्ता का एक नया दौर शुरू करेंगे। सेना के सूत्रों ने यह संकेत दिया कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि उन्हें वार्ता के बारे में सूचित किया गया है और चीन से बड़ी संख्या में सैनिकों को LAC पर भेजा गया है।

सूत्रों ने कहा कि अगली बैठक दोनों पक्षों के लेफ्टिनेंट जनरल स्तर के अधिकारियों के बीच होगी। भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व लेह स्थित XIV कॉर्प्स के कॉर्प्स कमांडर करेंगे। राजनाथ सिंह ने ‘News18 TV’ को बताया, “आज की स्थिति में सैन्य वार्ता चल रही है और 6 जून को वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों के स्तर पर वार्ता होने वाली है। भारत कूटनीतिक और सैन्य स्तर की बाचतीच के माध्यम से विवाद हल करने की उम्मीद कर रहा है।” सिंह ने कहा “मैंने आज सेना प्रमुख और अन्य लोगों से बात की और उन्होंने मुझे सूचित किया है। ”

सिंह ने आगे कहा “हाल में जारी विवाद दोनों देशों की सीमाओं को लेकर है जिसमें कि भारत और चीन अपनी-अपनी सीमाओं को लेकर दावा कर रहे हैं। चीनी वहां तक आ गए हैं जिसका वे अपना क्षेत्र होने का दावा करते हैं, जबकि भारत का मानना है कि यह उसका क्षेत्र है।” राजनाथ सिंह ने कहा कि अच्छी खासी संख्या में वहां चीन के लोग भी आ गए हैं लेकिन भारत ने भी अपनी ओर से जो कुछ भी करना चाहिए वह किया है।

सिंह ने कहा कि भारत और चीन के पास समस्या को हल करने के लिए एक तंत्र है और हम उस तंत्र के अनुसार काम कर रहे हैं … अगर बातचीत के जरिए इसे हल किया जा सकता है तो बेहतर है। उन्होंने कहा कि डोकलाम समस्या के समय पर भी भारत और चीन में सैन्य और कूटनीतिक स्तर पर बात हुई थी और समस्या का समाधान किया गया था और अब भी वही रणनीति अपनाई जा रही है।

सूत्रों ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि दोनों सेनाओं के प्रमुख जनरल स्तर के अधिकारियों के बीच मंगलवार को एक बैठक हुई थी, जिसमें लेह स्थित 3 माउंटेन डिवीजन के जीओसी द्वारा भारतीय पक्ष का प्रतिनिधित्व किया गया था। शनिवार को अगली बैठक दोनों पक्षों के लेफ्टिनेंट जनरल स्तर के अधिकारियों के बीच होगी, जिसमें भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व लेह कोर कमांडर द्वारा किया जाएगा।

बता दें पांच मई के बाद से दोनों देशों के सैनिक एलएसी पर चार जगहों पर एक-दूसरे के आमने-सामने हैं। दोनों पक्षों ने इन जगहों पर करीब एक हजार सैनिक तैनात किए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कमजोर पड़ा ‘निसर्ग’, अब 50 किमी की रफ्तार से आगे बढ़ रहा तूफान
2 CAPF कैंटीन्स में 1000 ‘इंपोर्टेड’ प्रोडक्ट्स को हटाने की जिस अफसर ने बनाई थी लिस्ट, उसे ही कर दिया गया शिफ्ट!
3 कोरोना, लॉकडाउन का प्रभावः 8 साल में पहली बार मई में NREGA की रही सर्वाधिक डिमांड, 2.19 करोड़ परिवारों ने लिया लाभ